घायल पशु-पक्षियों की सेवा में जुटे हैं 4 दोस्त

Alwar News - हादसे व अापसी झगड़े में घायल और मौसम की मार से बीमार होकर हर साल लाखों पशु-पक्षी अकाल मौत के शिकार हो जाते हैं।...

Jan 23, 2020, 06:45 AM IST
Alwar News - rajasthan news 4 friends are busy serving injured animals and birds
हादसे व अापसी झगड़े में घायल और मौसम की मार से बीमार होकर हर साल लाखों पशु-पक्षी अकाल मौत के शिकार हो जाते हैं। इंसान की छोटी सी दया इन मूक प्राणियों का जीवन बचा सकती है। गांव, जंगल, खेत-खलिहानों में घायल और बीमार मिलने वाले बेसहारा जीवों की जिंदगी बचाने की अलख जगा रहे हैं खेड़ली के बदनगढ़ी गांव के 4 दोस्त संदीप शर्मा, कृष्ण कुमार, हरिशंकर शर्मा व लोकेश शर्मा। पिछले डेढ़ साल से बीमार पशु-पक्षियों की सेवा को मिशन बनाकर ये चारों युवा इस काम में जुटे हैं। सड़कों पर घूमने वाले पशु व खुली हवा में विचरण करने वाले पक्षियों के लिए चारों युवा मसीहा से कम नहीं हैं। युवाओं की यह छोटी सी टोली अब तक करीब 35 आवारा पशुओं और 10 पक्षियों की जान बचा चुकी है। संदीप शर्मा बताते हैं कि आपसी झगड़े या तारों में उलझकर कई बार गाय व बछड़ों के सींग जख्मी हो जाते हैं। सड़काें पर अावारा घूमने वाली गायों की देखभाल करने वाला कोई नहीं हाेता। आवारा कुत्ते भी आपस में झगड़कर घायल हो जाते हैं। इसके अलावा सड़क दुर्घटना में भी पशु व कुत्ते अादि घायल हो जाते हैं। जख्म गहरा होने पर कई बार कीड़े पड़ जाते हैं। मूक प्राणियों के इस दर्द को देखकर करीब डेढ़ साल पहले इनकी सेवा करने का मन बना। पहले खुद ही बाजार से बीटाडीन और गाॅज पट्टी लाकर घायल मूक प्राणियाें का इलाज शुरू किया। इसके बाद गांव के ही 3 युवा कृष्ण, हरिशंकर और लोकेश भी उनके साथ आ गए। स्थानीय स्तर पर इलाज संभव नहीं होता है तो अलवर के पशु चिकित्सालय में इलाज कराते हैं। गांव से अलवर की दूरी करीब 65 किलोमीटर है।

अलवर लाकर कराया इलाज, बच गई जान : कृष्ण कुमार बताते हैं कि गत 28 दिसंबर को बीमार कुतिया गली में तड़पती मिली। कुतिया को खेड़ली पशु चिकित्सालय ले गए। यहां डॉक्टरों ने बताया कि उसके पेट में बच्चों की मौत हो चुकी है। उसकी हालत गंभीर है। इसे यहां बचाया नहीं जा सकता। इसके बाद हम चारों दोस्त कुतिया को अलवर के पशु चिकित्सालय लेकर आए। यहां डॉक्टरों ने इंजेक्शन दिए व ड्रिप चढ़ाई। कुतिया के मृत पिल्लों को बाहर निकाला और उसकी जान बच गई। कृष्ण कुमार का कहना है कि अब तक घायल करीब 35 गाय-बछड़ाें, गली के कुत्तों सहित अन्य जानवरों का इलाज किया है।

अलवर. पशु चिकित्सालय में बीमार कुत्ते का इलाज कराते युवा।

X
Alwar News - rajasthan news 4 friends are busy serving injured animals and birds
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना