Hindi News »Rajasthan »Banswara» 30 लाख की चोरी के संदिग्ध को छोड़ा तो वह फिर ले उड़ा 7 लाख की नकदी-जेवर

30 लाख की चोरी के संदिग्ध को छोड़ा तो वह फिर ले उड़ा 7 लाख की नकदी-जेवर

भास्कर संवाददाता | बांसवाड़ा/परतापुर इसे पुलिस की लापरवाही मानें या मिलीभगत। जहां संदिग्ध के पूछताछ में वारदात...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 05:00 AM IST

भास्कर संवाददाता | बांसवाड़ा/परतापुर

इसे पुलिस की लापरवाही मानें या मिलीभगत। जहां संदिग्ध के पूछताछ में वारदात कबूलने के बाद भी उसे गिरफ्तार नहीं कर छोड़ दिया गया। जिसके बाद उसी संदिग्ध ने दूसरी बड़ी वारदात को अंजाम दे दिया। जांच में लापरवाही की पोल खोलता ऐसा ही एक मामला अरथूना के गामड़ी नारायण गांव में सामने आया है, जहां अरथूना थाने के थानेदार और जौलाना चौकी प्रभारी मनोहरसिंह ने 30 लाख से ज्यादा की चोरी के केस में एक संदिग्ध को मनमर्जी से जाने दिया। जिससे चोरी का खुलासा नहीं हो पाया उल्टे उसी संदिग्ध ने दूसरी बड़ी चोरी को अंजाम दे डाला।

पीड़ित रमेश ने बताया कि गत वर्ष 16 जून को गांव में उसके मकान में 30 लाख की चाेरी की गई थी। रमेश ने इसके बाद थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई और जांच तत्कालीन जौलाना चौकी प्रभारी मनोहरसिंह को सौंपी गई। पीड़ित रमेश कई बार थाने और चौकी के चक्कर काटता रहा लेकिन चोरी का खुलासा नहीं हुअा। रमेश का दावा है कि इसी बीच तत्कालीन थानाधिकारी सुभाष परमार और मनोहरसिंह ने मोटी बस्सी के एक युवक ललित को पकड़ा था।

इस युवक ने रमेश के घर चोरी करने की बात कबूली थी। उसने इस बात का भी खुलासा किया था कि चोरी का पैसा कहां खर्च किया, किसे दिए। इस वारदात के बाद आरोपी ने 2 लाख कैश मोटी बस्सी गांव के ही एक युवक को दिए थे। इसके अलावा सागवाड़ा में एक ज्वैलर्स की दुकान से 5 लाख रुपए का सोना और 500 ग्राम चांदी खरीदी। 50 हजार रुपए एक होटल के मालिक को दिए। इसके अलावा आरोपी ने जीप खरीदने पर ढाई लाख का बकाया भुगतान किया और परतापुर में उसकी प|ी के नाम से फ्लेट खरीदा और प|ी के नाम से बैंक में खाता खुलवाया। युवक अपने मामा के घर गामड़ी नारायण आया तब वारदात को अंजाम दिया। लेकिन इसके बाद भी पुलिस उसे छोड़ दिया। इस संबंध में तत्कालीन थानाधिकारी से संपर्क करने का प्रयास किया लेकिन नहीं हो सका। अब रमेश ने इस मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक को पत्र दिया है।

रैयाना में दिनदहाड़े घुसा था घर में

21 मार्च को रैयाना गांव में दिनदहाड़े सूने मकान में चोरी की हुई। जहां से चोर 7 लाख कीमत के जेवर और कैश चुरा ले गए। रमेश के दावा है कि इस चोरी के मामले में पुलिस ने जिस आरोपी को पकड़ा उसी ने उसके मकान में भी चोरी की थी। पुलिस उसी वक्त उसे गिरफ्तार कर लेती तो यह दूसरी बड़ी चोरी नहीं होती।

पूछताछ में सामने आया है कि उसने चोरी के बाद 15 लाख से ज्यादा खर्च किए हैं। मेरे और डीएसपी द्वारा उस मामले में पूछताछ की गई है। हम उसी मामले में जांच कर रहे हैं। कॉल डिटेल निकालकर हम जल्द ही खुलासा कर देंगे कि गामड़ी गांव में चोरी किसने की थी। - गेहरीलाल गुर्जर, थानाधिकारी, अरथूना।

मुझे अनुसंधान का कार्य दिया था। हम गामड़ी वाले प्रकरण में ललित को पकड़कर थाने लाए थे। उसके बाद एसएचओ ने क्या पूछताछ की इसकी जानकारी मुझे नहीं है। - मनोहर सिंह चौकी प्रभारी, जौलाना।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Banswara

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×