उपभाेक्ता भंडार पर अवैध तरीके से बिक रही दवा, अिधकारी बोले-ऐसा तो सब जगह होता है

Alwar News - सहकारी उपभाेक्ता भंडार की दवा दुकानाें में गड़बड़ी की शिकायताें पर बुधवार काे राजीव गांधी सामान्य अस्पताल परिसर...

Bhaskar News Network

Jun 20, 2019, 06:50 AM IST
Alwar News - rajasthan news the official said that the drug sold illegally at the deputy collector stores it is everywhere
सहकारी उपभाेक्ता भंडार की दवा दुकानाें में गड़बड़ी की शिकायताें पर बुधवार काे राजीव गांधी सामान्य अस्पताल परिसर अाैर शिशु अस्पताल के पास अाैषधि नियंत्रण संगठन की टीम ने छापे की कार्रवाई की। इसमें दवाअाें के स्टाॅक, खरीद अाैर बिक्री में काफी अनियमितताएं उजागर हुई हैं। टीम काे दुकानाें पर फार्मासिस्ट की अनुपस्थिति में अवैध तरीके से अप्रशिक्षित हेल्पर पेंशनराें काे मेडिकल डायरियाें पर दवा देते मिले अाैर कई बिल कटे मिले।

अस्पताल में अाैषधि नियंत्रण अधिकारियाें की टीम के पहुंचते ही सामान्य अस्पताल परिसर स्थित उपभाेक्ता भंडार की दाे नंबर दुकान पर अवैध तरीके से काम करने वाला हेल्पर शटर लगाकर भाग गया। अधिकारियाें के काफी कहने के बावजूद उसने दुकान नहीं खाेली। अाैषधि नियंत्रण अधिकारी अर्चना यादव ने बताया कि करीब 6 घंटे बाद काेटपूतली से फार्मासिस्ट बाबूलाल कसाना काे बुलाकर दवा दुकान काे खुलवाकर जांच की गई। इसमें फार्मासिस्ट की अनुपस्थिति में अवैध तरीके से 6 बिल कटे मिले, जाे अाैषधि एवं प्रसाधन अधिनियम का उल्लंघन है। दुकान में रखी दवाइयाें अाैर अाॅनलाइन स्टाॅक में काफी अंतर मिला। फार्मासिस्ट से अभी 3 महीने की खरीद अाैर बिक्री का रिकाॅर्ड मांगा गया है, जिसकी जांच की जाएगी। उन्हाेंने बताया कि कंपनी बाग राेड अाैर शिशु अस्पताल के बाहर स्थित उपभाेक्ता भंडार की दवा की दुकानाें की जांच में बिक्री कम हाेने के कारण स्टाॅक सही मिला। वहां फार्मासिस्ट काम करते मिले।

दाे टीमाें में अाैषधि नियंत्रण अधिकारी अर्चना यादव, वंदना कुमारी, लाेकेश बैरवा, राजेश कटारा अाैर बलवीर चाैधरी शामिल रही। उल्लेखनीय है कि शिकायतें मिलने पर सीएमएचअाे डाॅ. अाेमप्रकाश मीणा ने अाैषधि नियंत्रण अधिकारियाें काे उपभाेक्ता भंडार की दुकानाें पर कार्रवाई के निर्देश दिए थे। इधर, दुकान बंद हाेने से पेंशनराें काे दवाअाें के लिए काफी परेशानी उठानी पड़ी जबकि दुकान नंबर एक पर कार्यरत हेल्पर जांच दल के अाने के पहले ही दुकान बंद कर गया।

बाहरी व्यक्ति ने अवैध तरीके से पेंशनराें काे दवा देकर काटे बिल : उपभाेक्ता भंडार की सामान्य अस्पताल परिसर स्थित दुकान नंबर 6 पर छापे की कार्रवाई के दाैरान अाैषधि नियंत्रण अधिकारियाें काे फार्मासिस्ट नहीं मिला। यहां बाहरी व्यक्ति अवैध तरीके से पेंशनराें काे दवा देकर बिल काट रहा था। जांच के दाैरान दुकान में एेसे कई बिल मिले हैं। बाद में बुलाए फार्मासिस्ट के सामने रिकाॅर्ड की जांच की गई, जिसमें काफी अनियमितताएं मिली। अब खरीद-बिक्री के रिकाॅर्ड की जांच की जाएगी।

अाैषधि नियंत्रण अधिकारियाें की उपभाेक्ता भंडार की दुकानाें पर एक जैसी जांच में कार्रवाई अलग-अलग की जा रही है। कालाकुअां स्थित उपभाेक्ता भंडार की दुकान नंबर 5 पर कार्रवाई के दाैरान फार्मासिस्ट की अनुपस्थिति में एक बिल कटने पर 7 दिनाें के लिए दुकान निलंबित कर दी गई अाैर 3 साल का रिकाॅर्ड मांगा गया। रिकाॅर्ड उपभाेक्ता भंडार में जमा हाेने के कारण दुकान एक सप्ताह अाैर एक महीने के अलग-अलग निलंबित कर दी गई, जबकि सामान्य अस्पताल परिसर की दुकानाें पर कई बिल कटने अाैर रिकाॅर्ड में अनियमितताएं मिलने पर मात्र 3 महीने का रिकाॅर्ड मांगा है।

जिले भर में हैं उपभाेक्ता भंडार की दवा की दुकानें : शहर में राजीव गांधी सामान्य अस्पताल, शिशु अस्पताल, एनईबी, शिवाजी पार्क एवं जगन्नाथ मंदिर पीएचसी अाैर सेटेलाइट अस्पताल में दवा की 9 दुकानें हैं। वहीं खैरथल, किशनगढ़बास, गाेविंदगढ़, लक्ष्मणगढ़, तिजारा, खेड़ली, राजगढ़, बानसूर अाैर तिजारा में भी भंडार की दवा दुकान संचालित हैं। इन पर पेंशनराें काे दवा मिलती हैं। वहीं मरीजाें के लिए सामान्य अस्पताल अाैर महिला अस्पताल में दाे लाइफ लाइन की दुकान संचालित हैं।


अलवर. सामान्य अस्पताल स्थित दुकान नंबर 6 पर दवाअाें के स्टाॅक की जांच करती टीम।

अवैध तरीके से काम कर रहे हेल्पर, वेतन फार्मासिस्ट दे रहे

सहकारी उपभाेक्ता भंडार की दुकानाें पर अवैध तरीके से दवा देने का काम हेल्पर कर रहे हैं, जाे पेंशनराें काे दवा देने के साथ बिल भी काट रहे हैं अाैर उन पर अपने हस्ताक्षर कर रहे हैं। ये हेल्पर फार्मासिस्टाें ने अपने स्तर पर 10 साल से अधिक समय से दुकानाें पर लगाए हुए हैं। इन्हें वेतन भी फार्मासिस्ट ही देते हैं। इससे अंदाज लगाया जा सकता है कि भंडार की दुकानाें पर कितने बड़े स्तर पर धांधली चल रही है। इस गड़बड़ी का सहकारी विभाग के अधिकारियाें अाैर उपभाेक्ता भंडार के महाप्रबंधक काे पता हाेने के बावजूद कभी कार्रवाई नहीं की गई।

X
Alwar News - rajasthan news the official said that the drug sold illegally at the deputy collector stores it is everywhere
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना