अंता

  • Hindi News
  • Rajasthan News
  • Anta News
  • बैठक में पहुंची महिलाएं, बोलीं-हम पानी को तरस रहे, समाधान तो दूर सुनवाई भी नहीं
--Advertisement--

बैठक में पहुंची महिलाएं, बोलीं-हम पानी को तरस रहे, समाधान तो दूर सुनवाई भी नहीं

पंचायत समिति सभागार भवन में बुधवार को साधारण बैठक हुई। अध्यक्षता प्रधान अजय सिंह हाड़ा ने की। जिसमें एसडीएम...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:00 AM IST
पंचायत समिति सभागार भवन में बुधवार को साधारण बैठक हुई। अध्यक्षता प्रधान अजय सिंह हाड़ा ने की। जिसमें एसडीएम जब्बर सिंह, बीडीओ गौतम गायकवाड़ सहित ब्लॉक के अधिकारी मौजूद थे। इस दौरान सदन में उपस्थित सरपंच व जनप्रतिनिधियों से क्षेत्र की समस्याओं की जानकारी ली।

इसमें पंचायत समिति सदस्य वीरेंद्र प्रताप सिंह ने मुद्दा उठाया कि दड़ा ग्राम पंचायत में सचिव नहीं होने से विकास कार्य नहीं हो रहे हैं। इस पर प्रधान हाड़ा ने जल्द सचिव लगाने के लिए बीडीओ को निर्देश दिए। पंचायत समिति सदस्य खेमराज सिंह बेरपुर ने सड़क क्षतिग्रस्त होने व मोतीपुरा में पेयजल समस्या का मुद्दा उठाया। इसी तरह कुंजेड़ सरपंच प्रशांत पाटनी ने कुंजेड़ से बोरदा तक सिंगल सड़क व साइडों अतिक्रमण का मुद्दा उठाया। इस पर पीडब्ल्यूडी एईएन ने सही करवाने का आश्वासन दिया। रीछंदा सरपंच देवकरण नागर, अंताना सरपंच मुकेश मेहर ने मुद्दा उठाया कि रात को 11 बजे के बाद सुबह पांच बजे तक सिंगल फेज बिजली नहीं आती है। जिससे लोगों को अंधेरे व पेयजल की समस्या का सामना करना पड़ता है। अंताना में हैंडपंप हवा फेंक रहे हैं। जिससे पेयजल की समस्या हो रही है। पंचायत समिति सदस्य जगदीश मीणा ने सदन में मुद्दा उठाया कि ग्रामीण क्षेत्र में जलस्तर गहराने से कई गांव के हैंडपंप रीत गए हैं। जिन हैंडपंपों में सिंगल फेज मोटर डाल रखी है उनमें भी 10 से 15 मिनट में बाल्टी भरती है। इस पर प्रधान हाड़ा ने प्रस्ताव लिया कि सभी जनप्रतिनिधि पीडब्ल्यूडी एईएन को ट्यूबवैलों को गहरा करवाने के लिए लिखित में अवगत कराएं। सदस्य अमृतलाल मीणा ने बताया कि कवाई थाने के सामने पानी की टंकी के लिए डेढ़ लाख रुपए स्वीकृत हुए पड़े हैं, लेकिन सरपंच टंकी नहीं बनवा रहे हैं। डायरेक्टर वीरेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि अदाणी पावर प्लांट के तालाब का पानी अडेरी नदी में छोड़ दिया जाए तो पार्वती पिकअप वियर बांध भरने से कस्बे सहित आसपास का जलस्तर बढ़ने से ट्यूबवैलों का जलस्तर बढ़ सकता है। इस पर प्रस्ताव लेकर कलेक्टर को प्रस्ताव भेजने के लिए अवगत कराया। बमोरी सरपंच राजेंद्र नागर ने बमोरी सड़क क्षतिग्रस्त होने की जानकारी दी। इस पर सहायक अभियंता ने बताया कि टेंडर हो चुके हैं और फरवरी में सड़क का काम चालू हो जाएगा। ब्लॉक सीएमएचओ डॉ. जयप्रकाश यादव ने बताया कि बरला उप स्वास्थ्य केंद्र के लिए भवन निर्माण का बजट आ चुका है, लेकिन पर्याप्त जगह का पट्टा नहीं होने से भवन नहीं बन रहा है। बरला सरपंच कृष्ण मोहन मीणा ने आश्वस्त किया कि पर्याप्त जगह का पट्टा भवन के लिए उपलब्ध करा दिया जाएगा। किशनपुरा सरपंच बाबूलाल नागर ने बताया कि पंचायत क्षेत्र के कई गांवों के हैंडपंप खराब हो चुके हैं। जिरोद सरपंच देवेंद्र सिंह ने खरकड़ा आसन गांव में सार्वजनिक स्थान पर हैंडपंप लगवाने की मांग की।

हंगामा करती महिलाएं अफसरों-नेताओं की डाइस तक पहुंच गईं

अटरू. पंचायत समिति की साधारण बैठक में पेयजल की समस्याओं को लेकर हंगामा करती हाट चौक की महिलाएं।

भास्कर न्यूज| अटरू

पंचायत समिति सभागार भवन में बुधवार को साधारण बैठक हुई। अध्यक्षता प्रधान अजय सिंह हाड़ा ने की। जिसमें एसडीएम जब्बर सिंह, बीडीओ गौतम गायकवाड़ सहित ब्लॉक के अधिकारी मौजूद थे। इस दौरान सदन में उपस्थित सरपंच व जनप्रतिनिधियों से क्षेत्र की समस्याओं की जानकारी ली।

इसमें पंचायत समिति सदस्य वीरेंद्र प्रताप सिंह ने मुद्दा उठाया कि दड़ा ग्राम पंचायत में सचिव नहीं होने से विकास कार्य नहीं हो रहे हैं। इस पर प्रधान हाड़ा ने जल्द सचिव लगाने के लिए बीडीओ को निर्देश दिए। पंचायत समिति सदस्य खेमराज सिंह बेरपुर ने सड़क क्षतिग्रस्त होने व मोतीपुरा में पेयजल समस्या का मुद्दा उठाया। इसी तरह कुंजेड़ सरपंच प्रशांत पाटनी ने कुंजेड़ से बोरदा तक सिंगल सड़क व साइडों अतिक्रमण का मुद्दा उठाया। इस पर पीडब्ल्यूडी एईएन ने सही करवाने का आश्वासन दिया। रीछंदा सरपंच देवकरण नागर, अंताना सरपंच मुकेश मेहर ने मुद्दा उठाया कि रात को 11 बजे के बाद सुबह पांच बजे तक सिंगल फेज बिजली नहीं आती है। जिससे लोगों को अंधेरे व पेयजल की समस्या का सामना करना पड़ता है। अंताना में हैंडपंप हवा फेंक रहे हैं। जिससे पेयजल की समस्या हो रही है। पंचायत समिति सदस्य जगदीश मीणा ने सदन में मुद्दा उठाया कि ग्रामीण क्षेत्र में जलस्तर गहराने से कई गांव के हैंडपंप रीत गए हैं। जिन हैंडपंपों में सिंगल फेज मोटर डाल रखी है उनमें भी 10 से 15 मिनट में बाल्टी भरती है। इस पर प्रधान हाड़ा ने प्रस्ताव लिया कि सभी जनप्रतिनिधि पीडब्ल्यूडी एईएन को ट्यूबवैलों को गहरा करवाने के लिए लिखित में अवगत कराएं। सदस्य अमृतलाल मीणा ने बताया कि कवाई थाने के सामने पानी की टंकी के लिए डेढ़ लाख रुपए स्वीकृत हुए पड़े हैं, लेकिन सरपंच टंकी नहीं बनवा रहे हैं। डायरेक्टर वीरेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि अदाणी पावर प्लांट के तालाब का पानी अडेरी नदी में छोड़ दिया जाए तो पार्वती पिकअप वियर बांध भरने से कस्बे सहित आसपास का जलस्तर बढ़ने से ट्यूबवैलों का जलस्तर बढ़ सकता है। इस पर प्रस्ताव लेकर कलेक्टर को प्रस्ताव भेजने के लिए अवगत कराया। बमोरी सरपंच राजेंद्र नागर ने बमोरी सड़क क्षतिग्रस्त होने की जानकारी दी। इस पर सहायक अभियंता ने बताया कि टेंडर हो चुके हैं और फरवरी में सड़क का काम चालू हो जाएगा। ब्लॉक सीएमएचओ डॉ. जयप्रकाश यादव ने बताया कि बरला उप स्वास्थ्य केंद्र के लिए भवन निर्माण का बजट आ चुका है, लेकिन पर्याप्त जगह का पट्टा नहीं होने से भवन नहीं बन रहा है। बरला सरपंच कृष्ण मोहन मीणा ने आश्वस्त किया कि पर्याप्त जगह का पट्टा भवन के लिए उपलब्ध करा दिया जाएगा। किशनपुरा सरपंच बाबूलाल नागर ने बताया कि पंचायत क्षेत्र के कई गांवों के हैंडपंप खराब हो चुके हैं। जिरोद सरपंच देवेंद्र सिंह ने खरकड़ा आसन गांव में सार्वजनिक स्थान पर हैंडपंप लगवाने की मांग की।

हाट चौक की महिलाओं ने कहा-8 दिन में सप्लाई, कैसे गुजारा करें

सदन के दौरान कस्बे के हाट चौक की महिलाओं ने पेयजल की समस्याओं को लेकर सभागार भवन में हंगामा किया। आक्रोशित महिलाओं ने बताया कि आठ दिन में पानी दिया जा रहा है और बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं। प्रशासन कोई ध्यान नहीं दे रहा है। बस्ती में आठ दिन में नहीं तीन दिन पानी चाहिए। अगर यह व्यवस्था नहीं की गई तो आंदोलन किया जाएगा। इस पर आश्वासन देते हुए कहा कि पेयजल की समस्या का समाधान किया जाएगा। इस दौरान सदन में ब्लॉक के सभी अधिकारी व सरपंच, पंचायत समिति डायरेक्टर और जिला परिषद सदस्य मौजूद थे।

X
Click to listen..