• Hindi News
  • Rajya
  • Rajasthan
  • Alwar
  • Alwar News rajasthan news baikuntha chaturdashi today the only baikunthadham temple in district two was built by a woman who came from pakistan during partition

बैकुंठ चतुर्दशी आज, जिले का इकलौता बैकुंठधाम मंदिर स्कीम दो में, बंटवारे के दौरान पाकिस्तान से आई महिला ने बनवाया था

Alwar News - सोमवार 11 नवंबर को बैकुंठ चतुर्दशी मनाई जाएगी। इस अवसर पर स्कीम दो स्थित बैकुंठधाम मंदिर में तुलसी विवाह और दीपदान...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 06:40 AM IST
Alwar News - rajasthan news baikuntha chaturdashi today the only baikunthadham temple in district two was built by a woman who came from pakistan during partition
सोमवार 11 नवंबर को बैकुंठ चतुर्दशी मनाई जाएगी। इस अवसर पर स्कीम दो स्थित बैकुंठधाम मंदिर में तुलसी विवाह और दीपदान का कार्यक्रम होगा। मंदिर के महंत सुमेर गिरी महाराज ने बताया कि इस दिन दीपदान का विशेष पुण्य फल प्राप्त होता है। सुबह लक्ष्मीनारायण भगवान का अभिषेक किया जाएगा। शाम 5 बजे भगवान सालिगराम की सवारी निकाली जाएगी। 6.30 बजे तुलसी विवाह हाेगा। इसके अलावा शाम को दीपदान भी होगा। मंदिर को आकर्षक ढंग से सजाया जाएगा। उन्होंने बताया कि अलवर जिले का एक मात्र बैकुंठधाम मंदिर अलवर शहर की स्कीम नंबर दो में स्थित है। पूर्वमुखी इस मंदिर में संगमरमर से बनी भगवान लक्ष्मीनारायण की 4 फुट ऊंची प्रतिमा स्थापित है। इसके अलावा शिव परिवार, दुर्गा, हनुमानजी, राधा-कृष्ण, गणेशजी व संतोषी मां की भी प्रतिमाएं हैं। इस मंदिर की स्थापना 1 मार्च 1971 को हरिद्वार गिरी महाराज नाम की महिला ने कराई थी। वर्ष 1947 में आजादी के बाद हुए भारत-पाकिस्तान के बंटवारे के दौरान 25 साल की उम्र में हरिद्वार गिरी पाकिस्तान के भागलपुर से अलवर आई थीं। उन्होंने यहां धोबीपाड़ा मोहल्ले में निवास बनाया। वे सुबह-शाम कीर्तन और कथा करती थीं। बड़ी संख्या में श्रद्धालु उनके पास कथा सुनने जाते थे। कथा व कीर्तन करने से एकत्र हुई राशि से उन्होंने स्कीम नंबर दो में जमीन खरीदकर मंदिर बनवाया। प्रत्येक वर्ष एक मार्च को मंदिर का स्थापना दिवस मनाया जाता है। मंदिर में शरद पूर्णिमा, कृष्ण जन्माष्टमी, गुरु पूर्णिमा, बैकुंठ चतुर्दशी सहित अन्य उत्सव मनाए जाते हैं।

अलवर. स्कीम नंबर दो में स्थित बैकुंठधाम मंदिर में सजी प्रतिमा।

इसलिए मनाई जाती है बैकुंठ चतुर्दशी



X
Alwar News - rajasthan news baikuntha chaturdashi today the only baikunthadham temple in district two was built by a woman who came from pakistan during partition
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना