कॉलेज प्रशासन और अभिभावकों ने विकास के लिए साझा किए सुझाव

Balotra News - शहर के डीआरजे राजकीय कन्या महाविद्यालय में शनिवार को अभिभावक संवाद संगम कार्यक्रम का आयोजन किया गया। ...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 06:25 AM IST
Balotra News - rajasthan news college administration and parents shared suggestions for development
शहर के डीआरजे राजकीय कन्या महाविद्यालय में शनिवार को अभिभावक संवाद संगम कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम संयोजक डॉ.गुलाब दास वैष्णव ने कहा कि अनुशासन प्रेम एवं वात्सल्य के साथ दी गई शिक्षा ही विद्यार्थियों को अच्छा नागरिक बनाती है आज का युवा अपना जीवन अपनी मर्जी से जीना चाहता है। इससे वह अपनी जिम्मेदारियों से बचने का प्रयास भी कर रहा है। इसका प्रतिकूल प्रभाव परिवार और समाज पर पड़ रहा है। अतः हम सभी शिक्षकों व अभिभावकों का कर्तव्य बनता है कि महाविद्यालय की प्रत्येक छात्रा को सुसंस्कृत एवं संस्कारी बनाने का प्रयास करें। इससे वे देश व समाज की एक जिम्मेदार नागरिक बन सके। प्राचार्य अर्जुन राम पूनिया ने महाविद्यालय में आधारभूत सुविधाओं एवं शैक्षणिक व सह-शैक्षणिक गतिविधियों के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि बच्चों के विकास के लिए अभिभावकों की भूमिका महत्वपूर्ण है। आपको नियमित अंतराल पर महाविद्यालय आना चाहिए। इससे अपने बच्चों के बारे में आपको वास्तविक प्रगति रिपोर्ट मिल सके और बच्चों के आत्मविश्वास में भी वृद्धि हो। सह आचार्य डॉ संजय माथुर ने आयुक्तालय कॉलेज शिक्षा द्वारा जारी आकाशि कैलेंडर के अनुसार महाविद्यालय में चलाई जा रही विभिन्न नवाचार योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम को सफल बनाने में सहायक आचार्य विजय अरोड़ा, हेमलता महावर, पिंकी खोईवाल, ओम प्रकाश, छगनलाल, मदनलाल, कुशाग्र सिंह नेगी, डॉ खगेंद्र कुमार व छात्रसंघ अध्यक्ष मैना चौधरी, उपाध्यक्ष जयंती जाटोल तथा संयुक्त सचिव प्रियंका राजपुरोहित ने सहयोग प्रदान किया।

एमबीआर पीजी कॉलेज : स्थानीय एम.बी.आर. राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में ‘‘काॅलेज-कम्यूनिटी कनैक्ट’’ प्रोग्राम के तहत प्रथम ‘‘अभिभावक-शिक्षक’’ सभा का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अभिभावक एवं शिक्षाविद् फरसाराम सराणा ने अपने अनुभव एवं अभिभावक के रूप में अपने कर्तव्यों की याद दिलाते हुए सभी अभिभावकों से जागरूक होने का आह्वान किया ताकि उनके बेटे व बेटियां महाविद्यालयी शिक्षा ग्रहण करने के साथ-साथ अच्छे नागरिक बन सके एवं वर्तमान परिस्थितियों में गलत संगत में पड़कर अपना भविष्य खराब न कर ले। कार्यक्रम प्रभारी डाॅ. अरूण कुमार जैन ने महाविद्यालय में गत कुछ वर्षों में आए बदलावों, विकास कार्यों, प्रतियोगिता दक्षता कार्यक्रमों, स्किल डेवलपमेन्ट पाठ्यक्रमों, ई-क्लास आदि के बारे में विस्तार से बताया। अभिभावक ईश्वरसिंह जागसा ने छात्राओं के लिए विशेष सुविधाएं उपलब्ध करवाने की मांग रखते हुए पुस्तकालय से सभी विषयों की पुस्तकें पूरे वर्ष के लिए निर्गमित करवाने का सुझाव दिया। कुछ अन्य अभिभावकों ने एन.सी.सी. खोलने एवं रिक्त पदों को भरवाने के लिए प्रयास करने का सुझाव दिया। कार्यक्रम के अन्त में अध्यक्ष एवं कार्यवाहक प्राचार्य डाॅ. एच.के. जोशी ने अगले माह की 19 तारीख को यही कार्यक्रम आयोजित किए जाने की जानकारी दी।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत कार्यक्रम

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत कार्यक्रम

समदड़ी | समदडी स्टेशन कस्बे में राज्य सरकार की महत्वपूर्ण योजना बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ एवं महिला सशक्तिकरण के अंतर्गत राजकीय माध्यमिक विद्यालय नवोड़ा बेरा समदड़ी स्टेशन में अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस का आयोजन किया गया। इसके अंतर्गत बालिका शारदा चौधरी को प्रधानाध्यापक बनाया गया व प्रियंका चौधरी को उप प्रधानाध्यापक की भूमिका निर्वहन करते हुए विद्यालय संचालक प्रभावी ढंग से किया। अन्य बालिकाओं ने एक टीम के रूप में कार्य करते हुए छात्र अध्यापिका के रूप में भूमिका निभाई। प्रधानाध्यापक ओमप्रकाश मेघवाल ने बालिकाओं की योजना शिक्षा व अधिकारों पर प्रकाश डाला। लक्ष्मी नारायण शर्मा ने भी बालिका शिक्षा पर विचार व्यक्त किए। इस दौरान एसएमसी अध्यक्ष राणाराम चौधरी, वार्डपंच मोहिनी देवी, महेंद्र निंबार्क, हेमाराम भील, देवाराम पटेल, कालू सिंह, चम्पालाल भाटी, हीरालाल गुर्जर, कानाराम, हेमलता बौद्ध, वीरेंद्र लता विद्यालय स्टाफ उपस्थित रहे।

समदड़ी | समदडी स्टेशन कस्बे में राज्य सरकार की महत्वपूर्ण योजना बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ एवं महिला सशक्तिकरण के अंतर्गत राजकीय माध्यमिक विद्यालय नवोड़ा बेरा समदड़ी स्टेशन में अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस का आयोजन किया गया। इसके अंतर्गत बालिका शारदा चौधरी को प्रधानाध्यापक बनाया गया व प्रियंका चौधरी को उप प्रधानाध्यापक की भूमिका निर्वहन करते हुए विद्यालय संचालक प्रभावी ढंग से किया। अन्य बालिकाओं ने एक टीम के रूप में कार्य करते हुए छात्र अध्यापिका के रूप में भूमिका निभाई। प्रधानाध्यापक ओमप्रकाश मेघवाल ने बालिकाओं की योजना शिक्षा व अधिकारों पर प्रकाश डाला। लक्ष्मी नारायण शर्मा ने भी बालिका शिक्षा पर विचार व्यक्त किए। इस दौरान एसएमसी अध्यक्ष राणाराम चौधरी, वार्डपंच मोहिनी देवी, महेंद्र निंबार्क, हेमाराम भील, देवाराम पटेल, कालू सिंह, चम्पालाल भाटी, हीरालाल गुर्जर, कानाराम, हेमलता बौद्ध, वीरेंद्र लता विद्यालय स्टाफ उपस्थित रहे।

X
Balotra News - rajasthan news college administration and parents shared suggestions for development
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना