पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आनासागर में डलवाया लाल दवा व जीयो लाइट

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आनासागर में मिली मृत मछलियों के मामले में जिला कलेक्टर आरती डोगरा ने विशेष बैठक बुलाकर अधिकारियों से इस मामले में चर्चा की। बैठक में मछलियों को लेकर जानकारी लेने के साथ ही इसके निराकरण के निर्देश दिए गए हैं। जिला कलेक्टर के आदेशों के बाद नगर निगम ने आनासागर झील में लाल दवा व जीयो लाइट भी डलवाया है। वहीं आनासागर से आ रही दुर्गंध कम हो इसके लिए वहां के सभी फव्वारों को चौबीस घंटे चालू करवा दिए गए हैं। तीसरे दिन गुरुवार को भी नगर निगम की टीम आनासागर से मछलियों को निकालने का काम करती रही।

नगर निगम के स्वास्थ्य अधिकारी रूपा राम चौधरी ने बताया कि जिला कलेक्टर के आदेशों के बाद गुरुवार को भी झील के चारों ओर एक बार फिर पैदल दौरा किया गया। इस दौरान बाडी नदी व महावीर कॉलोनी की दीवार के सहारे कुछ ओर मछलियां मरी हुई नजर आई। इन सभी मछलियों को नाव की मदद से बाहर निकलवाया गया। देर शाम तक एक और ट्रॉली मछलियां निकाली गई। मछलियों के कारण आनासागर झील में दुर्गंध की स्थिति हो गई थी इसके लिए ऑयल डलवाया गया है। पुष्कर रोड पर बने पाथ वे के निकट भी देर शाम मछलियां नजर आई है। इन सभी को हटाने के लिए निर्देश दे दिए गए हैं। मछलियों के मरने के कारणों का भी टीम पता लगा रही है। जिला कलेक्टर ने इस मामले में नगर निगम के अधिकारियों को विशेष दिशा निर्देश जारी किए हैं।

खबरें और भी हैं...