Hindi News »Rajasthan »Banswara» सामाजिक संस्थाओं ने कांची कामकोटी पीठ के शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती को दी भावाजंलि

सामाजिक संस्थाओं ने कांची कामकोटी पीठ के शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती को दी भावाजंलि

भास्कर संवाददाता| बांसवाड़ा कांची कामकोटी पीठ के शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती के ब्रह्मलीन होने पर शहर के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 04, 2018, 07:30 AM IST

सामाजिक संस्थाओं ने कांची कामकोटी पीठ के शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती को दी भावाजंलि
भास्कर संवाददाता| बांसवाड़ा

कांची कामकोटी पीठ के शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती के ब्रह्मलीन होने पर शहर के प्रसिद्ध श्रीसिद्धि विनायक गणपति मंदिर में विभिन्न संस्थाओं ने शोक सभा का आयोजन किया गया।

वक्ताओं ने सनातन संस्कृति के सर्वोच्च गुरु और वेद, वेदांग, उपनिषद् के ज्ञान को विश्व समुदाय तक पहुंचाने वाले व्यक्तित्व को अपने श्रद्धासुमन अर्पित किए। वाग्वर वैदिक संस्कृति परिषद के संयोजक जयप्रकाश पड्ंया ने कहा कि हिन्दू चेतना जगाने व भारतीय संस्कृति के प्रचार-प्रसार में जयेंद्र सरस्वती ने अपना संपूर्ण जीवन समर्पित कर दिया। सिद्धि विनायक बचत और साख समिति के अध्यक्ष भगवतीशंकर द्विवेदी ने कहा कि शंकराचार्य महाराज द्वारा नई पीढ़ी को सनातन संस्कृति की जो शिक्षा दी गई, उसको सदैव याद रखा जाएगा। गायत्री मंडल के संरक्षक डाॅ. दिनेशचंद्र भट्ट ने कहा कि दुख की इस घड़ी में समूचा राष्ट्र उनको श्रद्धा सुमन अर्पित कर रहा है।

श्रीगणेश भक्त मंडल के अध्यक्ष डाॅ. दीपक द्विवेदी ने कहा कि आदी जगद्गुरु के संदेश को जन-जन तक पहुंचाने में शंकराचार्य महाराज का अहम योगदान है। शोक सभा में श्रीमद् भागवत समिति के अध्यक्ष सुरेश गुप्ता, मुरलीधर भट्ट, देवेन्द्र शाह, मनोहर जोशी, विनय भट्ट, अजय त्रिवेदी सहित विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारियों ने शंकराचार्य महाराज के व्यक्तित्व तथा कृतित्व पर प्रकाश डाला। अंत में दो मिनट का मौन रख शंकराचार्य महाराज को श्रद्धांजलि अर्पित की।

त्रिवेदी ब्राह्मण समाज ने दी श्रद्धाजलि

छींच. कांची कोटी मठ के 69वें प्रमुख शंकराचार्य रहे जयेंद्र सरस्वती का निधन हो जाने पर शनिवार को छींच में त्रिवेदी मेवाड़ा ब्राह्मण समाज की ओर से भावांजलि सभा रखी गई। सभी त्रिमेस समाजजनों ने शंकराचार्य को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी। श्रद्धांजलि देने वालों में परमेश्वर पंडया, चंद्रकांत उपाध्याय, हरिकृष्ण पंडया, हरीश उपाध्याय, वासुदेव पंडया, हितेश पुरोहित समेत समाजजन शामिल रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Banswara News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: सामाजिक संस्थाओं ने कांची कामकोटी पीठ के शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती को दी भावाजंलि
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Banswara

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×