विज्ञापन

मजदूरी करने गए बुजुर्ग की मौत, हत्या की आशंका जता परिजनों ने नहीं उठाया शव

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 09:06 AM IST

Banswara News - भास्कर संवाददाता| चिड़ियावासा बड़लिया गांव के पास टिंबा महूड़ी में मंगलवार दोपहर करीब 12 बजे 65 साल के एक बुजुर्ग...

Mor News - rajasthan news the death of the elderly who did not want to be paid was not raised
  • comment
भास्कर संवाददाता| चिड़ियावासा

बड़लिया गांव के पास टिंबा महूड़ी में मंगलवार दोपहर करीब 12 बजे 65 साल के एक बुजुर्ग की मौत हो गई। जो सुबह घर से मजदूरी के लिए निकला था। मौत की सूचना पर परिजन मौके पर तो पहुंचे लेकिन हत्या की आशंका के चलते उन्होंने शव को मौके से नहीं उठाया और वहां से चले गए। इस कारण रात तक शव मौके पर ही पड़ा रहा।

परिजनों का आरोप है कि जिसके घर के पास बुजुर्ग की मौत हुई हैं उसने ही उसकी हत्या की है। जानकारी के अनुसार काकरवापाड़ा दावोड़ बस्ती निवासी रंगजी 65 पुत्र भोगजी सुबह घर से निकला था। टिंबा महूड़ी में मोहन पुत्र भुराजी रेबारी के घर के आंगन में उसकी मौत हो गई। जिस पर मोहन ने इसकी सूचना मृतक के परिजनों को दी। लेकिन जब परिजन वहां पहुंचे तो बाद में वो मोहन पर ही हत्या का आरोप लगाने लगे। उसके घर में तोड़फोड़ और जलाने की धमकी दी।

मोहन ही बुलाकर ले गया था रंगजी को- परिजन : मृतक के परिजनों का विरोध और गुस्सा देखते हुए मोहन थाने पहुंचा और पुलिस को घटना की जानकारी दी। इधर पीछे पीछे मृतक के परिजन भी थाने पहुंचे लेकिन वहां मोहन को पहले से देख उन्होंने थाने में कोई रिपोर्ट नहीं दी और सीधे एसपी के पास पहुंचे और वहां रिपोर्ट दी। मृतक की प|ी रकमा बाई ने एसपी कार्यालय पहुंचकर बताया कि मेरे पति को सुबह मोहन रैबारी ही घर पर आकर मजदूरी के लिए ले गया था। दोपहर में में मोहन और अकरम घर आए और रंगजी की मौत होने की जानकारी दी। परिजनों ने बताया कि रंगजी मोहन के घर पर लकड़ी फाड़ने और खोटे रोपने के लिए गया था। पुलिस अधीक्षक को दिए ज्ञापन में रंगजी की हत्या का आरोप लगाते हुए निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई की मांग की। वहीं इस मामले में मोहन ने बताया कि उसके घर पर आज कोई काम नहीं था। रंगजी को उसने नहीं बुलाया था, वो हर रोज की भांति मंगलवार को भी यहां आया था, यहां पहुंचा और पानी पीने के बाद आंगन में बैठा था आैर अचानक उसकी मौत हो गई।

चिड़ियावासा. यह तस्वीर पुलिस की नाकामी है। किसी दूसरे के घर में 12 घंटे से भी अधिक समय तक शव पड़ा रहा। पुलिस तमाशबीन बनी।

रात तक नहीं उठाया शव, पुलिस करेगी कार्रवाई

परिजनों ने शव को मौके से नहीं उठाया और वापस अपने घर लौट गए। पुलिस ने भी समझाइश की लेकिन परिजन माने नहीं। बताया जा रहा है कि परिजन इस मामले में मौताणे की मांग पर अड़े हुए हैं,जिस कारण समझौता नहीं हो पाया है। इस मामले में सदर थाना सीआई बाबूलाल मोरारिया से बात की तो बताया कि परिजनों के नहीं होने की वजह से हम शव नहीं उठा सकते। इस मामले में मोहन को तो हम थाने ले आए। शव को रात तक दूसरे के घर पर रखे जाने के मामले में प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद भी अगर कोई और कदम परिजन उठाते हैं तो उस पर भी कार्रवाई की जाएगी। प्रथम दृष्टया तो मृतक की पूरी पड़ताल की तो कहीं स्पष्ट नहीं हुआ की उसकी हत्या की गई है, फिर भी परिजन कोई रिपोर्ट देते हैं तो जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

X
Mor News - rajasthan news the death of the elderly who did not want to be paid was not raised
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन