--Advertisement--

पीने का पानी और रोजगार बड़े मुद्दों के कारण भीमा भाई पर भारी निर्दलीय रमीला

Banswara News - भास्कर संवाददाता. बांसवाड़ा मामा बालेश्वर दयाल का कार्यक्षेत्र रहे कुशलगढ़ क्षेत्र में शुरू से जनता दल का गढ़...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 04:06 AM IST
Kushalgarh News - due to huge issues of drinking water and employment bhima bhai has a huge independence
भास्कर संवाददाता. बांसवाड़ा

मामा बालेश्वर दयाल का कार्यक्षेत्र रहे कुशलगढ़ क्षेत्र में शुरू से जनता दल का गढ़ रहा है। जहां पिछले चुनाव में पहली बार भाजपा के भीमा भाई जीते थे। कांग्रेस ने यहां अपना परचम तो बनाया, लेकिन सत्ता तक आने में चुकती रही। बांसवाड़ा जिले में इस बार सबसे ज्यादा मतदान कुशलगढ़ विधानसभा में हुआ है। यह 86.46 फीसदी मतदान इस बार कुशलगढ़ का नतीजा चौंकाने वाला ला सकता है। जहां पीने के पानी और रोजगार के अनसुलझे मुद्दों के कारण 2013 में पहली बार भाजपा की जीती हुई सीट वापस फिसलती नजर आ रही है। लोकनीति, सीएसडीएस की ओर से क्षेत्र में किए गए अध्ययन के नतीजे तो निर्दलीय प्रत्याशी रमीला खड़िया के पक्ष में जा रहे हैं। लोकनीति,सीएसडीएस राजस्थान स्टेट कॉ-कोर्डिनेटर डॉ. निधि जैन के अनुसार यह अध्ययन कुशलगढ़ के ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में चुनाव के दौरानं किया गया। इसमें उत्तरदाताओं से 50 से अधिक सवाल पूछे गए और उनकी राय जानी गई। पूरे विधानसभा क्षेत्र में 90.9 फीसदी ग्रामीण और 9.1 फीसदी शहरी उत्तरदाताओं से बात की गई। यह जानने का प्रयास किया कि उनका चुनावी मूड कैसा है। पूरे राजस्थान में कूल 5027 उत्तरदाताओं से बात की गई, जिसमें कुशलगढ़ विधानसभा क्षेत्र भी अध्ययन का एक हिस्सा रहा। यह अध्ययन निर्दशन पद्धति से किया गया है।

मतदान के बाद शनिवार को कार्यकर्ताओं से चर्चा करती निर्दलीय रमीला खड़िया।

पीने पानी बड़ी समस्या, रोजगार, बिजली और यातायात भी अहम मुद्दे

अध्ययन में उत्तरदाताओं से कुशलगढ़ के प्रमुख मुद्दे जाने तो 41.9 फीसदी लोगों ने कहा कि क्षेत्र में पीने की पानी की समस्या सबसे बड़ा और गंभीर मुद्दा है। 12.4 फीसदी लोगों का कहना है कि रोजगार नहीं मिलने के कारण क्षेत्र से पलायन करना पड़ रहा है। इसके अलावा 13.4 फीसदी लोगों की आवास संबंधित समस्या, 11.3 फीसदी लोगों ने बिजली को मुद्दा बताया। 9.1 फीसदी लोगों ने कहा कह नहीं सकते।

अध्ययन में शामिल लोग

इस अध्ययन में शामिल उत्तरदाताओं का वर्ग समूह था जो इस प्रकार रहा


नहीं चाहते भाजपा सरकार

सीएसडीएस के अनुसार लोगों से जब यह सवाल किया गया कि क्या वर्तमान भाजपा सरकार को फिर से मौका दिया जाना चाहिए तो कुशलगढ़ विधानसभा क्षेत्र के सर्वाधिक 45.71 फीसदी लोगों ने कहा- नहीं। 30.6 फीसदी लोगों का कहना है हां और 23.7 फीसदी ने कहा कह नहीं सकते।

जनता दल के पक्ष में 0.5 फीसदी लोग

लोगों से सबसे प्रमुख सवाल पूछा गया कि आज विधानसभा चुनाव हो जाए तो पहली पसंद कौन होगा। इसमें रमीला आगे हैं। 60.3 फीसदी लोगों की पसंद रमीला रही। 33.9 फीसदी ने भाजपा तो महज 0.5 फीसदी ने कहा एलजेडी। 4.3 फीसदी ने कहा कह नहीं सकते।

X
Kushalgarh News - due to huge issues of drinking water and employment bhima bhai has a huge independence
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..