अलवर

--Advertisement--

पानी के लिए महिलाओं ने मटके फोड़े

भिवाड़ी| भिवाड़ी गांव के वार्ड 31 में कमजोर तबके के मकानों में पेयजल किल्लत को लेकर बड़ी संख्या में महिलाएं सोमवार को...

Danik Bhaskar

Apr 17, 2018, 03:30 AM IST
भिवाड़ी| भिवाड़ी गांव के वार्ड 31 में कमजोर तबके के मकानों में पेयजल किल्लत को लेकर बड़ी संख्या में महिलाएं सोमवार को जलदाय विभाग पहुंची और अधिशासी अभियंता के सामने खाली मटके फोड़कर विरोध प्रदर्शन किया। उनके साथ आईं पार्षद सीमा जाटव ने जलापूर्ति में भेदभाव का आरोप लगाया। अधिशासी अभियंता ने 20 अप्रैल तक उनकी समस्या के समाधान का भरोसा दिलाया, तब जाकर वे शांत हुईं। गौरतलब है कि वार्ड के बड़े हिस्से में करीब 20 दिन से पानी नहीं आ रहा। सुबह वार्ड पार्षद सीमा जाटव के नेतृत्व में जलदाय विभाग पहुंची महिलाओं ने पहले तो अधिकारियों की बेरुखी को लेकर अधिशासी अभियंता को खरी खोटी सुनाई, उसके बाद हाथों में लगे खाली मटके उनके कक्ष में ही फोड़ दिए। पार्षद जाटव ने कहा कि बस्ती में कमजोर तबके के लोग रहते हैं कोई उनकी नहीं सुन रहा। कई सालों से समस्या बनी हुई हैं। गर्मियों में हालात खराब हो जाते हैं। बस्ती के धर्मवीर जाटव का कहना था कि पानी की समस्या का जब तक हल नहीं हो जाता तब तक वो चुप नहीं बैठने वाले। यहां का भूजल पीने योग्य भी नहीं रहा फिर भी यहां आरओ लगाने पर कोई गौर नहीं कर रहा। जलदाय विभाग से महिलाएं नगरपरिषद पहुंच गई। यहां आयुक्त के लोकायुक्त की जनसुनवाई में जाने की जानकारी मिलने पर वे यूआईटी के सामुदायिक भवन पहुंच गई। लोकायुक्त के सचिव को महिलाओं ने अपनी समस्या बताई। लोकायुक्त ने उपखण्ड अधिकारी व नगरपरिषद सभापति को निराकरण के निर्देश दिए।

भिवाड़ी. जलदाय विभाग के कार्यालय में रोष प्रकट करती महिलाएं।

20 अप्रैल तक का मांगा समय

अधिशासी अभियंता आरके यादव ने महिलाओं को शांत करते हुए 20 अप्रैल तक समस्या के निराकरण का भरोसा दिलाया। उनका कहना था कि बस्ती के साथ कोई भेदभाव नहीं किया जा रहा, उपलब्ध संसाधनों के हिसाब से पर्याप्त आपूर्ति करने का प्रयास कर रहे हैं। फिर भी यदि समस्या है तो दो बोरिंग से आपूर्ति कराएंगे। स्थाई समाधान अमृत योजना में हो जाएगा। तब तक वैकल्पिक व्यवस्था कर रहे हैं।

Click to listen..