• Hindi News
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Ajmer News rajasthan news in the shah jahanni mosque of the dargah the prayer will be half an hour ago the new system will be implemented from november 1

दरगाह की शाहजहांनी मस्जिद में अब आधा घंटा पहले होगी जुमे की नमाज, 1 नवंबर से लागू हाेगी नई व्यवस्था

Ajmer News - दरगाह की ऐतिहासिक शाहजहांनी मस्जिद में अब जुमे की नमाज 1 नवंबर से आधा घंटे पहले होगी। नमाज के वक्त में बदलाव से...

Bhaskar News Network

Oct 22, 2019, 06:46 AM IST
Ajmer News - rajasthan news in the shah jahanni mosque of the dargah the prayer will be half an hour ago the new system will be implemented from november 1
दरगाह की ऐतिहासिक शाहजहांनी मस्जिद में अब जुमे की नमाज 1 नवंबर से आधा घंटे पहले होगी। नमाज के वक्त में बदलाव से जायरीन को अब खिदमत के वक्त के शुरू होने तक जियारत का मौका मिल सकेगा। इस संबंध में सोमवार को नाजिम कार्यालय में हुई बैठक में निर्णय लिया गया।

यह निर्णय दरगाह स्थित शाहजहांनी मस्जिद के पेश इमाम और शहर काजी मौलाना तौसीफ अहमद सिद्दीकी समेत तीनों इमामों व खुद्दाम ए ख्वाजा की राय से लिया गया। अंजुमन सैयदजादगान के सचिव सैयद वाहिद हुसैन अंगाराशाह ने बताया कि अब शाहजहांनी मस्जिद में जुमे की अजान 12.45 बजे पूर्व की भांति ही होगी।

जुमे के खुत्बे के लिए अब 1 बजकर 10 मिनट पर अजान होगी और खुत्बा शुरू हो जाएगा। खुत्बे के बाद नमाज शुरू हो जाएगी और करीब 1.35 बजे तक नमाज मुकम्मल हो जाएगी। इसके बाद से जायरीन दरगाह में जियारत के लिए जा सकेंगे और करीब 3 बजे तक जियारत हो सकेगी।

अकबरी मस्जिद में नमाज के लिए पर्याप्त समय मिलेगा : दरगाह परिसर स्थित अकबरी मस्जिद में पूर्व की भांति ही 2 बज कर 10 मिनट पर जुमे की नमाज होगी। शाहजहांनी मस्जिद और अकबरी मस्जिद की नमाज में भी करीब आधा घंटे का अंतर हो जाएगा। इससे दरगाह परिसर में एक साथ पड़ने वाली भीड़ में कमी आएगी।

पहले यह थी व्यवस्था

पहले खुत्बे के लिए अजान 1 बज कर 35 मिनट पर होती थी। इसके बाद जुमे की नमाज शुरू होती थी और करीब 2 बजे तक नमाज मुकम्मल होती थी। नई व्यवस्था से आधा घंटे का फर्क पड़ जाएगा।

ये रहे बैठक में शामिल

नाजिम कार्यालय में हुई इस महत्वपूर्ण बैठक में दरगाह नाजिम शकील अहमद, अंजुमन सैयद जादगान के सचिव सैयद वाहिद हुसैन अंगाराशाह, अंजुमन सदस्य सैयद ऐनुद्दीन चिश्ती, अंजुमन शेखजादगान के सदर जर्रार अहमद चिश्ती, सचिव शफीकुरर्हमान चिश्ती, जामा मस्जिद शाहजहांनी के पेश इमाम कारी तौसीफ अहमद सिद्दीकी, अकबरी मस्जिद के पेश इमाम हाफिज अब्दुल गफूर और संदल खाना मस्जिद के पेश इमाम हाफिज मोहम्मद रमजान शामिल थे।


अब 4 बजे तक नहीं करना होगा इंतजार

जुमे के दिन दरगाह में दोपहर 12 बजे से शाम करीब 4 बजे तक महिला जायरीन को खासी परेशानी होती है। शाहजहांनी मस्जिद में जुमे की नमाज अदा करने के लिए नमाजियों की सफें करीब 12 बजे से ही लगना शुरू हो जाती हैं। शाहजहांनी मस्जिद परिसर पूरा होने के बाद नमाजियों की सफ दरगाह परिसर में आ जाती है। नमाजियों के बैठ जाने पर जायरीन को जियारत के लिए आने में परेशानी होती है। खासकर महिला जायरीन को तो आने ही नहीं दिया जाता। इधर, कई बार दरगाह के बाहर तक भी नमाज की सफ लग जाती है। जब तक नमाज पूरी होती, तब तक आस्ताना शरीफ दोपहर की खिदमत के लिए बंद कर दिया जाता है। ऐसे में जायरीन को जियारत के लिए करीब 4 बजे तक इंतजार करना पड़ता था।

X
Ajmer News - rajasthan news in the shah jahanni mosque of the dargah the prayer will be half an hour ago the new system will be implemented from november 1
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना