• Home
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • शहर में चलेंगी 15 सिटी बसें, यात्री जान सकेंगे लोकेशन, ऑनलाइन टिकट की भी व्यवस्था
--Advertisement--

शहर में चलेंगी 15 सिटी बसें, यात्री जान सकेंगे लोकेशन, ऑनलाइन टिकट की भी व्यवस्था

अजमेर | शहर में जल्द ही सिटी बसें चलने लगेंगी। नगर निगम प्रशासन की ओर से प्रयास किए जा रहे हैं कि शहरवासियों को जल्द...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 04:10 AM IST
अजमेर | शहर में जल्द ही सिटी बसें चलने लगेंगी। नगर निगम प्रशासन की ओर से प्रयास किए जा रहे हैं कि शहरवासियों को जल्द ही इसका फायदा मिलने लगे। शहर में कुल 15 बसें चलेंगी, जिनमें से 14 नॉन एसी बसें शहर में तथा एक एसी बस अजमेर से पुष्कर के बीच संचालित होगी। ये बसें 32 सीटर होंगी। सिटी बसों के संचालन के लिए 5 रूट तय किए गए हैं और ऑपरेटर्स को आमंत्रित किया गया है। आगामी 23 मई को निविदाएं खोली जाएंगी।

अजमेर पुष्कर सिटी बस लिमिटेड कंपनी की ओर से इन बसों का संचालन किया जाएगा। अमृत योजना योजना के तहत शहर को यह सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए 10 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया गया है। नगर निगम आयुक्त हिमांशु गुप्ता ने बताया कि सिटी बसें किस रूट पर चलेंगी, यह भी तय कर लिया गया है। शहर को इसका लाभ कितना जल्दी मिल पाता है, यह निविदा खुलने के बाद ही तय होगा।

अजमेर से पुष्कर के बीच एक एसी बस

शहरवासियों को ये मिलेंगी सुविधाएं

महापौर धर्मेंद्र गहलोत के अनुसार शहरवासियों को अत्याधुनिक बसें मिलेंगी। इन बसों को जीपीआरएस ट्रैकिंग सिस्टम से जोड़ा जाएगा। एक एप भी बनाई जाएगी, जिसके जरिए शहरवासी ट्रेन की तरह ही अपनी बस की लोकेशन भी ट्रेस कर सकेंगे। इसके अलावा एप के जरिए ऑनलाइन टिकट बुकिंग भी की जाएगी। स्मार्ट कार्ड और कैश टिकट की सुविधा भी रहेगी। सुरक्षा की दृष्टि से बस में आगे और पीछे सीसीटीवी कैमरे भी लगे होंगे।

6 रूटों पर होगा संचालन







अजमेर शहर में चलेंगी 14 नॉन एसी बसें

मानने होंगे नियम, नहीं तो जुर्माना : आयुक्त हिमांशु गुप्ता के अनुसार अगर नियमों का पालन नहीं किया गया तो बस ऑपरेटर्स पर जुर्माना भी लगाया जाएगा। इसमें बसों के गंदी होने, बसों के निर्धारित रंग, नंबर प्लेट में खामी होने, पेंट वर्क, बस के अंदर टूट-फूट या यात्री सुविधाअों में खामियां, ड्राइवर संबंधी खामियां, लाइसेंस, शराब पीकर वाहन चलाने या तय रूट पर बसों का संचालन नहीं करने पर प्रतिदिन के हिसाब से अलग-अलग जुर्माना राशि तय की गई है। बसों के देरी से चलने, निर्धारित चक्कर पूरे नहीं करने, हादसा होने की स्थिति में भी जुर्माना देना होगा।

आय सिर्फ विज्ञापन से : आयुक्त गुप्ता ने बताया कि कोटा नगर निगम की ओर से बसों का संचालन किया जा रहा है।