बरसात के बाद खाली प्लॉटों में पानी भरने से बढ़ी परेशानी, फॉगिंग भी नहीं

Baran News - मानसूनी बारिश का दौर थमने के बाद मौसम में बदलाव आने लगा है। इसके साथ ही मौसमी बीमारियों का भी खतरा बढ़ गया है। पिछले...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:11 AM IST
Baran News - rajasthan news after the rain there is trouble due to water filling in the empty plots not even fogging
मानसूनी बारिश का दौर थमने के बाद मौसम में बदलाव आने लगा है। इसके साथ ही मौसमी बीमारियों का भी खतरा बढ़ गया है। पिछले दिनों हुई बारिश के कारण शहर में हर साल भी खाली पड़े प्लॉट बीमारियों का घर बन रहे हैं। शहर में खाली पड़े 500 से ज्यादा प्लॉटों में हुए जलभरावों में मच्छर पनप रहे हैं। जिसका खामियाजा लाेगांे को भुगतना पड़ रहा है।

इसके बावजूद भी नगर परिषद व चिकित्सा विभाग नहीं चेत रहे हैं। विभागीय दावों के बावजूद शहर में बारिश थमने के बाद भी फॉगिंग शुरु नहीं हुई है। नगर परिषद की ओर से सोमवार से फोगिंग शुरु करने की बात कही जा रही है। इसके चलते हर रोज नए मरीज सामने आ रहे हैं। ऐसे में अगर यहीं हाल रहे तो, बीमारियों के बढ़ने का खतरा बना हुआ है।

चिकित्सा विभाग अधिकारियों का कहना है कि शहर में बीमारियोंे की रोकथाम के लिए नगर परिषद की आेर से फॉगिंग करवाई जाती है। इसके लिए परिषद के पास 4 फॉिंगंग मशीनें भी हैं। शहर में फॉिंगंग की जिम्मेदारी नगर परिषद की है। विभाग की ओर से किसी क्षेत्र से शिकायत मिलने व पॉजिटीव मरीज मिलने पर ही फोगिंग की जाती है।

शहर में मच्छर जनित बीमारियों के मरीज बढ़ रहे हैं। इसके उलट शहर में मच्छरों की रोकथाम को लेकर प्रभावी उपाय नहीं किए जा रहे हैं। चिकित्सा विभाग के अनुसार नगर परिषद के पास 4 फॉगिंग मशीनें हैं। वहीं चिकित्सा विभाग के पास ग्रामीण व शहरी क्षेत्र सहित जिलेभर के लिए कुल 19 मशीनें हैं। वर्तमान में हालात यह है कि खाली प्लॉटों व नालियों, गंदगी के कारण मच्छर पनप रहे हैं। इनसे बीमारियाें का खतरा बना हुआ है। आए दिन डेंगू, मलेरिया, बुखार इत्यादि के मरीज सामने आ रहे हैं। जिले में इस साल अब तक डेंगू के 114 केस, डेंगू के 33 मरीज सामने आ चुके हैं। इस सप्ताह मलेरिया का 1 व डेंगू के 4 मरीज पॉजिटीव आए है। वहीं पिछले साल जनवरी से दिसंबर तक मलेरिया के 236, डेंगू के 178, टाइफाइड के 1996 और पीलिया 283 केस सामने आए थे।

यहां हमेशा परेशानी

मांगराेल रोड, हाउसिंग बोर्ड, डंडोतिया की बाड़ी, लंका कॉलोनी, गोपाल कॉलाेनी, श्रमिक कॉलोनी, बाबजी नगर, नाकोड़ा कॉलोनी, आदर्श नगर कॉलोनी आदि कॉलोनियों के लोगो का कहना है कि इन खाली प्लॉटों में हर साल बारिश में पानी भर जाता हैं। लेकिन इनसे पानी की निकासी नहीं हो पाती हैं। गंदगी व बारिश के पानी में मच्छरों का प्रकोप बना रहता हैं। इसके चलते मलेरिया सहित अन्य बीमारियां बढ़ने का खतरा बना हुआ है। परिषद व चिकित्सा विभाग की टीमें सिर्फ 1-2 बार आकर चले जाते हैं। शहरवासी रामनिवास, देवराज, हरिलाल, महावीर, राजेंद्र, अंकित आदि का कहना है कि नगर परिषद व चिकित्सा विभाग को स्थाई समाधान करना चाहिए।



बारां. शहर की कॉलोनी में भरा पानी।

X
Baran News - rajasthan news after the rain there is trouble due to water filling in the empty plots not even fogging
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना