• Home
  • Rajasthan News
  • Baran News
  • आरओ के पानी में पकेगा भोजन, कुक व वेटर का होगा हेल्थ चेकअप
--Advertisement--

आरओ के पानी में पकेगा भोजन, कुक व वेटर का होगा हेल्थ चेकअप

फूड सेफ्टी एंड स्टेंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एफएसएसएआई) द्वारा खाद्य सामग्री को हाइजीन बनाने के लिए देश में जांच की...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:05 AM IST
फूड सेफ्टी एंड स्टेंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एफएसएसएआई) द्वारा खाद्य सामग्री को हाइजीन बनाने के लिए देश में जांच की नई व्यवस्था लागू की गई है। इसके तहत सभी होटल और रेस्त्रां में स्टाफ को संक्रमण से बचाने के टीके भी लगवाने होंगे।

सभी तरह की खाद्य सामग्री पकाने के लिए अब आरओ वाटर का ही इस्तेमाल करना होगा। इसके अलावा सभी होटल में काम करने वाले खानसामे तथा वेटर्स और रेस्त्रां में स्टाफ को संक्रमण से बचाने के टीके भी लगवाना अनिवार्य होगा। यह व्यवस्था तत्काल प्रभाव से लागू करने के आदेश दिए हैं। इस बारे में स्थानीय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के पास आदेश भी पहुंचाए जा रहे हैं। सीएमएचओ व सभी बीसीएमएचओ से एफएसएसएआई की इस गाइड लाइन की पालना कराने के निर्देश जारी किए हैं। आधिकारिक जानकारी के अनुसार टेबलेट में अलग-अलग संस्थानों के लिए चेक लिस्ट बनाई गई है, जिसमें 40 बिंदु शामिल हैं। इसका पालन हर संस्थान संचालक को करना अनिवार्य है। एफएसएसएआई ने अलग-अलग तरह के संस्थानों के लिए अलग कैटेगरी बनाई है। संस्थान में खामियां मिलीं तो रजिस्ट्रेशन-लाइसेंस निलंबित होंगे। इसके बाद भी संचालन जारी रहा तो संचालक के खिलाफ कोर्ट में प्रकरण दायर किया जाएगा। इसमें संचालक को छह माह तक की सजा या पांच लाख तक का जुर्माना या दोनों सजा हो सकती है। जब तक खामियां दूर नहीं होंगी लाइसेंस निलंबित ही रहेगा।

आदेश

एफएसएसएआई ने बनाई नई व्यवस्था, संचालकों काे पालन करना जरूरी, 4 डिग्री से कम तापमान पर रखनी होगी कच्ची सब्जियां

इनको परखा जाएगा







मुख्यालय ने मांगी रिपोर्ट

खाद्य अधिकारी राजेश रामचंदानी ने बताया कि फूड सेफ्टी एक्ट के तहत की कार्रवाई के दौरान जो भी केस बने और पुराने केस जो कोर्ट में चल रहे है उनकी जानकारी मुख्यालय से मांगी गई है। जिनको भिजवाया जा रहा है। वहीं से निर्णय होगा कि इन केसों में क्या कार्रवाई होगी। दीपावली पर मिस ब्रांड मिले केसों की भी सूचना भेजी गई है। होटल में कार्यरत कुक का मेडिकल चेकअप कराना अनिवार्य है। अब वैक्सीनेशन भी कराना होगा, इसको लेकर नई गाइड लाइन देखेंगे।