--Advertisement--

दर्दनाक हादसे में मां के साथ 2 बेटों की स्पॉट पर मौत, बेटे शीशा तोड़ते हुए गाड़ी के अंदर जा घुसे-बुजुर्ग मां उछलकर 20 फीट दूर गड्ढे में जा गिरी

एक चिता पर हुआ तीनों का अंतिम संस्कार, मां को पेंशन दिलाकर लौट रहे थे दोनों बेटे।

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 03:53 PM IST

अलवर (राजस्थान)। बहरोड़-नारनाैल स्टेट हाईवे संख्या 14 पर बेकाबू रफ्तार से आती सफारी कार की चपेट में आकर एक बाइक पर सवार मां व उसके दो बेटों की मौके पर मौत हो गई। हादसा सोमवार दोपहर करीब 12.30 बजे हुआ। मृतक बेटे बैंक में मां को वृद्धावस्था पेंशन के रुपए दिलाकर ला रहे थे। कार की रफ्तार इतनी तेज थी कि टक्कर के बाद बाइक चला रहा युवक सफारी कार का शीशा तोड़ते हुए भीतर जा घुसा। वृद्धा 20 फीट दूर जा गिरी और कार 30 मीटर आगे जाकर पुलिया दीवार तोड़ती हुई नीचे झूल गई।

20 फीट दूर गहरे गड्ढे में मिला महिला का शव

- घटना के बाद चालक कार छोड़कर फरार हो गया। पुलिस उपाधीक्षक कुशाल सिंह ने बताया कि सफारी कार बहरोड़ से नारनौल की तरफ जा रही थी। बाइक सवार मां-बेटे बहराेड़ की अाेर आ रही थी। हादसे में बाइक सवार 38 वर्षीय विधानन्द यादव व वीरेन्द्र और उनकी 62 वर्षीय मां की मौत हुई है। तीनों पीएनबी बैंक से रकम निकालकर गांव लाैट रहे थे।

- थानाधिकारी वीरेन्द्र सिंह ने बताया कि कार की रफ्तार काफी तेज होने की आशंका है। दुर्घटना के बाद बाइक सवार शीशा तोड़ते हुए सफारी गाड़ी के अंदर जा घुसा। दूसरा कंडेक्टर साइड की खिड़की में फंसा मिला। जबकि वृद्धा का शव करीब 20 फीट दूर गहरे गड्ढे में मिला।

- लक्सीवास गांव में मां और दो बेटों का एक ही चिता पर अंतिम संस्कार किया गया। मृतकों के पिता की मृत्यु पहले ही हो चुकी है। एक मृतक ट्रक चलाता था और दाेनाें के दाे-दाे बेटे और बेटी।

वकील बताया गया सफारी चालक, गाड़ी में मिली पिस्टल

दुर्घटना के बाद सफारी गाड़ी में कोर्ट केस संबधी फाइल मिली हैं। इन पर एडवोकेट प्रदीप कुमार का नाम लिखा है। गाड़ी पर एडवोकेट का लोगो भी लगा हुआ है। कार नारनौल में महेन्द्रगढ़ रोड पर रहने वाले प्रदीप कुमार की बताई गई है। वकील केस के सिलसिले में बहरोड़ कोर्ट में आया था। नारनौल जाते समय हादसा हुआ। सफारी गाड़ी में मिली पिस्टल से मामला हाई प्रोफाइल और कांग्रेस नेता से जुड़ा बताया गया है।