--Advertisement--

पुष्कर पशु मेला : अब तक 800 से अधिक पशु पहुंचे, पशुपालकों के डेरों से धोरे आबाद

पुष्कर पशु मेले में बिक्री के लिए आने वाले पशुओं की संख्या दिनों दिन बढ़ रही है, जिससे शहर से सटे रेतीले धोरों में...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 08:40 AM IST
Pushkar - pushkar animal fair so far more than 800 animals arrive cattle feeders dump
पुष्कर पशु मेले में बिक्री के लिए आने वाले पशुओं की संख्या दिनों दिन बढ़ रही है, जिससे शहर से सटे रेतीले धोरों में पशुओं के साथ-साथ पशुपालकों की हलचल बढ़ रही है।

दीपावली के दूसरे दिन से शुरू हुए पशु मेले में अब तक 8 सौ से अधिक पशु पहुंच गए हैं। मेले में अब तक आए जानवरों में ऊंटों की संख्या अधिक है। मेला स्टेडियम एवं आस-पास के धोरों में पशुपालक अपने-अपने जानवरों के साथ खुले आसमान के नीचे अपने डेरे डाल रहे हैं। वहीं पशुपालकों की सुविधार्थ पशुपालन विभाग की ओर से पानी, बिजली, चारा आदि की माकूल व्यवस्था की जा रही है। मेले में आने वाले पशुओं का पंजीयन करने के लिए विभाग की ओर से शहर के सभी प्रवेश मार्गों पर शनिवार को 12 चौकियों की स्थापना की गई है।

मेला अधिकारी डॉ. अजय अरोड़ा ने बताया कि रविवार को पशुओं के उपचार के लिए स्थायी पशु चिकित्सालय के अलावा दड़ा क्षेत्र में दो अस्थायी पशु चिकित्सालय खोले जाएंगे तथा चिकित्सकों की तीन मोबाइल टीमें भी गठित की जाएंगी। पशु व पशुपालकों के साथ-साथ अस्थाई दुकानदारों ने मेला क्षेत्र में दुकानें व थड़ियां सजानी शुरू कर दी हैं। मेलार्थियों के मनोरंजन के लिए आकाशीय झूले व सर्कस के पांडाल सज रहे हैं।

आईजी बीजू जोसफ ने किया मेला क्षेत्र का दौरा: आईजी बीजू जॉर्ज जोसफ ने शनिवार की शाम पुष्कर के मेला क्षेत्र का दौरा कर कानून व सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। आईजी ने ब्रह्मा मंदिर, पुष्कर सरोवर के ब्रह्म घाट आदि का भी दौरा कर व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। तीर्थ पुरोहितों ने घाटों पर चोरी की बढ़ती वारदातों से अवगत कराते सुझाव भी दिए। आईजी ने थानाधिकारी नरेश शर्मा को मेले में आने वाले तीर्थ यात्रियों व पशुपालकों की सुरक्षा के माकूल बंदोबस्त करने के दिशा-निर्देश दिए।

पुष्कर पशु मेले में पंजाब से बिक्री के लिए आए घोड़े-घोड़ियां।

मेले में अश्वों के अधिक संख्या में आने की उम्मीद

ग्लैंडर्स की आशंका के कारण पुष्कर मेले में गत वर्ष अश्व वंश के प्रवेश पर लगाई गई रोक इस बार प्रभावी नहीं रहेगी। लिहाजा इस साल मेले में अश्वों के अधिक संख्या में आने की उम्मीद है। मेला शुरू होने के साथ ही अश्वों की आवक भी शुरू हो गई है। राजस्थान के अलावा पंजाब, हरियाणा समेत पड़ोसी राज्यों से अश्व व्यापारी अच्छी नस्ल के घोड़े-घोड़ियां लेकर पुष्कर पहुंच रहे है। मेला स्टेडियम के पीछे घुड़सालें सज रही है। अब तक 2 सौ से अधिक अश्व वंश बिक्री के लिए मेले में पहुंचे हैं।

X
Pushkar - pushkar animal fair so far more than 800 animals arrive cattle feeders dump
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..