• Home
  • Rajasthan News
  • Baran News
  • पुरुष नसबंदी में बारां ने तोड़ा खुद का रिकाॅर्ड
--Advertisement--

पुरुष नसबंदी में बारां ने तोड़ा खुद का रिकाॅर्ड

जिले में प्रशासन व चिकित्सा विभाग की ओर से मिशन परिवार कल्याण के तहत शनिवार को अंतिम दिन जिले के पांच चिकित्सा...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:05 AM IST
जिले में प्रशासन व चिकित्सा विभाग की ओर से मिशन परिवार कल्याण के तहत शनिवार को अंतिम दिन जिले के पांच चिकित्सा संस्थान पर शिविर लगाकर पुरुष नसबंदी के 33 केस किए गए। जिले को 231 पुरुष नसबंदी करने का लक्ष्य मिला था। इसके मुकाबले में विभाग ने अंतिम दिन 33 केस कर 196 पर पहुंचने के बाद बारां जिला पूरे प्रदेश में पहले पायदान पर पहुंच गया है। वहीं कलेक्टर डॉ. एसपी सिंह द्वारा नसबंदी को लेकर निजी संस्थानों के माध्यम से अंता क्षेत्र में अंतिम समय पर राशि 6 हजार से बढ़ाकर 7 हजार व जिले के अन्य स्थानों पर 4 से 6 हजार करने के बाद पुरुष नसबंदी को लेकर उत्साह देखा गया। सीएमएचओ डॉ. बृजेश गोयल ने बताया कि सालों बाद यह अवसर आया है जो सभी के प्रयास से पूरे प्रदेश में पुरुष नसबंदी को लेकर बारां सभी जिलों से आगे निकल गया। परिवार कल्याण अधिकारी डॉ. सीताराम वर्मा ने बताया कि अंतिम दिन नाहरगढ़ सीएचसी पर सबसे अधिक 17, अंता में 7, अटरू 9 में व हरनावदाशाहजी में पुरुष नसबंदी के केस हुए हैं।

सम्मानित

अंतिम दिन पांच चिकित्सा संस्थानों पर लगाए शिविर, आकर्षक उपहार व लुभावनी योजना हुई कारगर साबित

बारां. नसबंदी कराने वालों को उपहार में मोबाइल फोन देती चिकित्सा टीम।

पिछले साल 143 का रिकॉर्ड था

सन 2011-12 में तत्कालीन कलेक्टर नवीन जैन के प्रयासों के बाद जिले में 143 पुरुष नसबंदी कर बारां जिला पूरे प्रदेश में प्रथम स्थान पर पहुंचा था, लेकिन इसके बाद प्रयास नहीं करने से बारां जिला लगातार मिशन परिवार के तहत पिछड़ता गया। पिछले साल तो पुरुष नसबंदी के महज 23 केस ही हो पाए थे। ऐसे में इस साल महिला नसबंदी में 95 प्रतिशत लक्ष्य पूरा करने के साथ ही पुरुष नसबंदी में बारां ने खुद का रिकाॅर्ड तोड़ते हुए अच्छा मुकाम हासिल किया है।

जल्द खोला जाएगा लक्की ड्रॉ

परिवार कल्याण अधिकारी डॉ. सीताराम वर्मा ने बताया कि जिला प्रशासन व चिकित्सा विभाग के साथ अन्य विभागों के सहयोग से अंतिम दिन तक लक्ष्य पूरा करने के लिए ब्लॉक के 5 चिकित्सा संस्थान पर पुरुष नसबंदी शिविर लगाकर 33 जनों के नसबंदी ऑपरेशन किए गए। अब पुरुष नसबंदी कराने वालों के लिए जल्द ही लक्की कूपन ड्रॉ भी खोला जाएगा।