• Home
  • Rajasthan News
  • Banswara News
  • क्रिकेट खेल रहा बेटा शाम को घर नहीं लौटा, सुबह पेड़ पर लटकी मिली लाश
--Advertisement--

क्रिकेट खेल रहा बेटा शाम को घर नहीं लौटा, सुबह पेड़ पर लटकी मिली लाश

भास्कर संवाददाता | गामड़ी अहाड़ा गांव में दिनभर क्रिकेट खेल रहे युवक को दो बार उसका भाई बुलाने के लिए भी गया, लेकिन...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 04:35 AM IST
भास्कर संवाददाता | गामड़ी अहाड़ा

गांव में दिनभर क्रिकेट खेल रहे युवक को दो बार उसका भाई बुलाने के लिए भी गया, लेकिन वह नहीं लौटा। रात तक घर नहीं लौटने पर परिवार के लोगों ने उसकी तलाश शुरू की। रविवार सुबह उसका शव गांव में ही आम के पेड़ पर रस्सी के फंदे पर लटका मिला। इस बीच हत्या के संदेह को लेकर 5 घंटे तक शव को फंदे से बिना उतारे ही हंगामा होता रहा।

घटना शनिवार-रविवार रात के समय की है। माड़ा फला वेजनोत निवासी शांतिलाल बरंडा ने पुलिस को रिपोर्ट में बताया कि उसका बेटा दीपक बरंडा मीणा (22) गांव में क्रिकेट खेलने गया था। दोपहर करीब 3 बजे बड़ा बेटा जितेंद्र उसे बुलाकर घर लेकर आया, लेकिन बिना खाना खाए ही वापस चला गया। शाम करीब 6 बजे जितेंद्र उसे फिर से बुलाने गया तो दीपक नहीं मिला। उसे कई जगह ढूंढ़ा, लेकिन उसका कोई पता नहीं लग सका। रात को भी घर पर नहीं आया।

सिर्फ वही नकारात्मक खबर, जो अापको जानना जरूरी है।

पिता ने कहा : उसके बेटे का 2 साल से था प्रेम संबंध

संदेह जता रहे लोगों से समझाइश करती पुलिस।

एडीएम, एसडीएम, डीएसपी ने संभाला मोर्चा

युवक की मौत पर हंगामे के बाद माहौल तनावपूर्ण हो गया। परिजन और गांव के लोग मौत पर संदेह जताते हुए युवती के घर पर शव को रखने को लेकर हंगामा करते रहे। फिर आरोपियों को पकड़कर लाने के लिए बैठ गए। तनावपूर्ण माहौल को देखते हुए एडीएम विनय पाठक, एसडीएम दीपक मेहता, डीएसपी माधोसिंह सोढा, सदर सीआई सुरेंद्रसिंह के अलावा पुलिस लाइन से अतिरिक्त जाब्ता मौके पर पहुंचा। पुलिस ने समझाया कि मामले में पोस्टमार्टम हो जाने दें, इसमें जो भी रिपोर्ट आएगी उसके अनुसार ही कार्रवाई होगी, लेकिन लोग तो पहले कार्रवाई की मांग पर पड़े थे। इस पर पुलिस ने भरोसा दिलाया कि जिन लोगों पर वह संदेह जता रहे हैं, उनसे थाने में पूछताछ चल रही है।

5 घंटे बाद फंदे से उतारा शव : युवक की मौत की खबर सुबह 6 बजे ही लग गई थी, लेकिन उसकी मौत पर हंगामे के चलते सबकी संवेदनाएं मर गई थी। पुलिस भी शव को उतारकर मामला शांत करना चाहती थी, लेकिन लोग जब तक मामले का निबटारा नहीं हो जाए, तब तक शव को नहीं उतारने पर अड़े रहे। समझाइश के बाद करीब 11 बजे शव को फंदे से उतारा।

मृतक दीपक के पिता शांतिलाल ने रिपोर्ट में बताया है कि उसके बेटे का दो साल से एक युवती के साथ प्रेम संबंध था। इस कारण लड़की के परिवारवालों ने उससे झगड़ा भी किया था। इसी वजह से उन लोगों ने उसके बेटे की पहले हत्या कर दी, फिर उसे फंदे पर लटका दिया।