भाजपा में उठे सवाल:‘काम पर चुनाव’ का जवाब शाहीन बाग से क्यों दिया?

Alwar News - बाहरी व्यक्ति मनाेज तिवारी काे प्रदेशाध्यक्ष बनाना महंगा पड़ने की चर्चा भी पार्टी में छिड़ी दिल्ली में...

Feb 12, 2020, 06:46 AM IST
Alwar News - rajasthan news questions raised in bjp why did shaheen bagh answer 39election at work39

बाहरी व्यक्ति मनाेज तिवारी काे प्रदेशाध्यक्ष बनाना महंगा पड़ने की चर्चा भी पार्टी में छिड़ी

दिल्ली में अाक्रामक प्रचार के बावजूद अाम अादमी पार्टी से करारी शिकस्त पर भाजपा में अब मंथन शुरू हाे गया है। दिल्ली के कुछ बड़े नेता दबी जुबान में प्रचार की रणनीति अाैर चुनावी मुद्दाें के चयन पर सवाल उठा रहे हैं। एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि प्रचार अभियान संभाल रहे नेता चुनावी नतीजाें के बारे में मीडिया के सामने प्रतिक्रिया जरूर दें। साथ ही बताएं कि केजरीवाल की ‘काम पर चुनाव’ की चुनाैती का जवाब शाहीन बाग से क्यों दिया? कुछ वरिष्ठ भाजपा नेताअाें का मत है कि सीएए के खिलाफ शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन काे केंद्र में रखकर चलाया गया अति राष्ट्रवादी प्रचार अभियान इस हार की बड़ी वजह है। गृह मंत्री अमित शाह अपने ज्यादातर भाषणाें के अंत में अपील करते थे कि ईवीएम का बटन इतनी जाेर से दबाना कि करंट शाहीन बाग तक पहुंचे। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने गाेली मारने अाैर सांसद प्रवेश वर्मा ने केजरीवाल काे अातंकवादी बताने जैसे विवादित बयान भी दिए। अाप अाैर कांग्रेस ने भाजपा पर नफरत अाैर बंटवारे की राजनीति करने का अाराेप लगाया। दिल्ली के एक नेता कहते हैं कि हिंदुत्व अाैर राष्ट्रवाद के एजेंडे पर चलते-चलते पार्टी काफी अागे निकल गई थी। गाेली माराे जैसे नारे लगाकर अाम लाेगाें से सकारात्मक प्रतिक्रिया की उम्मीद नहीं कर सकते। भाजपा नेताअाें का मत है कि महिलाअाें काे बसाें में मुफ्त यात्रा, बिजली अाैर पानी मुफ्त देने के दांव का भी भाजपा ताेड़ नहीं ढूंढ सकी। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष मनाेज तिवारी ने बांटने की राजनीति के अाराेप नकारते हुए कहा कि हार के कारणाें पर पार्टी फाेरम में विचार हाेगा। कुछ नेताअाें की राय है कि सीएम पद के लिए चेहरा नहीं देना भाजपा काे भारी पड़ गया। बाहरी व्यक्ति को प्रदेशाध्यक्ष बनाना अाैर दिल्ली इकाई में फूट भी हार की वजह मानी जा रही है।

पीएम मोदी ने बधाई दी, केजरीवाल बोले- शुक्रिया, दिल्ली के लिए सहयोग की उम्मीद

पीएम मोदी ने अरविंद केजरीवाल को ट्वीट कर बधाई दी है। जवाब में केजरीवाल ने भी उन्हें शुक्रिया कहते हुए राजधानी दिल्ली को वर्ल्ड क्लास सिटी बनाने के लिए उनसे सहयोग की उम्मीद जताई।

नुकसान: दल-बदलू कपिल और अलका लांबा को लोगों ने नकारा

दिल्ली में उन नेताओं पर सभी की निगाहें थीं, जिन्होंने दलबदल किया था।

मॉडल टाउनः आप से विधायक रहे कपिल मिश्रा भाजपा में जाकर हारे

आप के अखिलेशपति त्रिपाठी ने भाजपा के कपिल मिश्रा को हरा दिया। कपिल 2015 में आप के टिकट से जीते थे।

चांदनी चौकः कांग्रेस के साहनी आप से जीते, आप की अलका कांग्रेस से हार गईं

2015 में अलका लांबा ने 4 बार के कांग्रेस विधायक प्रह्लाद साहनी को हराया था। इस बार साहनी आप और अलका कांग्रेस से लड़ीं। लेकिन इस बार साहनी जीत गए। वे 5वीं बार विधायक बने हैं।

5 पार्टियों से 7 बार चुनाव लड़ने वाले शोएब छठी बार विधायक बने

दिल्ली में मटिया महल चर्चित सीट है। क्योंकि यहां आपके शोएब इकबाल छठी बार जीते हैं। वे पिछले 6 चुनाव में 5 बार 4 अलग-अलग पार्टियों से विधायक रहे हैं। इस बार वे आम आदमी पार्टी से जीते हैं। उनके नाम एक ही सीट से लगातार 5 बार जीतने का रिकॉर्ड है। 1993 से अब तक वे 5 पार्टियों- जनता दल (2 बार), जेडीएस, एलजेपी, जेडीयू और अब आप से जीतकर विधायक बने हैं। पिछली बार वे कांग्रेस से लड़े थे, लेकिन आप के प्रत्याशी से हार गए थे।

फायदा: आप ने जिन 15 विधायकों के टिकट काटेे, वहां 14 जीत गए

आम आदमी पार्टी ने रिपोर्ट कार्ड को आधार बनाकर 15 विधायकों के टिकट काट दिए थे। जिनके टिकट कटे, उन्होंने पार्टी नेतृत्व पर कई गंभीर आरोप लगाए। विश्लेषकों ने भी कहा कि पार्टी में भितरघात से नुकसान होगा। लेकिन सबको पीछे छोड़ते हुए पार्टी ने 15 में से 14 सीटें बचा लीं। सिर्फ बदरपुर में हार झेलनी पड़ी। बाजी भाजपा के रामवीर सिंह बिधूड़ी के हाथ लगी। आप ने विधायक एनडी शर्मा का टिकट काटकर राम सिंह नेताजी को उतारा था। शर्मा बसपा से लड़े। सीट तो नहीं बचा सके, पर आप का नुकसान कर गए।

द्वारकाः शास्त्रीजी के पोते का टिकट काट महाबल मिश्रा के बेटे को दिया

2015 में जीते आदर्श शास्त्री का टिकट काटकर दिग्गज कांग्रेसी नेता महाबल मिश्रा के बेटे विनय को उतारा। उन्होंने भाजपा के प्रद्युम्न राजपूत को हराया।

कालकाजीः लोकसभा चुनाव हारीं आतिशी को उतारा, इस बार जीत गईं

अवतार सिंह का टिकट काट आतिशी को दिया। भाजपा के धर्मवीर को हराया।

राजेंद्र नगर: पार्टी प्रवक्ता राघव चड्ढा पर दांव, लोकसभा चुनाव में हारे थे

विजेंद्र गर्ग की जगह राघव चड्ढा को उतारा। भाजपा के आरपी सिंह को हराया।

दिल्ली ने अपने बेटे पर भरोसा किया, ये नई राजनीति देश के लिए शुभ संदेश: केजरीवाल


जीत के बाद केजरीवाल ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। कहा- ‘दिल्लीवालो! गजब कर दिया आप लोगों ने। आई लव यू। ये दिल्ली के हर उस परिवार की जीत है, जिसने मुझे बेटा मानकर समर्थन दिया। ये उन परिवारों की जीत है, जिनके बच्चों को अच्छी शिक्षा मिलने लगी है, जिनका अस्पतालों में अच्छा इलाज होने लगा है। दिल्ली के लोगों ने आज देश में एक नई राजनीति को जन्म दिया है, जिसका नाम काम की राजनीति है। ये शुभ संदेश है। ये भारत माता की जीत है।

2 महीने में पहली बार शांति, नतीजों पर मौन प्रदर्शन का नया प्रयोग


मंगलवार को दिल्ली में जीतने वाले प्रत्याशियों के जश्न में ढोल बज रहे थे तब शाहीन बाग में खामोशी थी। दरअसल, नतीजों पर प्रतिक्रिया न देने के लिए प्रदर्शनकारियों ने मौन रखा। महिलाओं ने मुंह पर काली पट्‌टी बांध ली और पोस्टर ले रखा था- आज मौन धरना है, हम किसी पार्टी को सपोर्ट नहीं करते। पुलिस क्रूरता बंद करो, सवाल पूछने पर चुप रहने का इशारा कर देते। करीब 2 महीने से जारी प्रदर्शन में यह पहला मौका था जब शाहीन बाग में शांति थी।

आप: वक्त के साथ बढ़ती गईं सीटें, वंदे मातरम के नारे लगे

काउंटिंग शुरु होने के 20 मिनट के अंदर ही आम आदमी पार्टी कार्यालय जश्न में डूबने शुरु हो गया। तब महज 100 कार्यकर्ता ही थे। 8.30 बजे केजरीवाल पहुंचे। इसके बाद वहां नए पोस्टर लगने शुरु हुए। जिनमें तारीख पोस्टर में केजरीवाल हाथ हिला रहे हैं जिसके पीछे तिरंगे का चित्र हैं। वहीं 35 फीट की ऊंचाई पर राष्ट्र शब्द वाले पोस्टर लगने लगे। करीब 10:30 बजे कुछ युवक तिरंगा लिए जश्न मना रहे थे। 12 बजे तक तिरंगों की संख्या 3 गुना बढ़ गई। केजरीवाल से ज्यादा तो भारत माता और वन्दे मातरम के नारे लगाए जा रहे थे। नारे तो ये भी लगे कि वाकई में दिल्ली में भारत की ही जीत हुई।

कांग्रेस: कोई बड़ा नेता नहीं आया, पदाधिकारियों के केबिन में ताले

आप दफ्तर से करीब 100 कदम दूरी पर दिल्ली कांग्रेस का ऑफिस है। यहां सिर्फ सफाई कर्मचारी और रोजमर्रा का स्टाफ नजर आया। प्रदेश अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा समेत सभी बड़े पदाधिकारियों के केबिन में लगे ताले मीडिया को जैसे मुंह चिढ़ा रहे थे। दोपहर 12 बजे तक कोई भी बड़े नेता नहीं पहुंचे। मीडियाकर्मी आए, पर वो भी बैरंग लौट भी गए। दिल्ली कांग्रेस के प्रवक्ता अनिल भारद्वाज ने कहा कि हम एक राज्य में हार से निराश नहीं हैं। नतीजे अपेक्षा के अनुरूप नजर नहीं आए। लेकिन, कांग्रेस जनसेवा करती रहेगी।

भाजपा: सिर्फ मीडिया की भीड़ जुटी, सात सांसदों में से एक पहुंचा

सुबह 8 बजे भाजपा दफ्तर में खामोशी थी। एक-दो कार्यकर्ता थे, पर उनमें भी जोश नहीं था। हर तरफ मीडियाकर्मी ही थे। गेट के साथ लगा पहला होर्डिंग मीडिया को आकर्षित कर रहा था, जिसमें अमित शाह की फोटो के साथ लिखा था कि विजय से हम अहंकारी नहीं होते और पराजय से हम निराश नहीं होते। हालांकि पदाधिकारी सफाई दे रहे थे कि होर्डिंग पुराना है। वहीं दिल्ली के 7 में सिर्फ सांसद रमेश बिधूड़ी दफ्तर पहुंचे। भाजपा की हार स्पष्ट होने पर वो लौट गए। 10 बजते-बजते पार्टी के नेताओं के सुर बदलने लगे और कहने लगे कि पहले की तुलना में इस बार ज्यादा सीटें आ रही हैं।

परिवार की ताकत...

बर्थडे गिफ्ट...

उद्धव बोले- देश मन की बात से नहीं चलता...

8 महिलाओं को उतारा था आप ने, सात जीत गईं

1% घटा आप का वोट शेयर, 5 सीटों का घाटा

जीत के बाद पार्टी कार्यालय पहुंचे केजरीवाल के साथ प|ी सुनीता, बेटी हर्षिता और बेटा पुलकित भी थे। अपने संबोधन में केजरीवाल ने दिल्ली से कहा- आई लव यू

मंगलवार को अरविंद केजरीवाल की प|ी सुनीता का जन्मदिन था। इसी दिन जीत की खबर भी आई।

मंगल जीत: नतीजे मंगलवार को आए, केजरीवाल की प|ी का बर्थडे भी था


- गौतम गंभीर, भाजपा सांसद






‘दिल्ली के लोगों ने नकारात्मक राजनीति को नकार दिया है, ये सच की जीत है। विश्वास था कि जीत होगी। दिल्ली के लोगों ने जन्मदिन पर बड़ा गिफ्ट दिया है। सच की जीत हुई है। हम लोगों के बीच जा रहे थे। लोगों को काम पर विश्वास था। मुझे जीत का। दिल्ली के लोग समझदार हैं। हमें पता था कि नकारात्मक राजनीति को दिल्ली के लोग नकार देंगे।’

- सुनीता केजरीवाल

रिपोर्टिंग: अनिरुद्ध शर्मा, अमित कुमार निरंजन, शरद पांडेय

शाहीन बाग से लाइव

पार्टी दफ्तरों से लाइव

11

अलवर, बुधवार, 12 फरवरी, 2020

Alwar News - rajasthan news questions raised in bjp why did shaheen bagh answer 39election at work39
Alwar News - rajasthan news questions raised in bjp why did shaheen bagh answer 39election at work39
Alwar News - rajasthan news questions raised in bjp why did shaheen bagh answer 39election at work39
Alwar News - rajasthan news questions raised in bjp why did shaheen bagh answer 39election at work39
Alwar News - rajasthan news questions raised in bjp why did shaheen bagh answer 39election at work39
Alwar News - rajasthan news questions raised in bjp why did shaheen bagh answer 39election at work39
X
Alwar News - rajasthan news questions raised in bjp why did shaheen bagh answer 39election at work39
Alwar News - rajasthan news questions raised in bjp why did shaheen bagh answer 39election at work39
Alwar News - rajasthan news questions raised in bjp why did shaheen bagh answer 39election at work39
Alwar News - rajasthan news questions raised in bjp why did shaheen bagh answer 39election at work39
Alwar News - rajasthan news questions raised in bjp why did shaheen bagh answer 39election at work39
Alwar News - rajasthan news questions raised in bjp why did shaheen bagh answer 39election at work39
Alwar News - rajasthan news questions raised in bjp why did shaheen bagh answer 39election at work39

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना