Hindi News »Rajasthan »Banswara» अक्षय तृतीया से शुरू होगा शादियों का सीजन, तीन साल बाद बाजार में दिखी सोने की चमक

अक्षय तृतीया से शुरू होगा शादियों का सीजन, तीन साल बाद बाजार में दिखी सोने की चमक

अक्षय तृतीया से शुरू होने वाले शादियों के सीजन के चलते बाजारों में भी रौनक बढ़ गई है। बाजारों में खरीददारी का दौर बढ़...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 06:50 AM IST

अक्षय तृतीया से शुरू होने वाले शादियों के सीजन के चलते बाजारों में भी रौनक बढ़ गई है। बाजारों में खरीददारी का दौर बढ़ गया है। ज्वैलरी की दुकानों से लेकर साड़ियों की दुकानों पर खासी भीड़ देखी जा सकती है। 18 अप्रैल को अक्षय तृतीया के साथ शादियों के सीजन की शुरूआत हो जाएगी। यह पर्व सोने की खरीद के लिए भी विशेष माना जाता है। शादी में उपहार देने के लिए इस समय जमकर आभूषण की खरीद हो रही है। एक्साइज में ड्यूटी के विरोध और नोटबंदी और किसानों की फसल खराब होने के कारण तीन साल से प्रभावित सर्राफा कारोबार इस बार चमक उठा है। इस बार अच्छी फसल के चलते किसान भी खुशी के साथ इस बार जमकर खरीददारी कर रहे हैं।

केवल त्योहारों पर दिखी बाजारों में रौनक

पिछले दो साल में सूखे की मार, एक्साइज ड्यूटी को लेकर हुए आंदोलन और नोटबंदी ने सर्राफा कारोबार को काफी प्रभावित किया है। इस दौरान बाजार में मामूली तेजी सिर्फ त्योहारों पर ही नजर आई। सर्राफा कारोबारियों के अनुसार सोना-चांदी के आभूषण बनाने वाले कारीगर और आम कारोबारी काफी निराश रहे, लेकिन इस बार फसल अच्छी होने से बाजार में रौनक बढ़ी है। बीते सालों की अपेक्षा सोना इस बार कुछ महंगा है, लेकिन लोग अक्षय तृतीया पर सोने की खरीद को शुभ मानने की परंपरा को निभा रहे हैं। शादी के सीजन में लोगों की सर्वाधिक पसंद स्टाइलिश आभूषण है, क्योंकि इनमें कई डिजाइनें हैं।

हड़ताल, नोटबंदी, जीएसटी से प्रभावित हुआ था बाजार

ज्वैलरी बाजार में दुकानदारों को एक्साइज डयूटी को लेकर हड़ताल, नोटबंदी, जीएसटी ने सर्राफा कारोबार को प्रभावित किया था। बाजार से ग्राहक कुछ दूर हो गए थे, लेकिन इस बार अक्षय तृतीया व्यापारियों के लिए बेहद अच्छी होगी। व्यापारी अभय जैन ने बताया कि किसानों की फसल बिकने से बाजार में रौनक है। ग्रामीण क्षेत्रों के लोग भी सोने-चांदी के रेडीमेड आभूषण खरीद रहे हैं।

जुलाई तक चलेगा शादियों का सीजन

अक्षय तृतीया के साथ गर्मियों में शादियों का सीजन शुरू हो जाएगा। पंडित अजय जोशी ने बताया की अक्षय तृतीया पर सभी शुभ कार्य होते हैं। भगवान परशुराम, हयग्रीव और नर नारायण का अवतरण हुआ था। इसे अक्षय तिथि मानी जाती है। इस पर्व पर स्वर्ण खरीदने की भी परंपरा है। उनके अनुसार शादी के कार्यक्रम जुलाई तक चलेंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Banswara

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×