• Home
  • Rajasthan News
  • Alwar News
  • बाघों की मौत पर केंद्रीय वनमंत्री ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा
--Advertisement--

बाघों की मौत पर केंद्रीय वनमंत्री ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा

जयपुर | मुकंदरा में बाघ ले जाने के राज्य सरकार के फैसले पर नेशनल टाइगर कंजर्वेशन अथॉरिटी (एनटीसीए) की ओर से लगाई रोक...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 06:10 AM IST
जयपुर | मुकंदरा में बाघ ले जाने के राज्य सरकार के फैसले पर नेशनल टाइगर कंजर्वेशन अथॉरिटी (एनटीसीए) की ओर से लगाई रोक के बाद अब केंद्र में वन-पर्यावरण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को पत्र लिखकर सरिस्का-रणथंभौर के हालात पर चिंता जताई है। हर्षवर्धन ने कहा है कि सरिस्का में एक बाघ की मौत हो गई तो दूसरा मिल नहीं रहा है। वहीं रणथंभौर में भी मिस-हैंडलिंग की वजह से बाघ की रेस्क्यू करने के दौरान मौत हो गई। वहीं पत्र में कहा गया है कि मिनिस्ट्री की ओर से बाघों को लेकर बताए जाने वाले निरीक्षण भी लागू नहीं हो रहे हैं। सरिस्का के हालात काफी खराब हो गए हैं। मुकंदरा में बाघ भेजने से पहले एनटीसीए ने जानकारी मांगी है, जो देनी होगी।

झालाना की जमकर तारीफ: केंद्रीय वनमंत्री डॉ. हर्षवर्धन राज्य वनमंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर के कहने पर शनिवार शाम झालाना जंगल पहुंचे। हर्षवर्धन की खुशी तब बढ़ गई, जब शहर के नजदीक ऐसे घने जंगल में उन्होंने दो पैंथर को देखा। इस मौके पर उन्होंने राज्यमंत्री खींवसर की जमकर तारीफ करते हुए इस जंगल में किए जा रहे उनके प्रयासों को सराहा।