• Home
  • Rajasthan News
  • Balotra News
  • Balotra - गुरुवार व स्वाति नक्षत्र के दुर्लभ संयोग में आज मनेगी चतुर्थी, सभी ग्रह होंगे प्रसन्न
--Advertisement--

गुरुवार व स्वाति नक्षत्र के दुर्लभ संयोग में आज मनेगी चतुर्थी, सभी ग्रह होंगे प्रसन्न

मध्याह्न काल, वृश्चिक लग्न में पूजन करना श्रेष्ठ : शास्त्रों में गणपति का जन्म मध्याह्न काल में माना गया है।...

Danik Bhaskar | Sep 13, 2018, 02:10 AM IST
मध्याह्न काल, वृश्चिक लग्न में पूजन करना श्रेष्ठ : शास्त्रों में गणपति का जन्म मध्याह्न काल में माना गया है। चतुर्थी के दिन मध्याह्न काल सुबह 11:10 से 11:36 बजे तक रहेगा। वृश्चिक लग्न सुबह 11:05 से दोपहर 1:22 बजे तक रहेगा। श्रेष्ठ चौघड़िया सुबह 6:16 से 7:47 बजे का है।

राहु की दशा व दृष्टि वाले करें पूजन : शास्त्रों के अनुसार जिन जातकों पर राहु की दशा और दृष्टि है, उन्हें गणेश चतुर्थी के दिन गणपति की अराधना करनी चाहिए। सभी ग्रहों की शांति के लिए गणेशजी की उपासना श्रेष्ठ मानी गई है।