--Advertisement--

अश्लील वीडियो वायरल मामले में युवक-युवती बालिग हैं, वे शादी करना चाहते हैं, इसलिए कोई गंभीर बात नहीं - रीता भार्गव

गुरुवार को अजमेर प्रवास के दौरान रीता भार्गव ने सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत के दौरान यह जानकारी दी।

Dainik Bhaskar

Jul 20, 2018, 11:59 AM IST
Rita bhargav on Video viral issue

अजमेर. राजस्थान राज्य महिला आयोग की सदस्य रीता भार्गव ने सोशल मीडिया पर छात्राओं के अश्लील वीडियो और फोटो वायरल होने के मामले में एसपी से बातचीत करने के बाद बयान दिया है कि वायरल वीडियो और फोटो में युवक-युवती बालिग हैं और अब वे शादी भी करना चाहते हैं। इसलिए यह मामला गंभीर नहीं है, लेकिन अश्लील फोटो और वीडियो वायरल करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

- गुरुवार को अजमेर प्रवास के दौरान रीता भार्गव ने सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत के दौरान यह जानकारी दी। पुलिस अधिकारियों की ओर से दी गई मौखिक जानकारी पर महिला आयोग ने यह बयान देकर कार्रवाई पर पहले तो संतोष जता दिया, मगर जब भार्गव से मीडिया कर्मियों ने सवाल किए तो उन्होंने कहा कि पुलिस की इन्वेस्टिगेशन रिपोर्ट मिलने के बाद ही आयोग किसी नतीजे पर पहुंचेगा। भार्गव ने कहा कि वह संबंधित छात्राओं से मुलाकात कर वास्तविकता की जानकारी लेंगी। उल्लेखनीय है कि खेल के नाम पर छात्राओं के साथ हुए यौन शोषण और उसके अश्लील वीडियो वायरल करने के मामले में भास्कर में खबर प्रकाशित होने के बाद पुलिस ने जांच शुरू की है।

महिला पुलिस कर्मियों से पूछा, कोई परेशान तो नहीं करता, किसी ने नहीं दिया जवाब

- राज्य महिला आयोग की सदस्य रीता भार्गव गुरुवार को अजमेर दौरे पर थीं। इस दौरान उन्होंने पुलिस लाइन मीटिंग हॉल में पुलिस महिला कांस्टेबल के साथ मीटिंग ली। मीटिंग में उन्होंने महिला कांस्टेबल से उनकी कार्यशैली और ड्यूटी के दौरान पुरुष सहकर्मियों के व्यवहार के बारे में जानकारी ली। उनसे पूछा कि विभाग में कार्य करते हुए किसी तरह का उत्पीड़न तो नहीं हो रहा है मगर किसी महिला कांस्टेबल ने उन्हें कोई शिकायत नहीं की।

लंबित प्रकरणों को निपटा रहा है आयोग, 36 हजार में से अब 4 हजार बचे

- सर्किट हाउस में मीडिया कर्मियों से बातचीत में महिला आयोग की सदस्य रीता भार्गव ने कहा कि तीन वर्ष पहले तक आयोग के समक्ष 36 हजार लंबित प्रकरण थे, मगर अब पेंडेंसी 4 हजार रह गई है। भार्गव ने अजमेर में महिला अत्याचार के मामलों में अजमेर पुलिस की कार्यशैली पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने बताया कि एसपी राजेंद्र सिंह चौधरी से चार मामलों पर उनकी चर्चा हुई है, जिसमे अजमेर का शर्मनाक अश्लील ब्लैकमेल छायाचित्र कांड भी शामिल था। इस मामले में पीड़ित अधिकांश लड़कियों की शादी हो चुकी है और वे लड़कियां और उनके परिजन अब मामले में कुछ भी कहने को तैयार नहीं है। दूूसरा मामला पुलिस विभाग से ही जुड़ा था, जिसमें अजमेर में एक पुलिस अफसर पर महिला कांस्टेबल से छेड़छाड़ करने और उस पर शारीरिक संबंध के लिए दबाव बनाने का मामला था। इस मामले में भार्गव ने ज्यादा कुछ नहीं बताया और कहा कि पुलिस की तफ्तीश रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा।

जेल में महिला कैदियों से की मुलाकात, सफाई और अन्य सुविधाओं की जरूरत

- राज्य महिला आयोग महिला आयोग की सदस्य रीता भार्गव ने सेंट्रल जेल में महिला कैदियों के बैरक का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि महिला कैदियों के बैरक में सफाई नहीं थी। वहीं बैरक में पड़े कंबल भी गंदे और गीले थे। उन्होंने बताया कि 28 कैदियों से उन्होंने मुलाकात की, जिनमें कुछ महिला कैदी रोजगार की दृष्टि से कुछ करना चाहती हैं। लिहाजा जेल अधीक्षक को उन्होंने ऐसी महिला कैदियों को चिह्नित कर जेलों में चलाए जा रहे रोजगार प्रशिक्षण कार्यक्रम से जोड़ने के निर्देश दिए हैं।

आयोग को मिलने वाली बीस फीसदी शिकायतें झूठी

- रीता भार्गव ने बताया कि आयोग को मिलने वाली शिकायतों में 20 फीसदी शिकायतें झूठी निकलती है। उन्होंने बताया कि अधिकांश झूठी शिकायतों में डोमेस्टिक वायलेंस, सास बहू के झगड़े शामिल होते हैं। शेष 80 फीसदी केसों में सच्चाई होती है, जिन पर पुलिस की इन्वेस्टिगेशन रिपोर्ट के अध्ययन के बाद ही आयोग पीड़िता को न्याय दिलवाने के लिए कार्रवाई करता है।

X
Rita bhargav on Video viral issue
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..