पुरानी रंजिश को लेकर फायरिंग, युवक ने भागकर जान बचाई, हाथों में लगे छर्रे

Baran News - कस्बे में श्योपुर बस स्टैंड पर शुक्रवार देररात को खड़े युवक पर पावर बाइक पर बैठकर आए तीन जनों ने फायरिंग कर दी।...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 09:50 AM IST
Mangrol News - rajasthan news firing about old rage the young man escaped and saved his life
कस्बे में श्योपुर बस स्टैंड पर शुक्रवार देररात को खड़े युवक पर पावर बाइक पर बैठकर आए तीन जनों ने फायरिंग कर दी। अचानक हुई इस फायरिंग से क्षेत्रवासी सहम गए। घटना में घायल युवक को बारां अस्पताल में भर्ती कराया है। पुलिस हमलावराें की तलाश कर रही है। घटनाक्रम पुरानी रंजिश को लेकर बताया जा रहा है।

पुलिस व प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार मांगरोल निवासी मोहम्मद असलम व शहजाद अपने दोस्तों के साथ श्याेपुर बस स्टैंड पर खड़े हुए थे। तभी पावर बाइक पर बैठकर अकरम उर्फ काला गिट्टा व दो साथी आए। उनके हाथों में पिस्टल, देशी कट्टा व चाकू थे। उन्होंने आते ही कहासुनी शुरू कर दी। इसके बाद फायर कर दिए। एक फायर मिस हो गया। इससे असलम को भागने का मौका मिल गया। इसके बाद दो फायर किए गए। इसमें छर्रे असलम के हाथ को छूकर निकल गए। असलम ने भागकर पास के मकान में घुसकर जान बचाई। घटना के बाद मौके पर दहशत का माहौल हो गया। सूचना मिलते ही सीआई जाब्ते के साथ पहुंच गए। हमलावराें की धरपकड़ के लिए नाकाबंदी भी करवाई गई, लेकिन उनका सुराग नहीं लग सका। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।

हथियाराें से लैस से हमलावर, पुलिस जांच में जुटी

मांगरोल . फायरिंग में घायल मोहम्मद असलम को अस्पताल में भर्ती कराया।

असलम ने दी रिपोर्ट: सीआई अाशीष भार्गव ने बताया कि कस्बे में श्योपुर बस स्टैंड पर शुक्रवार रात 10.30 बजे मोहम्मद असलम उसके दोस्तों के साथ खड़ा था। फायरिंग से असलम ने भागकर एक मकान में घुसकर जैसे-तैसे अपनी जान बचाई। असलम की तरफ से मामले में रिपोर्ट दी गई है।

बारां, श्योपुर, काेटा में तलाश: सीआई आशीष भार्गव ने घटनास्थल पर जानकारी जुटाई। बारां से एएसपी विजय स्वर्णकार भी रात को ही मांगरोल पहुंच गए। उन्होंने घटनाक्रम को लेकर जानकारी ली और मौका देखा। एसपी किशोरीलाल मीणा के निर्देश पर तीन टीमें गठित कर आरोपियों की तलाश की जा रही है। बारां, श्योपुर, काेटा में टीमें आरोपियों की तलाश कर रही हैं।

आरोपी जेल में रहने के दिनों के बदले मांग रहा था 7 लाख रुपए

पुलिस के अनुसार फरियादी का बयान है कि शहजाद के भाई रिजवान की वर्ष 2011 में हत्या हुई थी। इस मामले में अकरम उर्फ काला गिट्टा व एक अन्य आरोपी थे। जिन्हें कोर्ट से आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। अपील में हाईकोर्ट से कुछ महीने पहले दोनों बरी हो गए थे। इसी को लेकर रंजिश चल रही थी। शहजाद का आरोप है कि अकरम उर्फ काला गिट्टा उसके जेल में रहने के दिनों के बदले 7 लाख रुपए की मांग कर रहा था। इसको लेकर लगातार फोन व अन्य माध्यम से धमकाया जा रहा था।

X
Mangrol News - rajasthan news firing about old rage the young man escaped and saved his life
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना