• Hindi News
  • Rajasthan
  • Alwar
  • यह बर्फ या नमक नहीं ये पत्थरों की कटाई से निकली स्लरी है, जिससे बनते हैं फेस पाउडर और जूते के सोल भी
--Advertisement--

यह बर्फ या नमक नहीं ये पत्थरों की कटाई से निकली स्लरी है, जिससे बनते हैं फेस पाउडर और जूते के सोल भी

Alwar News - अलवर| शहर के समीपवर्ती मत्स्य आैद्योगिक क्षेत्र के खाली प्लॉटों में सड़क किनारे दूर तक बिछी यह सफेद चादर बर्फ या...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 03:30 AM IST
यह बर्फ या नमक नहीं ये पत्थरों की कटाई से निकली स्लरी है, जिससे बनते हैं फेस पाउडर और जूते के सोल भी
अलवर| शहर के समीपवर्ती मत्स्य आैद्योगिक क्षेत्र के खाली प्लॉटों में सड़क किनारे दूर तक बिछी यह सफेद चादर बर्फ या नमक के ढेर नहीं हैं। बल्कि यहां की गैंगसा यूनिट्स में पत्थरों की पानी से कटाई के दौरान निकली महीन स्लरी है। एमआईए में लगी कई छोटी फैक्ट्रियां इस स्लरी को पहले सुखाते हैं। फिर इसे वापस पिसाई कर देश भर में लगे ब्यूटी पाउडर, साबुन, जूतों के रबर सोल, वाशिंग पाउडर आदि बनाने वाले बड़े प्लांट्स में भेज दिया जाता है। अलवर में यह उद्योग बड़े पैमाने पर चल रहा है। -फोटो : देवेंद्र शर्मा

X
यह बर्फ या नमक नहीं ये पत्थरों की कटाई से निकली स्लरी है, जिससे बनते हैं फेस पाउडर और जूते के सोल भी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..