• Home
  • Rajasthan News
  • Banswara News
  • सामाजिक संस्थाओं ने कांची कामकोटी पीठ के शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती को दी भावाजंलि
--Advertisement--

सामाजिक संस्थाओं ने कांची कामकोटी पीठ के शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती को दी भावाजंलि

भास्कर संवाददाता| बांसवाड़ा कांची कामकोटी पीठ के शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती के ब्रह्मलीन होने पर शहर के...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 07:30 AM IST
भास्कर संवाददाता| बांसवाड़ा

कांची कामकोटी पीठ के शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती के ब्रह्मलीन होने पर शहर के प्रसिद्ध श्रीसिद्धि विनायक गणपति मंदिर में विभिन्न संस्थाओं ने शोक सभा का आयोजन किया गया।

वक्ताओं ने सनातन संस्कृति के सर्वोच्च गुरु और वेद, वेदांग, उपनिषद् के ज्ञान को विश्व समुदाय तक पहुंचाने वाले व्यक्तित्व को अपने श्रद्धासुमन अर्पित किए। वाग्वर वैदिक संस्कृति परिषद के संयोजक जयप्रकाश पड्ंया ने कहा कि हिन्दू चेतना जगाने व भारतीय संस्कृति के प्रचार-प्रसार में जयेंद्र सरस्वती ने अपना संपूर्ण जीवन समर्पित कर दिया। सिद्धि विनायक बचत और साख समिति के अध्यक्ष भगवतीशंकर द्विवेदी ने कहा कि शंकराचार्य महाराज द्वारा नई पीढ़ी को सनातन संस्कृति की जो शिक्षा दी गई, उसको सदैव याद रखा जाएगा। गायत्री मंडल के संरक्षक डाॅ. दिनेशचंद्र भट्ट ने कहा कि दुख की इस घड़ी में समूचा राष्ट्र उनको श्रद्धा सुमन अर्पित कर रहा है।

श्रीगणेश भक्त मंडल के अध्यक्ष डाॅ. दीपक द्विवेदी ने कहा कि आदी जगद्गुरु के संदेश को जन-जन तक पहुंचाने में शंकराचार्य महाराज का अहम योगदान है। शोक सभा में श्रीमद् भागवत समिति के अध्यक्ष सुरेश गुप्ता, मुरलीधर भट्ट, देवेन्द्र शाह, मनोहर जोशी, विनय भट्ट, अजय त्रिवेदी सहित विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारियों ने शंकराचार्य महाराज के व्यक्तित्व तथा कृतित्व पर प्रकाश डाला। अंत में दो मिनट का मौन रख शंकराचार्य महाराज को श्रद्धांजलि अर्पित की।

त्रिवेदी ब्राह्मण समाज ने दी श्रद्धाजलि

छींच. कांची कोटी मठ के 69वें प्रमुख शंकराचार्य रहे जयेंद्र सरस्वती का निधन हो जाने पर शनिवार को छींच में त्रिवेदी मेवाड़ा ब्राह्मण समाज की ओर से भावांजलि सभा रखी गई। सभी त्रिमेस समाजजनों ने शंकराचार्य को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी। श्रद्धांजलि देने वालों में परमेश्वर पंडया, चंद्रकांत उपाध्याय, हरिकृष्ण पंडया, हरीश उपाध्याय, वासुदेव पंडया, हितेश पुरोहित समेत समाजजन शामिल रहे।