--Advertisement--

राजकोषीय घाटा सालाना लक्ष्य का 114% हुआ

सरकार का राजकोषीय घाटा जनवरी तक साल के लक्ष्य के 114% तक पहुंच गया है। घाटे का संशोधित अनुमान 5.95 लाख करोड़ है, जबकि जनवरी...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 05:35 AM IST
सरकार का राजकोषीय घाटा जनवरी तक साल के लक्ष्य के 114% तक पहुंच गया है। घाटे का संशोधित अनुमान 5.95 लाख करोड़ है, जबकि जनवरी तक यह 6.77 लाख करोड़ हो गया। 4.80 लाख करोड़ रु. का राजस्व घाटा संशोधित बजट अनुमान का 76.5% है। अप्रैल 2017 से जनवरी 2018 तक सरकार को 11,63,386 करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त हुआ है। यह पूरे साल के संशोधित अनुमान का 71.7% है। टैक्स रेवेन्यू से 9,71,323 करोड़ आए हैं, जबकि पूरे साल में 12.7 लाख करोड़ आने का अनुमान है। नॉन-टैक्स रेवेन्यू से 1,24,364 करोड़, लोन रिकवरी से 12,156 करोड़ और विनिवेश से 55,543 करोड़ रुपए आए हैं। इन 10 महीने में सरकार का खर्च 18,39,945 करोड़ रहा है। यह साल के संशोधित अनुमान का 83% है। आमदनी की तुलना में खर्च 6,76,559 करोड़ ज्यादा है। ब्याज भुगतान में 4,14,238 करोड़ और सब्सिडी में 2,18,581 करोड़ खर्च हुए हैं।