• Home
  • Rajasthan News
  • Bandikui News
  • विधायक बोली- एक्सईएन कहते हैं एईएन-जेईएन नाकारा, उधर एईएन-जेईएन कहते हैं एक्सईएन नहीं देते सामान
--Advertisement--

विधायक बोली- एक्सईएन कहते हैं एईएन-जेईएन नाकारा, उधर एईएन-जेईएन कहते हैं एक्सईएन नहीं देते सामान

कार्यालय संवाददाता | बांदीकुई शहर में पेयजल संकट का मुद्दा बुधवार को राज्य विधानसभा में गूंजा है। क्षेत्रीय...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:00 AM IST
कार्यालय संवाददाता | बांदीकुई

शहर में पेयजल संकट का मुद्दा बुधवार को राज्य विधानसभा में गूंजा है। क्षेत्रीय विधायक डॉ. अलका सिंह ने बांदीकुई सहित बसवा कस्बे में पेयजल संकट से परेशान लोगों की आवाज को पुरजोर तरीके से विधानसभा में रखते हुए शीघ्र समाधान की मांग रखी। विधायक ने कहा कि पेयजल को लेकर बांदीकुई में जलदाय विभाग में खुलम खुल्ला भ्रष्टाचार चल रहा है।

विधायक डॉ. अलका सिंह ने विधानसभा में इस समस्या को ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के दौरान जलदाय मंत्री से इसके समाधान की मांग रखी। उन्होंने कहा कि उपखंड मुख्यालय बांदीकुई एवं तहसील मुख्यालय बसवा में लोग पेयजल को लेकर परेशान है।

विधायक ने कहा कि बांदीकुई एवं बसवा में पेयजल व्यवस्था को ठीक करने की जिम्मेदारी निभाने वाले अधिकारी समस्या समाधान कराने के बजाय एक दूसरे पर नकारा होने के आरोप लगा रहे हैं। एक्सईएन से बात करते हैं तो वे कहते हैं कि सात दिन में व्यवस्था ठीक हो जाएगी, लेकिन सभापति महोदय एक्सईएन के ये सात दिन आज तक पूरे नहीं हुए। एक्सईएन कहते हैं कि एईएन-जेईएन नाकारा हैं, एईएन-जेईएन बोलते हैं एक्सईएन काम कराने के लिए सामान ही नहीं देते और न टेंडर करा रहे हैं।

विधानसभा में बांदीकुई विधायक अलका सिंह ने उठाया पेयजल संकट का मुद्दा

मंत्रीजी के पास जाते हैं तो चीफ इंजीनियर से करा देते हैं बात : विधायक ने कहा कि समस्या समाधान के लिए वे जलदाय मंत्री के पास जाती है तो मंत्री महोदय चीफ इंजीनियर से बात करा देते हैं। इसके बावजूद भी समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है। विधायक ने कहा कि जलदाय विभाग के हालात इतने खराब हैं कि 3 माह के अंतराल में शहर में पांच जगह लीकेज तक ठीक नहीं हुए। उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर हम स्थानीय स्तर से लेकर मंत्री तक अवगत करा चुके हैं लेकिन लीकेज ठीक नहीं हो पाए।

31 मार्च तक लग जाएंगे 16 ट्यूबवेल : विधायक ने कहा कि बांदीकुई में मीठे पानी वाले ट्यूबवेल पर तैनात जलदाय विभाग के कर्मचारी भ्रष्टाचार कर रहे हैं। विधायक ने बताया कि विधानसभा में उठाए मुद्दे पर जलदाय मंत्री की ओर पंचायतीराज मंत्री राजेन्द्र सिंह राठौड़ ने आश्वासन दिया कि 31 मार्च तक 16 ट्यूबवैल लगवा दिए जाएंगे साथ ही नकारा ट्यूबवैलों के स्थान पर नए की मंजूरी दी जाएगी। तीन दिन में लीकेज ठीक हो जाएंगे। चीफ इंजीनियर विधायक के साथ बांदीकुई जाकर पेयजल व्यवस्था का जायजा लेंगे कि प्राब्लम कैसे हो रही है।