Hindi News »Rajasthan »Alwar» ततारपुर, अलवर और मस्ताबाद गोशाला से आएंगी नंदी की बारातें

ततारपुर, अलवर और मस्ताबाद गोशाला से आएंगी नंदी की बारातें

गोवंश संवर्धन के पुरातन स्वरूप काे पाने के उद्देश्य से 31 मार्च से रामगढ़ में चले गो जप महायज्ञ की पूर्णाहुति के बाद...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 05:45 AM IST

ततारपुर, अलवर और मस्ताबाद गोशाला से आएंगी नंदी की बारातें
गोवंश संवर्धन के पुरातन स्वरूप काे पाने के उद्देश्य से 31 मार्च से रामगढ़ में चले गो जप महायज्ञ की पूर्णाहुति के बाद मंगलवार काे गाेनंदी विवाह का अायाेजन होगा। इस अलौकिक विवाह के लिए अलवर शहर सहित रामगढ़ क्षेत्र के 51 धर्मप्रेमी जाेड़े कामधेनु के हाथ पीले करेंगे। सामूहिक गाेनंदी विवाह में ततारपुर, अलवर व मस्ताबाद स्थित सनातन गोशाला से अलग-अलग नंदी की बारातें रामगढ़ कस्बा पहुंचेंगी। कथा वाचक पं.विष्णुदत्त शर्मा ने बताया कि मंगलवार सुबह सात बजे से गाेनंदी विवाह कार्यक्रम का शुभारंभ हाेगा। इसमें कामधेनु काे बेटी मानकर कन्यादान करने वाले 51 जाेड़ों काे 21 प्रकार से स्नान कराया जाकर शुद्धि की जाएगी। इसके बाद कन्यादान तक उपवास पर रहे सभी जाेड़े गाेधूली बेला में कामधेनु के पाणिग्रहण संस्कार में शामिल हाेंगे व कन्यादान करेंगे। अंत में बारातियों काे सामूहिक भाेजन कराया जाएगा। कार्यक्रम संयोजक नवल शर्मा, निर्मल सूरा व सरपंच देवेंद्र दत्ता के अनुसार सोमवार काे भागवत कथा के बाद फूलचंद सैनी, नवल किशोर, मंगल प्रजापति, रामखिलाड़ी, मामराज प्रजापति व बाबूलाल प्रजापति के घर में कामधेनु विवाह के लिए चाक व भात अादि की रश्में पूरी की गई। इसके लिए बैंडबाजों के साथ महिलाएं मुख्य बाजारों से हाेकर चाक पूजन के लिए निकली। धार्मिक अायाेजन की सफलता के लिए मुबारिकपुर निवासी योगेश शर्मा, सूर्य स्वरूप शर्मा व कस्बा निवासी नेमीचंद हलवाई आदि ने विशेष योगदान दिया गया।

रामगढ़. सोमवार को गोनंदी विवाह से पूर्व कुंभकार के घर चाक पूजन करती महिलाएं।

देव प्राण प्रतिष्ठा के लिए कलश यात्रा निकाली

देव प्राण प्रतिष्ठा के लिए कलश यात्रा निकाली

मालाखेड़ा | कस्बे के समीप स्थित कोठारी का बास में मावली माता संत महाराज द्वारा देव प्राण प्रतिष्ठा का आयोजन हुआ। देव प्राण प्रतिष्ठा के लिए कलश यात्रा निकली व इसके बाद की 16 से 21 अप्रैल तक गीता पाठ व गायत्री जप होंगे। 21 अप्रैल को भंडारा होगा। गीता पाठ पंडित भगवान सहाय शास्त्री द्वारा कराया जाएगा।

मालाखेड़ा | कस्बे के समीप स्थित कोठारी का बास में मावली माता संत महाराज द्वारा देव प्राण प्रतिष्ठा का आयोजन हुआ। देव प्राण प्रतिष्ठा के लिए कलश यात्रा निकली व इसके बाद की 16 से 21 अप्रैल तक गीता पाठ व गायत्री जप होंगे। 21 अप्रैल को भंडारा होगा। गीता पाठ पंडित भगवान सहाय शास्त्री द्वारा कराया जाएगा।

मालाखेड़ा. सोमवार को निकली गई कलश यात्रा में शामिल महिलाएं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Alwar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×