--Advertisement--

दो हफ्ते तक चुनाव प्रचार की थकान से चूर प्रत्याशियों ने मतदान के बाद किया आराम

Alwar News - बानसूर से कांग्रेस प्रत्याशी अलवर में अपने परिवार से चर्चा करते हुए। चुनाव में बच्चों के लिए वक्त नहीं मिल...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 03:51 AM IST
Khairthal News - for the last two weeks the chaotic candidates were relaxed after the voting
बानसूर से कांग्रेस प्रत्याशी अलवर में अपने परिवार से चर्चा करते हुए।

चुनाव में बच्चों के लिए वक्त नहीं मिल पाया, रावत ने नाश्ता बनाकर िखलाया

किशनगढ़बास विधायक रामहेत यादव ने भी घर पर आराम किया, कार्यकर्ताओं से मतदान पर चर्चा की

भास्कर न्यूज | बानसूर

बानसूर विधानसभा चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न के बाद कांग्रेस प्रत्याशी शकुंतला रावत अलवर स्थित कर्मचारी कॉलोनी बी-107 में पहुंची। रात्रि को घर पर विश्राम किया। चुनाव के बाद बच्चों से मिली बातचीत की और शनिवार की सुबह बच्चों के लिए नाश्ता बनाकर उनको खिलाया। इसके बाद कार्यकर्ताओं से मिली बूथों की जानकारी ली और चुनाव गणित के बारे में चर्चा की। जिसके बाद रावत बानसूर के लिए रवाना हुई। जहां पहुंचकर उन्होंने कार्यकर्ताओं से मुलाकात की।

इधर भाजपा प्रत्याशी महेंद्र यादव ने शनिवार को दिन की शुरूआत में चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न होने पर कार्यकर्ताओं को धन्यवाद दिया। यादव अलवर बाईपास रोड स्थित दुर्गा मैरिज गार्डन स्थित चुनाव कार्यालय पर कार्यकर्ताओं से मिले। इस दौरान कार्यकर्ताओं के साथ चुनाव की चर्चा की।

उधर निर्दलीय प्रत्याशी देवी सिंह शेखावत ने कार्यकर्ताओं से मुलाकात की और चुनाव गणित के बारे में कार्यकर्ताओं से विस्तार से चर्चा की।

प्रत्याशियों का कार्यकर्ताओं के साथ नि‍कला दिनभर: खेडली में वि‍धानसभा चुनाव के बाद कठूमर के प्रत्याशियों का पूरा दि‍न कार्यकर्ताओं और शुभचिंतकों के साथ नि‍कला। कांग्रेस प्रत्याशी बाबूलाल बैरवा मतदान के दूसरे दि‍न सुबह लेट उठे। उसके बाद स्नान ध्यान से निवृत होने के बाद कार्यकर्ताओं से बातचीत की। बातचीत का सिलसिला पूरे दि‍न चलता रहा। इस दौरान चुनाव में लगे गाड़ी, टैंट आदि के हिसाब देखकर भुगतान भी कि‍या।

इधर, कांग्रेस से बागी रहे उम्‍मीदवार रमेश खींची भी चुनावों के दिनों की अपेक्षा आराम से उठे। सुबह से ही उनके आवास पर लोगों का आना-जाना शुरू हो गया। जो कि‍ देर शाम तक चलता रहा। खींची ने इस दौरान अपने क्षेत्र में हुए मतदान के बारे में जानकारी ली।

आमजन अब प्रत्याशियों की हार-जीत के लगा रहे है कयास: किशनगढ़बास विधानसभा चुनावों में अपनी-अपनी किस्मत आजमाने के लिए उतरे प्रत्याशियों ने शुक्रवार काे चुनाव के बाद राहत की सांस ली । सभी प्रत्याशियों ने अपने समर्थकों व परिवारजनों के साथ समय बिताया तथा चुनावी परिणामों के बारे में राय-शुमारी की । इधर कस्बे के बाजार सहित आसपास के ग्रामीण अंचल में भी चुनावी हार-जीत के लोग कयास लगाते नजर आए। बहरहाल सभी काे 11 दिसंबर का बेसब्री से इंतजार है ।

मतदान आंकड़ों के जोड़, भाग व गुणा से नतीजे फलाने में निकला लोगों का दिन

पिनान| विधानसभा चुनाव में मतदान को लेकर सात दिसंबर तक जहां लोग अपने-अपने प्रत्याशियों के समर्थन में वोट जुटाने में मशगूल थे। लेकिन अब चुनाव बाद शनिवार को ग्रामीण अंचलों के लोग अपने-अपने प्रत्याशियों की हार-जीत के आंकलन में जोड़, भाग व गुणा लगाते नजर आए। कहीं जातिगत से, तो कहीं वोट बैंक के अनुमानों से प्रत्याशियों की हार-जीत का कयास लगाते रहे। त्रिकोणीय मुकाबले के चुनाव में लोगों ने स्वतंत्र रहकर मतदान का प्रयोग किया। अब जातिगत व उम्मीदवारों के संबंध, जनसंपर्क, विकास आदि पहलुओं के आधार पर लोग उम्मीदवारों की हार-जीत के अनुमान में जुट गए हैं। सभी स्थानों पर अब बस प्रत्याशियों की हार-जीत की बातों पर चर्चाएं चल रही है। समर्थक अपने-अपने प्रत्याशियों की जीत सुनिश्चित कर रहे है।

वोटिंग के आंकड़े देख हर प्रत्याशी ने किया जीत का दावा

थानागाजी विधानसभा चुनाव में मतदान की प्रक्रिया पूरी होने के बाद शनिवार को प्रत्याशी अपने कार्यालय में हर जीत का मंथन करते नजर आए। कांग्रेस के सुनील शर्मा, बीजेपी के रोहिताश्व शर्मा, निर्दलीय कांती मीणा के कार्यकर्ता अपने प्रत्याशियों के साथ हार जीत पर मंथन करते नजर आए। कांती मीणा व डॉ रोहिताश शर्मा ने मतदान के आंकडों के आधार पर अपनी जीत का दावा भी किया। कांती मीणा अपने समर्थकों के साथ माधोसिंह बाबा के धाम पर चुनावी जीत पर विचार विमर्श करते दिखाई दिए।

किशनगढ़बास क्षेत्र में 8 बूथों पर हुआ 90 फीसदी से ज्यादा मतदान

किशनगढ़बास| विधानसभा क्षेत्र में शुक्रवार को हुए मतदान में गांव जखोपुर में सबसे अधिक 94.46 प्रतिशत मतदान हुआ। खैरथल के भैरूवाला बूथ पर सबसे कम 56.37 प्रतिशत मतदान हुआ। विधानसभा क्षेत्र के 252 बूथो में से 8 बूथो पर 90 प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ। जिसमें हाजीपुर में 90.84, भामूवास 91.58, डालावास में 91.55, ओदरा 140 बूथ पर 90.15, जाटका 93.98, नूरनगर 147 बूथ पर 91.25, घोडाथाना 90.52 प्रतिशत मतदान हुआ।

किशनगढ़बास. बसपा प्रत्याशी दीपचंद खैरिया कार्यकर्ताओं से चर्चा करते हुए।

थानागाजी. समर्थकों के साथ नाश्ता करते निर्दलीय प्रत्याशी कांती मीणा।

तिजारा क्षेत्र की महिलाएं वोट डालने में रही सबसे आगे, अलवर शहर की पिछड़ गईं

भास्कर संवाददाता | अलवर

जिले में 10 विधानसभा सीटों के लिए हुए मतदान में तिजारा विधानसभा क्षेत्र की महिलाएं वोट डालने में सबसे आगे रही। यहां 1 लाख 8 हजार 436 महिला मतदाताओं में से 84 हजार 537 महिला मतदाताओं ने वोट डाले। यह अलवर जिले का महिलाओं में सबसे ज्यादा 80.64 फीसदी मतदान है। वहीं, अलवर शहर विधानसभा क्षेत्र की महिलाएं मतदान में फिसड्डी रही हैं। यहां 1 लाख 17 हजार 672 में से केवल 77 हजार 842 ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। यानी शहर में 66.15 फीसदी महिलाएं ही वोट डालने पहुंची। थानागाजी क्षेत्र की महिलाएं वोट डालने में दूसरे स्थान पर रही हैं। यहां 80.21 फीसदी महिलाओं ने मताधिकार का प्रयोग किया।.

10 विधानसभा क्षेत्रों में 39 टेंडर वोट डाले

जिले की 10 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान के दौरान 39 मतदाताओं ने टेंडर वोट का प्रयोग किया। बानसूर में सर्वाधिक 15 टेंडर वोट डाले गए जबकि बहरोड़, राजगढ़ एवं अलवर ग्रामीण में एक भी टेंडर वोट नहीं डाला गया। वहीं तिजारा में 4, किशनगढ़बास में 2, मुंडावर में 2, थानागाजी में 10, अलवर शहर में 5 और कठूमर में 1 मतदाता ने टेंडर वोट डाला।

किशनगढ़बास. चुनाव के बाद समर्थकाें से राय शुमारी करते रामहेत यादव।

विधानसभा क्षेत्र कुल महिला मतदाता मतदान प्रतिशत

तिजारा 104836 84537 80.64

किशनगढ़बास 108884 83093 76.31

मुंडावर 102381 73994 72.27

बहरोड़ 101356 76047 75.03

बानसूर 103388 79209 76.61

थानागाजी 91104 73072 80.21

अलवर ग्रामीण 107812 79628 73.86

अलवर शहर 117672 77824 66.15

राजगढ़-लक्ष्मणगढ़ 111460 78500 70.43

कठूमर 95036 67622 71.15

19 में से मात्र 3 किन्नरों ने डाले वोट

जिले में किन्नरों का मतदान बेहद कम रहा है। दस विधानसभा सीटों पर हुए मतदान में केवल 15.79 फीसदी किन्नर ही वोट डालने पहुंचे। किशनगढ़बास में कुल दो किन्नर मतदाताओं में से एक ने भी मताधिकार का प्रयोग नहीं किया। वहीं थानागाजी में 12 में से एक किन्नर ने वोट डाला। इसी प्रकार अलवर शहर में 5 में से 2 किन्नर ही मतदान करने पहुंचे। अन्य 7 विधानसभा क्षेत्रों में एक भी किन्नर मतदाता नहीं है।

15 लाख मतदाताओं ने वोट डालने के लिए दिखाई निर्वाचन विभाग की पर्ची

दस विधानसभा क्षेत्रों में मतदान के दौरान सबसे ज्यादा 15 लाख 1 हजार 375 मतदाताओं ने निर्वाचन विभाग की ओर से घर-घर पहुंचाई गई फोटो युक्त पर्ची से अपनी पहचान साबित की। इसके अलावा एक लाख 682 मतदाताओं ने मतदाता पहचान पत्र दिखाए जबकि 47 हजार 332 मतदाताओं ने निर्वाचन विभाग की ओर से अधिकृत अन्य दस्तावेज दिखाकर वोट डाले।

X
Khairthal News - for the last two weeks the chaotic candidates were relaxed after the voting
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..