प्रभात फेरी िनकाली, कीर्तन दरबार में संगत निहाल

Ajmer News - श्री गुरुनानक देव के 550वें प्रकाशाेत्सव के उपलक्ष्य पर रविवार से तीन दिवसीय समारोह शुरू हुए। इस कड़ी में सुबह 5.50...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 06:31 AM IST
Ajmer News - rajasthan news prabhat pheri nikali relevant nihal in kirtan court
श्री गुरुनानक देव के 550वें प्रकाशाेत्सव के उपलक्ष्य पर रविवार से तीन दिवसीय समारोह शुरू हुए। इस कड़ी में सुबह 5.50 बजे प्रभातफेरी निकाली गई जाे िकंग एडवर्ड मेमाेरियल स्टेशन राेड से गांधी भवन, पृथ्वीराज मार्ग, अागरा गेट, साेनी जी नसियां, महावीर सर्किल हाेते हुए गंज गुरुद्वारा सुबह सुबह 8 बजे पहुंची।

प्रभात फेरी में प्रधान हरमंदरसिंह गांधी, सचिव गुरजीत िसंह खुराना, धाेलाभाटा गुरुद्वारा प्रधान अमाेलक सिंह छाबड़ा, अलवर गेट गुरुद्वारा प्रधान दिलबाग सिंह सलूजा, पहाड़गंज गुरुद्वारा प्रधान सूरज सिंह, रामगंज गुरुद्वारा प्रधान सुरेंद्र पाल सिंह, दिलीप सिंह छाबड़ा, बलबीर सिंह बाघा, बहादुर सिंह, परमजीत सिंह छाबड़ा, देवेंद्र सिंह दुअा, कुलदीप िसंह गुलवान सहित सिख समाज के कई लाेग शामिल थे। तीन दिवसीय कीर्तन दरबार में शाम काे गंज गुरुद्वारा हाॅल में पंथ के महान रागी जत्थे भाई काेमल सिंह, निरवैर िसंह, भाई मनिंदर सिंह, भाई जसविंदर सिंह, गुलशन िसंह, हजूरी रागी, गुरुनानक गंज, ज्ञानी गुरविंदर सिंह ने कथा व कीर्तन कर संगत काे निहाल किया। इसके बाद गुरु का अटूट लंगर बरताया गया।

जताेई दरबार में अखंड पाठ साहिब प्रारंभ : नगीना बाग स्थित जताेई दरबार में गुरुनानक देवजी के प्रकाशाेत्सव पर अखंड पाठ प्रारंभ हुअा। सेवाधारी फतनदास ने बताया कि स्वामी दादूराम साहिब नगीना बाग अजमेर स्थित जताेई दरबार में प्रकाशाेत्सव 12 नवंबर तक चलेगा। रविवार सुबह सुखमनी साहिब का पाठ हुअा। सुबह 10 बजे से अखंड पाठ साहब शुरू हुअा। शाम 7 बजे अारती हुई।

श्री गुरुनानक देव की पहली वाणी (जपजी साहेब) : यह रचना गंभीर, पठन, चिंतन अाैर मनन के लिए है। इसमें अध्ययनवाद, सदाचार, यथार्थवाद व दर्शनवाद है। जपजी साहेब सिख धर्म का सार है। इस रचना में ब्रह्म स्वरूप, गुरु महिमा, जीव रचना, जगत पसारा, माया, अहंकार व प्रभु से संबंधित अाध्यात्मिक विचाराें का निरूपण सूत्रात्मक, संयमित व संगठित शैली मेें किया गया है। यह ज्ञान का अद्वितीय भंडार है। जपजी साहिब महान मनाेवैज्ञानिक रचना है, जिसमें जिज्ञासु (भगत) के मनाेभावाें व प्रश्नाें का मनाेवैज्ञानिक विश्लेषण किया गया है, जिसका लक्ष्य सत्य (ब्रह्म) की खाेज है।

(जैसा कि गुरुद्वारा श्री गुरु नानक सभा, गुरु नानक गंज के प्रबंधक रणधीर सिंह छाबड़ ने बताया।)

X
Ajmer News - rajasthan news prabhat pheri nikali relevant nihal in kirtan court
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना