• Hindi News
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Ajmer News rajasthan news despite the reaction injecting patients in jln hospital kept them in the ward despite the prohibition

रिएक्शन के बावजूद जेएलएन अस्पताल में मरीजाें को लगाते रहे इंजेक्शन, रोक के बावजूद वार्ड में भी रखे

Ajmer News - संभाग के सबसे बड़े जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय में मरीजाें को लगने वाले एंटी-बाॅयाेटिक इंजेक्शन के रिएक्शन करने के...

Bhaskar News Network

Sep 17, 2019, 06:40 AM IST
Ajmer News - rajasthan news despite the reaction injecting patients in jln hospital kept them in the ward despite the prohibition
संभाग के सबसे बड़े जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय में मरीजाें को लगने वाले एंटी-बाॅयाेटिक इंजेक्शन के रिएक्शन करने के मामले सामने आए हैं। वहीं, रिएक्शन की शिकायत मिलने के बावजूद अस्पताल प्रशासन काे इस इंजेक्शन पर फैसला लेने में दाे सप्ताह लग गए।

अस्पताल में कार्यरत नर्सिंग ग्रेड प्रथम की सीनियर नर्सिंग स्टाफ कुमारी परीन ने दाे सप्ताह पूर्व अस्पताल प्रशासन काे लिखित में अवगत करवाया था कि एंटी-बायाेटिक इंजेक्शन अमाेक्सिसिलिन एंड पोटेशियम क्लैवुलनेट से मरीजों को रिएक्शन हाे रहा है। लिखित में शिकायत के बावजूद अस्पताल प्रशासन दाे सप्ताह में तय नहीं कर सका कि आखिर इंजेक्शन काे राेकना है या नहीं। आखिर दाे सप्ताह बाद अाैर शिकायतें मिलीं ताे अानन फानन में सप्लाई राेकने का आदेश निकालना पड़ा।

यह स्पष्ट नहीं : आदेश पर किसके हस्ताक्षर, कितने मरीजों को इंजेक्शन लगाए-क्या हुआ असर

नर्सिंग कुमारी परीन ने अधीक्षक सामूहिक चिकित्सा संघ काे 29 अगस्त काे शिकायत की थी, लेकिन जेएलएन के चिकित्सा अधिकारी प्रभारी, केंद्रीय भंडार मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के यहां से 12 सितंबर काे आदेश जारी किए गए कि बैच का स्टाॅक वार्ड या डीडीसी पर उपलब्ध है ताे उस पर राेक लगाने के साथ ही स्टाॅक की जानकारी दें। बड़ी बात तो यह है कि इस आदेश पर किस अधिकारी ने हस्ताक्षर किए हैं यही स्पष्ट नहीं है। वहीं, इस दाैरान कितने मरीजाें के इंजेक्शन लगाए गए, उनमें कितने मरीजाें पर क्या असर पड़ा, इसकी जानकारी भी किसी के पास नहीं है।

जिम्मेदार अफसरों ने ये दिए जवाब...

जेएलएन अस्पताल मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के केंद्रीय स्टोर से जारी आदेशों की प्रति और अस्पताल में रोक के बावजूद कई जगह अभी भी रखा हुआ है स्टॉक।


इंजेक्शन के मामले की जानकारी नहीं

इस बैच का ये है इंजेक्शन

जेएलएन में इंजेक्शन अमाेक्सिसिलिन एंड पोटेशियम क्लैवुलनेट इंजेक्शन आईपी 1.2 जीएम (506) बैच नंबर.19बी1020 उत्पादन तिथि जनवरी 19, समाप्ति तिथि जून 20 मैक मैक्समेड लाइफ साइंसेस प्राइवेट लिमिटेड लिखा हुअा है। जिस पर राेक लगाने के आदेश जारी किए गए हैं।

पहले भी हाे चुकी है लापरवाही | जेएलएन में पहले भी नियमों के विपरीत घटिया क्वालिटी की काॅटन का उपयोग धड़ल्ले से अस्पताल में हाेता रहा। भास्कर ने इस मामले का खुलासा किया था। जांच के बावजूद कार्रवाई नहीं हुई।

फिर भी कई वार्डों में रखे हैं इंजेक्शन | अादेश जारी हुए दाे दिन बीत गए हैं। अस्पताल में हालात ऐसे हैं कि अभी भी वार्ड व डीडीसी से इंजेक्शन के स्टाॅक काे हटाया नहीं गया है। केवल आदेश जारी करके इतिश्री कर ली गई। दैनिक भास्कर ने शनिवार काे कुछ वार्ड में इंजेक्शन काे लेकर जानकारी ली ताे कई वार्ड में अाम दवाओं के साथ ही रखे मिल गए।


Ajmer News - rajasthan news despite the reaction injecting patients in jln hospital kept them in the ward despite the prohibition
X
Ajmer News - rajasthan news despite the reaction injecting patients in jln hospital kept them in the ward despite the prohibition
Ajmer News - rajasthan news despite the reaction injecting patients in jln hospital kept them in the ward despite the prohibition
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना