--Advertisement--

सुभाष उद्यान में लगाने को हैदराबाद से मंगाए पौधे, दिल्ली से आई घास

सुभाष उद्यान की सुंदरता और भव्यता देखने का शहरवासियों का सपना अगस्त माह में पूरा होने जा रहा है।

Danik Bhaskar | Jul 18, 2018, 01:08 PM IST

अजमेर. सुभाष उद्यान की सुंदरता और भव्यता देखने का शहरवासियों का सपना अगस्त माह में पूरा होने जा रहा है। यहां चल रहा काम अब अंतिम चरणों में है और प्लांटेशन का काम चल रहा है। इसके लिए आंध्रप्रदेश के हैदराबाद शहर की नर्सरी से पौधे मंगवाए जा रहे हैं। अब तक करीब 515 पौधे यहां पहुंच चुके हैं और करीब 1000 पौधे और आने हैं। ये सभी छायादार पेड़ हैं, अभी इनकी लंबाई 3 मीटर है।

- सुभाष उद्यान करीब डेढ़ साल से शहरवासियों के लिए बंद है। इस उद्यान को हृदय योजना के तहत निखारा जा रहा है, जिस पर करीब 13 करोड़ रुपए खर्च होंगे। प्लांटेशन का काम अमृत योजना के तहत किया जा रहा है, जिस पर एक से डेढ़ करोड़ रुपए खर्च होंगे। यह रुपए भी हृदय योजना के 13 करोड़ रुपए में ही शामिल हैं। पूरे उद्यान में 1500 पौधे लगाए जाएंगे। इसके अलावा उद्यान में सेलेक्शन वन हाइब्रिड ग्रास लगाई जा रही है, जो दिल्ली से मंगवाई गई है। महापौर धर्मेंद्र गहलोत अधिकारियों से प्रतिदिन इसकी प्रगति रिपोर्ट ले रहे हैं। माना जा रहा है कि यह उद्यान 15 अगस्त को शहरवासियों के लिए खोल दिया जाएगा। इसमें एंट्री के लिए 5 रुपए शुल्क रखा जाना भी प्रस्तावित है।

ये प्लांट लगाए जा रहे हैं

- उद्यान में एसेसिया औरिकुलिफॉर्मिस, बहुनिया ब्लेकियाना, जेक्रेंडा मिमोसिफोलिया, पोंगमिया ग्लेबरा, मिमूसोप्स एलेंजी, अजाडीरेक्टा इंडिका, कोनोकार्पस, पुत्रनजीवा रोक्सबर्घी, टर्मेनेलिया मेंटेली, डेलोनिक्स रेजिया, टेबुबिया रोजिया के प्लांट लगाए जा रहे हैं। अलग-अलग संख्या में करीब 515 पौधे अजमेर आ गए हैं और लग भी चुके हैं। इसके अलावा खजूर के 45 पेड़ लगाए गए हैं, ये भी 130 के आसपास लगने हैं।

हैदराबाद की नर्सरी से मंगवाए गए पौधे

- वॉकिंग ट्रैक के किनारे भी होंगे शानदार| वॉकिंग ट्रैक के किनारे भी इनरमी पौधे लगाए गए हैं। यह पौधे एक-दूसरे से गुंथते हुए खूबसूरत नजारा बनाएंगे। साथ ही उद्यान में सेंट्रल, जॉगिंग और पाथ वे ट्रैक को अलग-अलग करेंगे