• Hindi News
  • Rajasthan
  • Banswara
  • Mor News rajasthan news the tricolor was hoisted on the land of pakistan in 1966 republic day was also celebrated by the jambajs of hind

पाक की जमीं पर 1966 में तिरंगा फहरा दिया, गणतंत्र दिवस भी मनाया था हिंद के जांबाजों ने

Banswara News - भिवाड़ी। मेरा जन्म नारनौल के पास जैलावास गांव में हुआ। 18 साल की उम्र में पूरी उम्र मे सेना में भर्ती हो गए। वर्ष 1971...

Jan 26, 2020, 09:50 AM IST
Mor News - rajasthan news the tricolor was hoisted on the land of pakistan in 1966 republic day was also celebrated by the jambajs of hind
भिवाड़ी। मेरा जन्म नारनौल के पास जैलावास गांव में हुआ। 18 साल की उम्र में पूरी उम्र मे सेना में भर्ती हो गए। वर्ष 1971 में भारत के पाकिस्तान के साथ संबंध बिगड़ गए थे। मेरी पोस्टिंग मिजोरम में थी। अभी मार्च के माह में छुट्‌टी काटकर ड्यूटी पर लौटा ही था कि जम्मू में चीन की सीमा पर स्थित बुमला में ड्यूटी के आदेश आ गए। बुमला में हालात वही थे जो हालत आज डोकलाम में हैं। तीन दिसंबर को पाकिस्तान ने भारत पर हवाई हमला कर दिया। सैक्टर कमांडर के रूप में मेरे पास 500 जवानों की टुकड़ी थी। हमारी सेना पाकिस्तान को मुंह तोड़ जवाब दे रही थी। लेकिन कहीं ना कहीं हमें चीन का भी भय था। 16 दिसंबर को युद्ध समाप्त हो चुका था। लेकिन वह केवल कागजों में विराम था। पाकिस्तान लगातार सीज फायर तोड़ रहा था। ऐसे में हमारी टुकड़ी वहीं पर डटी रही। 1962 की लड़ाई में बुमला पर चीन का कब्जा हो गया था। लेकिन बाद में अंतरराष्ट्रीय दबाव के बाद उसे पीछे हटने पड़ा। कुछ दिन बाद ही 26 जनवरी थी। मेरी टुकड़ी इस पर्व को मनाने के लिए उत्सुक थी।

आमतौर पर मेकमोहन लाइन पर 200 से 300 जवान रहते थे। लेकिन उस दिन चीन के 1000 से अधिक सैनिक वहां खड़े थे। उनका इरादा हम पर दबाव बनाना था। खैर हमने भी सैनिकों का हौंसला बढ़ाया। तिरंगा लहराकर मिठाई भी बांटी। उस समय संचार के साधन नहीं थे। मैं ड्यूटी पर तैनात था। फरवरी में टेलीग्राम पर मेरे घर से मैसेज आया कि मेरे बेटी हुई है। यह सूचना मुझे मेरे कैप्टन ने दी। उन्होंने कहा मुबारक हो लक्ष्मी हुई है। मैंने पूछा सर कब हुई। उन्होंने कहा कि तीन दिसंबर को। यह वही दिन था जिस दिन हमारी पाकिस्तान से लड़ाई शुरू हुई थी। उन्होंने कहा कि बेटी का नाम क्या रखोगे। मैंने बिना सोचे कह दिया सर यह विजय का प्रतीक है। इसका नाम विजय अंजली होगा। दो साल के बाद फरवरी 1972 में मैं घर पहुंचा। तब तक बेटी एक साल की हो चुकी थी। तब जाकर पहली बार अपनी बेटी को देखा। मेरे दो बेटे और एक बेटी है। एक बेटा भी सेना में कर्नल है।

- जैसा कर्नल चंदगीराम ने भास्कर को बताया

Mor News - rajasthan news the tricolor was hoisted on the land of pakistan in 1966 republic day was also celebrated by the jambajs of hind
X
Mor News - rajasthan news the tricolor was hoisted on the land of pakistan in 1966 republic day was also celebrated by the jambajs of hind
Mor News - rajasthan news the tricolor was hoisted on the land of pakistan in 1966 republic day was also celebrated by the jambajs of hind
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना