रूसा से मिले दो करोड़ रुपए से एमबीआर कॉलेज बना हाईटेक, ई-क्लास सेे दूर हुई व्याख्याताओं की कमी

Balotra News - राष्ट्रीय उच्चत्तर शिक्षा अभियान (रूसा) से करीब दो करोड़ रुपए की ग्रांट मिलने के बाद एमबीआर पीजी कॉलेज का कायाकल्प...

Nov 29, 2019, 06:50 AM IST
Balotra News - rajasthan news two crore rupees received from rusa mbt college becomes high tech lack of lecturers away from e class
राष्ट्रीय उच्चत्तर शिक्षा अभियान (रूसा) से करीब दो करोड़ रुपए की ग्रांट मिलने के बाद एमबीआर पीजी कॉलेज का कायाकल्प ही हो गया।

जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय के साथ ही वर्धमान महावीर खुला विश्वविद्यालय कोटा व इंदिरा गांधी राष्ट्रीय खुला विश्वविद्यालय दिल्ली का परीक्षा केंद्र होने के चलते कभी-कभार ऐसी स्थिति होती थी कि विद्यार्थियों को टैंट लगाकर बिठाना पड़ता था। कक्षा-कक्ष के अभाव में खुले आसमान तले विद्यार्थियों को परीक्षा देनी पड़ती थी। इसके साथ ही रेगुलर स्टूडेंट्स भी परेशान थे, लेकिन अब करीब 1.40 करोड़ रुपए खर्च होने के साथ न सिर्फ कक्षा-कक्ष व हॉल की सुविधा मिली है, बल्कि कॉलेज शिक्षा के नाते बेहद आधुनिक हो गया है। बड़े-बड़े सेमीनार हॉल के साथ ही विद्यार्थियों को कॉन्फ्रेंस रूम की सुविधा मिल रही है। मात्र दो साल में कॉलेज का पूरा आइना बदल गया है। सन 2016 में राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (नैक) द्वारा किए गए मूल्यांकन के बाद एमबीआर पीजी कॉलेज को बी ग्रेड दी गई थी। इससे पहले कॉलेज सी ग्रेड की श्रेणी में था। इसके परिणामस्वरूप कॉलेज का चयन राज्य एवं केंद्र सरकार की समन्वित योजना राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान (रूसा) में किया गया। इस कार्यक्रम में 30 प्रतिशत हिस्सेदारी राज्य सरकार की एवं 70 प्रतिशत हिस्सेदारी केंद्र सरकार की रही।

प्रोजेक्टर बेस्ड दो क्लास रूम एवं ई-क्लास रूम एवं एक स्मार्ट सेमिनार हॉल से कक्षाओं का हो रहा संचालन

बालोतरा. रूसा और यूजीसी से प्राप्त ग्रांट से एमबीआर राजकीय पीजी कॉलेज में का निखरा रूप।

चार-चार बड़े हॉल, सेमिनार हॉल की भी सुविधा

एमबीआर कॉलेज में सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से ऊपरी मंजिल पर चार कक्षा-कक्ष, चार बड़े हॉल, एक शेडो रूम का निर्माण करने के साथ ही छतों की रिपेयरिंग का कार्य कराया गया। इससे कॉलेज में अब कमरों की कोई कमी नहीं है। इसके अलावा 500 विद्यार्थियों के लिए नवीन फर्नीचर, सेमिनार हॉल के लिए कुर्सियां एवं सोफा खरीदे गए हैं। इसके साथ ही हाईटेक टॉयलेट भी बना है। सबसे बड़ी बात है कि अब कॉलेज पूरी तरह से हाईटेक है। यहां पर अत्याधुनिक सेमिनार हॉल पीडीएस सिस्टम के साथ, सात नए लैपटॉप, लाइब्रेरी का आधुनिकीकरण एवं ऑटोमाइजेशन, स्मार्ट बोर्ड, पांच नए डेस्क टॉप, प्रिंटर्स, प्रत्येक कक्षा में पोडियम, ग्रीन बोर्ड आदि की व्यवस्था है।





कॉलेज में अक्सर व्याख्याताओं की कमी के चलते पढ़ाई प्रभावित रहती थी, लेकिन अब यह परेशानी दूर हो गई है। विद्यार्थियों के लिए रूसा व यूजीसी से प्राप्त ग्रांट से दो प्रोजेक्टर बेस्ड क्लास रूम एवं ई-क्लास रूम एवं एक स्मार्ट सेमिनार हॉल से कक्षाओं का संचालन किया जा रहा है। कॉलेज में प्रतियोगिता परीक्षाओं में निपुणता प्रदान करने के लिए नियमित रूप से प्रतियोगिता दक्षता कार्यक्रम के अंतर्गत ऑनलाइन क्लासेज व प्रत्यक्ष क्लासेज का आयोजन किया जा रहा है, जो विद्यार्थियों की पढ़ाई का आसान बना रहा है।

X
Balotra News - rajasthan news two crore rupees received from rusa mbt college becomes high tech lack of lecturers away from e class
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना