अकीदतमंद घरों में ही अदा करें जोहर की नमाज : शहर काजी

Ajmer News - काेराेना संक्रमण को देखते हुए शहर काजी मौलाना तौसीफ अहमद सिद्दीकी ने जुमे की नमाज के बजाए शुक्रवार को घरों में...

Mar 27, 2020, 06:31 AM IST

काेराेना संक्रमण को देखते हुए शहर काजी मौलाना तौसीफ अहमद सिद्दीकी ने जुमे की नमाज के बजाए शुक्रवार को घरों में ही जोहर की नमाज अदा करने की अपील की है।

शहर काजी मौलाना तौसीफ अहमद सिद्दीकी और शहर मुफ्ती मौलाना बशीरउल कादरी ने गुरुवार को एक संयुक्त अपील जारी की। मौलाना सिद्दीकी और मौलाना कादरी की अपील के वीडियो भी सोशल साइट पर जारी किए गए हैं। दरगाह कमेटी की ओर से भी इस संबंध में ऐलान कराए जा रहे हैं।

शहर काजी मौलाना तौसीफ अहमद सिद्दीकी और शहर मुफ्ती मोहम्मद बशीरउल कादरी द्वारा जारी संयुक्त अपील में कहा गया है कि काेराना संक्रमण के मद्‌देनजर इंसानी बिरादरी होने के नाते हमारे लिए भी जरूरी है कि हम इस सिलसिले में सरकार का साथ देकर लोगों की सुरक्षा को लेकर सहयोग करें। अपील की गई है कि जुमे की बजाय अपने-अपने घरों में जोहर की नमाज अदा करें और अल्लाह से इस महामारी के खात्मे के लिए दुआ करें।

रातीडांग स्थित मस्जिद ए अक्सा के पेश इमाम मौलाना मोहम्मद असलम कासमी ने बताया कि इस क्षेत्र में भी ऐलान करा कर लोगों से अपील की गई है कि जुमे की नमाज की बजाए घरों में जोहर की नमाज अदा करें। मस्जिद में केवल पेश इमाम, मोअज्जिन और मुतवल्ली ही नमाज अदा करेेंगे। बाकी लोग घरों में ही रह कर नमाज अदा करें।

दरगाह : रात 10 बजे बाद घर-घर में गूंजी अजान

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए दरगाह क्षेत्र में गुरुवार को भी सभी घरों की छतों पर से और मस्जिदों से अजान लगाई गई। अजान का यह सिलसिला इशा की नमाज के बाद से शुरू हुआ। अंदरकोट, लौंगिया, घोसी मोहल्ला, खादिम मोहल्ला के साथ ही अन्य क्षेत्रों में लोगों ने घरों की छत पर पहुंच कर अजान देना शुरू कर दिया। पूर्व पार्षद मुख्तार अहमद नवाब, आरिफ हुसैन, इलियास कुरैशी आदि ने बताया कि लोगों ने कोरोना वायरस की वबा से बचाव के लिए अपनी छतों पर अजान देना शुरू कर दिया। बड़े बुजुर्गों के साथ ही नौजवान व बच्चे भी अजान देते नजर आए। माना जा रहा है कि अजान देने का यह सिलसिला शुक्रवार रात तक जारी रह सकता है।

एनपीआर स्थगित करने पर जताया आभार

केंद्र सरकार द्वारा लागू किया गया एनपीआर को स्थगित किए जाने पर एनपीआर, एनआरसी, सीएए विरोध संघर्ष कमेटी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताया है। पिछले कई दिनों से एनपीआर, एनआरसी व सीएए को लेकर केंद्र सरकार का मुस्लिम संगठन विरोध कर रहे थे। संघर्ष कमेटी के शेखजादा जुल्फिकार चिश्ती, सैयद गोहर चिश्ती, काजी मुनव्वर अली, पीर नफीस मियां चिश्ती, अब्दुल नईम खान, सलमान खान, हाजी रईस कुरैशी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार ने देश के हालात को ध्यान में रखते हुए जो निर्णय लिया है, वह महत्वपूर्ण है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि आगे भी केंद्र सरकार आमजन की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए इन जनविरोधी कानूनों को वापस ले लेगी।

मस्जिद में दो-चार लोग ही नमाज अदा कर रहे हैं

कोरोना संक्रमण को देखते हुए शहर के विभिन्न क्षेत्रों में मस्जिदों से घरों में रहकर ही नमाज अदा करने का ऐलान किए जा रहे हैं। लोग अब घर में ही नमाज अदा कर रहे हैं। नौसर स्थित मस्जिद में शुक्रवार को जुमे की नमाज अदा नहीं होगी। लोहा खान पीली खान जामा मस्जिद से गुरुवार को एलान किया गया कि लोग अपने अपने घरों में ही नमाज अदा कर लें, मस्जिद की तरफ नहीं आए। इसी तरह चौरसियावास, राती डांग और नौसर की मस्जिद में मुख्य दरवाजों पर ताले लगा दिए गए हैं। नौसर मस्जिद के पेश इमाम मौलाना चौधरी हिफ्जुर्रहमान अब्दुल्ला ने कहा कि यहां भी केवल मस्जिद में रहने वाले दो चार लोग नमाज अदा कर रहे हैं। बाकी लोग घरों पर ही नमाज अदा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि शुक्रवार को नौसर मस्जिद में जुमे की नमाज नहीं होगी। लिहाजा लोग घरों पर रहकर ही नमाज अदा करें।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना