• Home
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • राष्ट्रपति की यात्रा के दौरान हटाए गए बेरिकेडिंग नहीं लगे दोबारा
--Advertisement--

राष्ट्रपति की यात्रा के दौरान हटाए गए बेरिकेडिंग नहीं लगे दोबारा

पिछले दिनों राष्ट्रपति की यात्रा के दौरान विशेष ट्रेफिक व्यवस्था के तहत शहर के विभिन्न ट्रेफिक पाइंट से हटाए गए...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 04:15 AM IST
पिछले दिनों राष्ट्रपति की यात्रा के दौरान विशेष ट्रेफिक व्यवस्था के तहत शहर के विभिन्न ट्रेफिक पाइंट से हटाए गए बेरिकेडिंग दुबारा नहीं लगाए जाने से ट्रेफिक व्यवस्था चरमराने लगी है। खास तौर पर सावित्री तिराहे से जवाहर रंगमंच की तरफ के मोड़ पर बेरिकेडिंग डिवाइडर के तौर पर लगाए गए थे। इससे तिराहे पर रोडवेज बसें और सवारी वाहन सुचारू रूप से टर्न लेते थे और हादसों की संभावना कम रहती थी। राष्ट्रपति की यात्रा के दौरान इन्हे हटा कर दूसरी जगह काम में लिया गया था, तीन दिन बाद भी बेरिकेडिंग दोबारा नहीं लगाए गए। इसी तरह शहर के कई ट्रेफिक पाइंट से बेरिकेडिंग हटाए गए हैं।

सावित्री चौराहे पर लगे बेरिकेडिंग हटाने से जाम लगने के साथ ही हादसे होने का डर है।

बस स्टैंड के बाहर 15 से ज्यादा टेम्पो खड़े करने पर रोक

ट्रेफिक पुलिस ने रोडवेज बस स्टेंड के बाहर माता मंदिर के निकट टेम्पो स्टेंड पर 15 से ज्यादा टेम्पो या अन्य वाहन खड़े होने पर रोक लगा दी है। पूर्व में इस स्टेंड पर पचास से ज्यादा टेम्पो और सवारी वाहन बेतरतीब तरीके से खड़े होते थे, इससे यातायात बाधित होता था। ट्रेफिक सीओ प्रीती चौधरी के आदेश से यहां ट्रेफिक पुलिस के सिपाही व्यवस्था बनाने के लिए तैनात किए गए हैं।

रेलवे स्टेशन के बाहर भी टेम्पो व सवारी वाहनों पर सख्ती

रेलवे स्टेशन के सामने यात्री वाहनों का दबाव कम करने की कवायद के तहत यातायात पुलिस द्वारा इस रूट पर चलने वाले टेम्पो, सिटी बसें और अन्य सवारी वाहनों में से आधे वाहनों को दूसरे रूट पर शिफ्ट करने की व्यवस्था लागू कर दी है, लेकिन इस व्यवस्था के बावजूद रेलवे स्टेशन के सामने फिर टेम्पो और अन्य सवारी वाहन बेतरतीब तरीके से खड़े हो रहे हैं, इससे दिन में कई बार जाम की स्थिति बनती है। स्टेशन के सामने ओवर ब्रिज से प्रथम गेट तक एक ही समय में कई वाहन सवारियों के इंतजार में खड़े देखे जा सकते हैं। व्यवस्था में सुधार के लिए ट्रेफिक पुलिस ने अब यहां भी सवारी वाहनों को काबू करने का काम शुरू किया है। इसके तहत सवारी वाहनों पर बीच रास्ते में खड़े होने पर कार्रवाई की जा रही है।