--Advertisement--

करावाड़ा में नशा मुक्त रहने का लिया संकल्प

Banswara News - करावाड़ा| सीमलवाड़ा उपखंड के सभी गुजराती पाटीदार समाज की ओर से बुŠावार से नशा मुक्त रहने का संकल्प लिया। इसके पहले...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 01:20 PM IST
करावाड़ा में नशा मुक्त रहने का लिया संकल्प
करावाड़ा| सीमलवाड़ा उपखंड के सभी गुजराती पाटीदार समाज की ओर से बुŠावार से नशा मुक्त रहने का संकल्प लिया। इसके पहले सीमलवाड़ा में आयोजित बैठक के दौरान इस बात का समाज स्तर पर निर्णय किया गया था।

माघ पूर्णिमा के दिन करावाड़ा में आयोजित बैठक से पहले गायत्री परिवार के साथ मिलकर दीप यज्ञ का आयोजन किया गया। जिसमें हवन और पूजा की गई। पाटीदार समाज के पदाŠिाकारियों और लोगों ने मिलकर इसमें आहुतियां दी और भगवान से प्रार्थना की, नशे से दूर रहें और हमेशा ही स्वस्थ रहें। गौरतलब है कि पाटीदार समाज पहला समाज है, जि‹न्होंने नशे से दूर रहने के लिए हवन और पूजन के साथ ही संकल्प का अभियान चलाया है। साथ ही यह अभियान बुŠावार से शुरू हुआ है जो नियमित रूप से चलेगा और जब तक समाज व्यसन मुक्त नहीं हो जाता है, तब तक इस अभियान को चलाने का निर्णय किया गया। कार्यक्रम के आखिर में कथावाचक कमलेश भाई शास्त्री ने समाजजनों को संबोŠिधत किया।

शास्त्री ने कहा कि व्यसन से दूर रहना ही एक सबसे बड़ा संस्कार है और इस संस्कार के दम पर समाज अपनी नईद िशा तय करेगा। शास्त्री ने कहा कि यह पहला समाज है, जिसने एक अभियान के तौर पर बीड़ा उठाते हुए युवाओं और समाज के विकास की पहल की है। इसका असर दूसरे समाजों पर भी पड़ेगा। इस अवसर पर समाज के वरिष्ठ पदाŠिाकारी और बड़ी संख्या में महिलाएं मौजूद थी। यह अभियान 91 गांवों में चलेगा। यह समाज पंचवाड़ी परिसर में हुआ। इस अवसर पर गाय˜त्री परिवार व समाज के भूपेंद्र पंड्या, तुलसीराम जोशी, हरिमुख भट्ट, नाराय‡ा, रम‡ालाल पाटीदार, अमृतलाल, किशोरीलाल पाटीदार, केशवलाल पाटीदार, पुरुषोžाम पाटीदार मौजूद थे।

बैठक में लिया निर्णय-जब तक समाज व्यसन मुक्त नहीं होगा, तब तक चलेगा अभियान

व्यसन मुक्त रहने से समाज को मिलेगी नई दिशा

दीप यज्ञ एवं व्यसन मुक्त अभियान कार्यक्रम में धर्म सभा को सं‍बोधित करते कमलेश शास्त्री।

करावाड़ा| सीमलवाड़ा उपखंड के सभी गुजराती पाटीदार समाज की ओर से बुŠावार से नशा मुक्त रहने का संकल्प लिया। इसके पहले सीमलवाड़ा में आयोजित बैठक के दौरान इस बात का समाज स्तर पर निर्णय किया गया था।

माघ पूर्णिमा के दिन करावाड़ा में आयोजित बैठक से पहले गायत्री परिवार के साथ मिलकर दीप यज्ञ का आयोजन किया गया। जिसमें हवन और पूजा की गई। पाटीदार समाज के पदाŠिाकारियों और लोगों ने मिलकर इसमें आहुतियां दी और भगवान से प्रार्थना की, नशे से दूर रहें और हमेशा ही स्वस्थ रहें। गौरतलब है कि पाटीदार समाज पहला समाज है, जि‹न्होंने नशे से दूर रहने के लिए हवन और पूजन के साथ ही संकल्प का अभियान चलाया है। साथ ही यह अभियान बुŠावार से शुरू हुआ है जो नियमित रूप से चलेगा और जब तक समाज व्यसन मुक्त नहीं हो जाता है, तब तक इस अभियान को चलाने का निर्णय किया गया। कार्यक्रम के आखिर में कथावाचक कमलेश भाई शास्त्री ने समाजजनों को संबोŠिधत किया।

शास्त्री ने कहा कि व्यसन से दूर रहना ही एक सबसे बड़ा संस्कार है और इस संस्कार के दम पर समाज अपनी नईद िशा तय करेगा। शास्त्री ने कहा कि यह पहला समाज है, जिसने एक अभियान के तौर पर बीड़ा उठाते हुए युवाओं और समाज के विकास की पहल की है। इसका असर दूसरे समाजों पर भी पड़ेगा। इस अवसर पर समाज के वरिष्ठ पदाŠिाकारी और बड़ी संख्या में महिलाएं मौजूद थी। यह अभियान 91 गांवों में चलेगा। यह समाज पंचवाड़ी परिसर में हुआ। इस अवसर पर गाय˜त्री परिवार व समाज के भूपेंद्र पंड्या, तुलसीराम जोशी, हरिमुख भट्ट, नाराय‡ा, रम‡ालाल पाटीदार, अमृतलाल, किशोरीलाल पाटीदार, केशवलाल पाटीदार, पुरुषोžाम पाटीदार मौजूद थे।

X
करावाड़ा में नशा मुक्त रहने का लिया संकल्प
Astrology

Recommended

Click to listen..