• Home
  • Rajasthan News
  • Baran News
  • हास्य, वीर और शृंगार रस की प्रस्तुतियां सुनने के लिए देर रात तक डटे रहे श्रोता
--Advertisement--

हास्य, वीर और शृंगार रस की प्रस्तुतियां सुनने के लिए देर रात तक डटे रहे श्रोता

कस्बे में शहीद दिवस पर राजस्थान राज्य भारत स्काउट एवं गाइड स्थानीय संघ की ओर से तीसरी बार अखिल भारतीय कवि सम्मेलन...

Danik Bhaskar | Feb 01, 2018, 02:20 AM IST
कस्बे में शहीद दिवस पर राजस्थान राज्य भारत स्काउट एवं गाइड स्थानीय संघ की ओर से तीसरी बार अखिल भारतीय कवि सम्मेलन आयोजित किया गया। देर रात तक बड़ी संख्या में श्रोता कवि सम्मेलन का आनंद लेते रहे, जिससे पांडाल भी छोटा पड़ गया अौर श्रोताओं ने सर्दी में भी खड़े होकर ही कवि सम्मेलन का आनंद लिया।

कवि सम्मेलन में मुख्य अतिथि विधायक रामपाल मेघवाल थे। विशिष्ट अतिथि भाजपा जिलाध्यक्ष राजेंद्र नागर, स्काउट सीओ इंद्रराज सुथार थे। अध्यक्षता शाहाबाद एडीएम हनुमान सिंह गुर्जर ने की। स्काउट सचिव राजेंद्र शर्मा व मोतीलाल मीणा के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने अतिथियों व कवियों का स्वागत किया। कवियित्री सलोनी राणा ने सरस्वती वंदना के साथ कवि सम्मेलन का उद्‌घाटन किया। इसके बाद सम्मेलन में आए कवियों ने एक से बढ़कर एक प्रस्तुति दी। एमपी के शाजापुर से आए दिनेश पाटीदार देशी घी ने हास्य की फुहारें छोड़ते हुए कहा कि मां, महात्मा व परमात्मा में मां सब पर भारी है। मां की दुआ कभी खाली नहीं जाती। वहीं बारां के बाबू बंजारा ने नैना की नींद उड़ा ग्यो रे, बालम मारो परदेस.. सुनाई तो श्रोताओं ने खूब तालियां बजाई। टीकमगढ़ मध्यप्रदेश के अनिल तेजस ने आजादी मिली नहीं झंडे बैनर और नारो से, तेरी छाती पर तिरंगा लहराएंगे.. वीर रस की कविता सुनाई। कवि सुरेंद्र यादवेंद्र ने आप किस लिए उदास हो गए, होशो हवाश खो गए, एक पारो ने गीत क्या पढ़ा आप सब देवदास हो गए.. पर खूब तालियां बटोरी। भैरूलाल भास्कर, मधुसूदन गौतम, कमल मनोहर जयपुर, राजेंद्र गौड़ कोटा सहित कई कवियों ने काव्य पाठ किया। संचालन कमल मनोहर ने किया। अंत में भारत माता की आरती के साथ समापन किया। स्काउट के कार्यकर्ताओं ने अथक प्रयास से कवि सम्मेलन को सफल बनाया, जिसकी कस्बे में चर्चा रही। इस दौरान मोतीलाल मीणा, जितेंद्र यादव, महावीर तिवारी, पूर्व मंत्री मदन दिलावर, मंडल अध्यक्ष अशोक मीणा, बाल कल्याण समिति सदस्य प्रमोद शर्मा, नरेंद्रसिंह चौहान, सत्यप्रकाश पारेता सहित कई कार्यकर्ता मौजूद थे।

अटरू. कस्बे में अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में काव्य पाठ करती कवियित्री।

भास्कर न्यूज| अटरू

कस्बे में शहीद दिवस पर राजस्थान राज्य भारत स्काउट एवं गाइड स्थानीय संघ की ओर से तीसरी बार अखिल भारतीय कवि सम्मेलन आयोजित किया गया। देर रात तक बड़ी संख्या में श्रोता कवि सम्मेलन का आनंद लेते रहे, जिससे पांडाल भी छोटा पड़ गया अौर श्रोताओं ने सर्दी में भी खड़े होकर ही कवि सम्मेलन का आनंद लिया।

कवि सम्मेलन में मुख्य अतिथि विधायक रामपाल मेघवाल थे। विशिष्ट अतिथि भाजपा जिलाध्यक्ष राजेंद्र नागर, स्काउट सीओ इंद्रराज सुथार थे। अध्यक्षता शाहाबाद एडीएम हनुमान सिंह गुर्जर ने की। स्काउट सचिव राजेंद्र शर्मा व मोतीलाल मीणा के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने अतिथियों व कवियों का स्वागत किया। कवियित्री सलोनी राणा ने सरस्वती वंदना के साथ कवि सम्मेलन का उद्‌घाटन किया। इसके बाद सम्मेलन में आए कवियों ने एक से बढ़कर एक प्रस्तुति दी। एमपी के शाजापुर से आए दिनेश पाटीदार देशी घी ने हास्य की फुहारें छोड़ते हुए कहा कि मां, महात्मा व परमात्मा में मां सब पर भारी है। मां की दुआ कभी खाली नहीं जाती। वहीं बारां के बाबू बंजारा ने नैना की नींद उड़ा ग्यो रे, बालम मारो परदेस.. सुनाई तो श्रोताओं ने खूब तालियां बजाई। टीकमगढ़ मध्यप्रदेश के अनिल तेजस ने आजादी मिली नहीं झंडे बैनर और नारो से, तेरी छाती पर तिरंगा लहराएंगे.. वीर रस की कविता सुनाई। कवि सुरेंद्र यादवेंद्र ने आप किस लिए उदास हो गए, होशो हवाश खो गए, एक पारो ने गीत क्या पढ़ा आप सब देवदास हो गए.. पर खूब तालियां बटोरी। भैरूलाल भास्कर, मधुसूदन गौतम, कमल मनोहर जयपुर, राजेंद्र गौड़ कोटा सहित कई कवियों ने काव्य पाठ किया। संचालन कमल मनोहर ने किया। अंत में भारत माता की आरती के साथ समापन किया। स्काउट के कार्यकर्ताओं ने अथक प्रयास से कवि सम्मेलन को सफल बनाया, जिसकी कस्बे में चर्चा रही। इस दौरान मोतीलाल मीणा, जितेंद्र यादव, महावीर तिवारी, पूर्व मंत्री मदन दिलावर, मंडल अध्यक्ष अशोक मीणा, बाल कल्याण समिति सदस्य प्रमोद शर्मा, नरेंद्रसिंह चौहान, सत्यप्रकाश पारेता सहित कई कार्यकर्ता मौजूद थे।

भास्कर न्यूज| अटरू

कस्बे में शहीद दिवस पर राजस्थान राज्य भारत स्काउट एवं गाइड स्थानीय संघ की ओर से तीसरी बार अखिल भारतीय कवि सम्मेलन आयोजित किया गया। देर रात तक बड़ी संख्या में श्रोता कवि सम्मेलन का आनंद लेते रहे, जिससे पांडाल भी छोटा पड़ गया अौर श्रोताओं ने सर्दी में भी खड़े होकर ही कवि सम्मेलन का आनंद लिया।

कवि सम्मेलन में मुख्य अतिथि विधायक रामपाल मेघवाल थे। विशिष्ट अतिथि भाजपा जिलाध्यक्ष राजेंद्र नागर, स्काउट सीओ इंद्रराज सुथार थे। अध्यक्षता शाहाबाद एडीएम हनुमान सिंह गुर्जर ने की। स्काउट सचिव राजेंद्र शर्मा व मोतीलाल मीणा के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने अतिथियों व कवियों का स्वागत किया। कवियित्री सलोनी राणा ने सरस्वती वंदना के साथ कवि सम्मेलन का उद्‌घाटन किया। इसके बाद सम्मेलन में आए कवियों ने एक से बढ़कर एक प्रस्तुति दी। एमपी के शाजापुर से आए दिनेश पाटीदार देशी घी ने हास्य की फुहारें छोड़ते हुए कहा कि मां, महात्मा व परमात्मा में मां सब पर भारी है। मां की दुआ कभी खाली नहीं जाती। वहीं बारां के बाबू बंजारा ने नैना की नींद उड़ा ग्यो रे, बालम मारो परदेस.. सुनाई तो श्रोताओं ने खूब तालियां बजाई। टीकमगढ़ मध्यप्रदेश के अनिल तेजस ने आजादी मिली नहीं झंडे बैनर और नारो से, तेरी छाती पर तिरंगा लहराएंगे.. वीर रस की कविता सुनाई। कवि सुरेंद्र यादवेंद्र ने आप किस लिए उदास हो गए, होशो हवाश खो गए, एक पारो ने गीत क्या पढ़ा आप सब देवदास हो गए.. पर खूब तालियां बटोरी। भैरूलाल भास्कर, मधुसूदन गौतम, कमल मनोहर जयपुर, राजेंद्र गौड़ कोटा सहित कई कवियों ने काव्य पाठ किया। संचालन कमल मनोहर ने किया। अंत में भारत माता की आरती के साथ समापन किया। स्काउट के कार्यकर्ताओं ने अथक प्रयास से कवि सम्मेलन को सफल बनाया, जिसकी कस्बे में चर्चा रही। इस दौरान मोतीलाल मीणा, जितेंद्र यादव, महावीर तिवारी, पूर्व मंत्री मदन दिलावर, मंडल अध्यक्ष अशोक मीणा, बाल कल्याण समिति सदस्य प्रमोद शर्मा, नरेंद्रसिंह चौहान, सत्यप्रकाश पारेता सहित कई कार्यकर्ता मौजूद थे।