ग्राहक मनुहार कर रहे हैं - भाई! रेट ठीक लगा लाे, एक रुपया भी कम करने काे राजी नहीं दुकानदार

Ajmer News - जिला रसद अधिकारी बाेले कालाबाजारी आैर जमाखाेरी करने वालाें के खिलाफ दर्ज हाेगी एफआईआर शहर में घी, तेल, आटा,...

Mar 27, 2020, 06:31 AM IST
Ajmer News - rajasthan news customers are pleading brother appropriate rate shopkeepers not ready to reduce even one rupee
जिला रसद अधिकारी बाेले कालाबाजारी आैर जमाखाेरी करने वालाें के खिलाफ दर्ज हाेगी एफआईआर

शहर में घी, तेल, आटा, शक्कर, चावल, मसाले, मेवे, चाय की पत्ती, फल व सब्जियाें सहित अन्य खाद्य सामग्री की जमकर कालाबाजारी हाे रही है। हाेलसेलर रिटेलर काे महंगा दे रहे हैं, आैर रिटेलर ग्राहकाें से मनमाफिक वसूली कर रहे हैं।

काेराेना वायरस से बचाव के लिए जिला प्रशासन अलर्ट है, कालाबाजारी राेकने के लिए जिला रसद अधिकारी के नेतृत्व में टीमें गठित की गई हैं लेकिन कार्रवाई न के बराबर है। जिला कलेक्टर के आदेश पर किराना स्टाेर व फल-सब्जी के दुकानाें पर रेट लिस्ट लगाई जानी थी, लेकिन गुरुवार काे अधिकतर दुकानाें पर न ताे रेट लिस्ट नहीं नजर आई। आदेश की खुले आम धज्जियां उड़ रही हैं। भास्कर टीम ने शहर के बाजाराें में हाे रही कालाबाजारी काे कैमरे में कैद किया ताे एेसी हकीकत सामने आई जिसे सुनकर आप चकित रह जाएंगे।

कालाबाजारी का वीडियाे वायरल : महंगे भाव सुनकर तंग ग्राहक दुकानदार स‌े बाेला-चायना वाले कीड़े पड़ेंगे...

जमाखाेरी आैर दुकानदार से कालाबाजारी काे लेकर उलझ रहा है। पड़ाव में हुए एक मामले का वीडियाे वायरल हाे रहा है। ग्राहक दुकानदार काे बाेल रहा 450 रुपए के सामान के 1600 रुपए वसूल रहा है, शर्म आनी चाहिए। 270 रुपए के आटे की कट्टे की 320 वसूल रहे हैं। ग्राहक बाेला -मैं गरीबाें में बांटने के लिए ले रहा हूं, एेसे स्थिति में पैसा कमाआेगे ताे कीड़े पड़ेगा, सड़ेगा पैसा। दिहाड़ी मजदूरी करने वाले भूखे मर रहे हैं, आैर तुम दुकानदार कालाबाजारी कर रहे हैं। दुकान पर कुछ लाेग जमा हुए ताे दुकानदार डरने लगा आैर माफी मांगी। फिर ग्राहकाें ने दुकानदार से उठा-बैठक लगवाई आैर कहलवाया कि कालाबाजारी नहीं करूंगा। ग्राहकाें ने यह भी बाेला कि -चायना वाले कीड़े पड़ेंगे।

जमाखाेराें के गाेदामों पर कब होगी कार्रवाई...

पड़ाव, अनाजमंडी सहित आसपास के बाजाराें में कई दुकानदाराें ने स्टाॅक कर रखा है, दुकानदाराें के दूर-दराज बने गाेडाउन में आटे के कट्टे, चावल, तेल-घी आदि भरा पड़ा है। लाेगाें ने इस बारे मेें भी पुलिस प्रशासन काे पुख्ता जानकारी दी है। लाेगाें का कहना है कि संकटकाल में प्रशासन काे जमाखाेराें के गाेदाम खाेलकर रसद सामाग्री गरीबाें में बांट देनी चाहिए। तभी जमाखाेराें काे सबक मिलेगा।

...ताे फिर दर्ज हाेगी एफआईआर


दुकानदार ताे सीधे बाेल रहे हैं-लेना है ताे लाे, मेरा समय खराब मत कराे

शहर में अकेले पड़ाव क्षेत्र में किराना की हाेलसेलर आैर रिटेल मिलाकर 100 से अधिक दुकानें हैं, शहर का सबसे बड़ा बाजार यही है। ज्यादातर बड़े दुकानदाराें ने स्टाॅक कर लिया है आैर छाेटे दुकानदाराें से कीमत ज्यादा वसूल रहे हैं। दाल, चावल, मेवे, चाय की पत्ती सहित अन्य खाद्य सामग्री के ग्राहकाें से ज्यादा दाम वसूले जा रहे हैं। कई दुकानदार ताे सीधे बाेल रहे हैं-लेना है ताे लाे, समय खराब मत कराे। आगे कुछ नहीं मिलेगा, राशन खत्म हाेने वाला है। एेसे ही हालात फल सब्जियाें के भी हैं, फल आैर सब्जी वाले भी लाेगाें की मजबूरी का जमकर फायदा उठा रहे हैं।

पडाव स्थित एक दुकान पर तेल की पीपी के ऊंचे भाव बताने के साथ तीखे तेवर में ग्राहक से बात करता विक्रेता।

5 लीटर तेल की पीपी 483 रेट है, आगे से आ रही है 510 में बेच रहे हैं 550 में

पड़ाव में अपना बाजार के पास एक किराना स्टाेर पर भास्कर टीम द्वारा भेजा गया ग्राहक 5 लीटर तेल की पीपी लेने पहुंचा। दुकानदार ने रेट 550 बताई आैर कहा कि जल्दी ले लाे, वरना अाैर भी ज्यादा महंगी मिलेगी। एक दाे दिन बाद रेट 580 से 600 देनी पड़ेगी। ग्राहक ने कहा कि इसकी रेट ताे 483 रुपए है, ताे दुकानदार बाेला 510 में सामने वाले हाेलसेलर से खरीदी है, घाटा खाकर 483 में कैसे दे दूं। कहीं आैर जाकर ले लाे। इस पर ग्राहक ने कहा कि ठीक रेट लगा लाे, दुकानदार ने मनाही करते हुए कहा कि 550 से एक रुपया भी कम नहीं हाेगा। यह ताे मुनाफाखाेरी की एक बानगीभर है, शहर में हाेलसेलर से लेकर रिटेलर तक संकटकाल में लाेगाें की मजबूरी का जमकर फायदा उठा रहे हैं।

Ajmer News - rajasthan news customers are pleading brother appropriate rate shopkeepers not ready to reduce even one rupee
Ajmer News - rajasthan news customers are pleading brother appropriate rate shopkeepers not ready to reduce even one rupee
X
Ajmer News - rajasthan news customers are pleading brother appropriate rate shopkeepers not ready to reduce even one rupee
Ajmer News - rajasthan news customers are pleading brother appropriate rate shopkeepers not ready to reduce even one rupee
Ajmer News - rajasthan news customers are pleading brother appropriate rate shopkeepers not ready to reduce even one rupee

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना