• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Pushkar News rajasthan news hotel resort booking for six months in pushkar cancell camel safari and garment factories closed unemployment hit thousands of workers

पुष्कर में होटल, रिसोर्ट की छह महीने तक की बुकिंग कैंसिल, कैमल सफारी व गारमेंट फैक्ट्रियां बंद, हजारों श्रमिकों पर बेरोजगारी की मार

Ajmer News - लॉकडाउन का सीधा असर पुष्कर में पर्यटन व्यवसाय पर पड़ा है। होटल, गेस्टहाउस, रिसोर्ट, धर्मशालाएं, रेस्टोरेंट सभी...

Apr 08, 2020, 09:31 AM IST

लॉकडाउन का सीधा असर पुष्कर में पर्यटन व्यवसाय पर पड़ा है। होटल, गेस्टहाउस, रिसोर्ट, धर्मशालाएं, रेस्टोरेंट सभी सूने पड़े हैं। होटलों में आगामी छह माह तक की बुकिंग कैंसिल हो चुकी है।

आंकलन के अनुसार 21 दिन के लॉकडाउन में अकेले पुष्कर के पर्यटन व्यवसायियों को 100 करोड़ का नुकसान होगा। पुष्कर में करीब 50 साल पूर्व विदेशी सैलानियों की आवक शुरू हुई थी और इनकी संख्या धीरे-धीरे बढ़ती गई। पर्यटकों की बढ़ती आवक के चलते पुष्कर का नाम अंतरराष्ट्रीय मानचित्र में दर्ज हो गया। पुष्कर में प्रतिवर्ष तकरीबन 70 से 80 हजार विदेशी पर्यटक आते हैं। पर्यटन व्यवसाय से जुड़े बड़े-बड़े उद्योगपतियों व कंपनियों ने पुष्कर में निवेश किया है। आलम यह है कि यहां वर्तमान में 30 धर्मशालाओं सहित आधुनिक सुविधायुक्त छोटे-बड़े 250 होटल, गेस्ट हाऊस व रिसोर्ट है। इनमें कई तीन व पांच सितारा होटल व रिसोर्ट भी शामिल हैं। गर्मी के तीन महीने को छोड़कर साल के 9 महीने पुष्कर में पर्यटन सीजन रहता है।

कैमल सफारी बंद, सूने हुए धोरे, पटरी पर लौटने में लगेगा लंबा समय


लॉकडाउन के कारण पुष्कर में कैमल सफारी भी बंद है। शहर से सटे रेतीले धोरे तो सूने हो रखे है, साथ ही इस व्यवसाय से जुड़े करीब एक हजार से अधिक लोग बेरोजगार हो गए हैं। पुष्कर आने वाले अधिकांश देशी-विदेशी पर्यटक रेतीले धोरों में ऊंटों की सवारी का लुत्फ उठाते हंै। इससे कैमल सफारी संचालकों के साथ-साथ इससे जुड़े लोगों को एक महीने में एक करोड़ से अधिक की आमदनी होती है।


गारमेंट फैक्ट्रियां में पसरा सन्नाटा, निर्यातकों के आर्डर अटके : पुष्कर में करीब 60 गारमेंट फैक्ट्रियां हैं। इनमें से 15 बड़ी फैक्ट्रियां है, इनमें से प्रत्येक फैक्ट्री में सौ से तीन सौ श्रमिक सिलाई का काम करते है तथा पुष्कर से प्रतिमाह औसतन 50 करोड़ का गारमेंट विदेशों में निर्यात किया जाता है। लेकिन लॉकडाउन के कारण इन फैक्ट्रियों में सन्नाटा है।


पुष्कर में पर्यटन व्यवसायी पूरी तरह से प्रभावित हुआ है। पर्यटन व्यवसायियों को लाखों-करोड़ों का नुकसान हो रहा है। जिससे व्यवसायियों को आर्थिक मंदी का सामना करना पड़ रहा है। कई लोग बेरोजगार हो गए है।
-जितेंद्र पाराशर, व्यवसायी

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना