--Advertisement--

धर्म की शरण सबसे दुर्लभ है : डॉ. चेतना

जैन साध्वी डॉ. चेतना ने कहा कि मानव जीवन पाकर भी जो धर्म को ठुकराएगा, उसे एक दिन उसका ही कर्म रुलाएगा। वे बुधवार को...

Danik Bhaskar | Sep 13, 2018, 03:26 AM IST
जैन साध्वी डॉ. चेतना ने कहा कि मानव जीवन पाकर भी जो धर्म को ठुकराएगा, उसे एक दिन उसका ही कर्म रुलाएगा। वे बुधवार को महावीर भवन में पर्यूषण पर्व के तहत अंतगढ़ सूत्र का वाचन करते हुए धर्म सभा में प्रवचन दे रही थी। उन्होंने सेठ सुदर्शन व अर्जुन माली के प्रसंग का उल्लेख करते हुए कहा कि जब सुदर्शन धर्म की शरण में थे, तब अर्जुन माली के शरीर में आया हुआ यक्ष भी उनका बाल बांका नहीं कर सका और सेठ सुदर्शन का निमित्त पाकर एक क्रूर हत्यारा अर्जुन माली भी अंतत: साधु बनकर मुक्ति का राही बन गया। उन्होंने कहा कि संसार में धर्म की शरण ही सबसे दुर्लभ है, जिसे पाने में कभी भी पीछे नहीं रहना चाहिए।