• Hindi News
  • Rajasthan
  • Banswara
  • Banswara भामाशाहों के सहयोग से सिंगपुरा स्कूल में टेबल स्टूल, लाइट और खेल सामग्री की सुविधाएं मिली
विज्ञापन

भामाशाहों के सहयोग से सिंगपुरा स्कूल में टेबल स्टूल, लाइट और खेल सामग्री की सुविधाएं मिली

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2018, 02:20 AM IST

Banswara News - ग्राम पंचायत चिरावाला गढ़ा के सिंगपुरा स्कूल में अभिभावकों की मदद से भौतिक सुविधाएं मुहैया करने की अच्छी पहल की...

Banswara - भामाशाहों के सहयोग से सिंगपुरा स्कूल में टेबल स्टूल, लाइट और खेल सामग्री की सुविधाएं मिली
  • comment
ग्राम पंचायत चिरावाला गढ़ा के सिंगपुरा स्कूल में अभिभावकों की मदद से भौतिक सुविधाएं मुहैया करने की अच्छी पहल की गई है। सिंगपुरा के उच्च प्राथमिक स्कूल में 126 बच्चे पढ़ते हैं। स्कूल में प्रधानाध्यापक समेत चार का स्टाफ हैं। स्कूल में बच्चों के शैक्षिक विकास के साथ साथ भौतिक सुविधाएं अभिभावकों और ग्रामीणों के सहयोग से की गई है। स्कूल की खास बात यह है कि यहां के स्टाफ ने अभिभावकों के साथ मिलकर शैक्षिक सहशैक्षिक विकास किया। पहले यहां 1 साल में महज 1500 से 2000 रुपए भामाशाह द्वारा दिए जाते थे। अब हर साल एक लाख रुपए से अधिक की राशि एकत्रित होती हैं। संस्थाप्रधान वीरेंद्रसिंह चौहान, शिक्षक जुगनू भट्ट, जितेंद्र जोशी, पवन ने स्कूल के शैक्षिक और भौतिक स्तर को बढ़ाने का बेहतर प्रयास किया।अभिभावकों और ग्रामीणों ने स्कूल में बच्चों के बैठने के फर्नीचर के लिए रतन पाटीदार ने 15 हजार, साउंड सिस्टम के लिए 20 हजार ललित पाटीदार व जगदीश पाटीदार ने दिए। साथ ही भामाशाहों द्वारा दी गई मदद से खेल सामग्री खरीदी जाएगी। स्कूल में लाइट की सुविधा पहले से ग्रामीणों ने कर दी है।

इस साल 26 बच्चों को स्कूल से जोड़ा, आरओ प्लांट लगेगा

पिछले साल तक इस स्कूल में 100 बच्चों का नामांकन था। इस साल स्टाफ की मेहनत से 26 बच्चों को जोड़ा गया। स्कूल में शुद्ध पानी मुहैया कराने के लिए आरओ प्लांट लगेगा और सर्दियों में भामाशाह बच्चों को स्वेटर पहनाएंगे। वास्तव में ग्रामीणों और अभिभावकों को जोड़कर प्रत्येक स्कूल की दशा-दिशा सुधारी जा सकती है और बच्चों के लिए एक अच्छा प्लेटफॉर्म तैयार किया जा सकता है।

X
Banswara - भामाशाहों के सहयोग से सिंगपुरा स्कूल में टेबल स्टूल, लाइट और खेल सामग्री की सुविधाएं मिली
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें