--Advertisement--

गर्भवतियों को मातृ वंदना का लाभ दिलाने के निर्देश

महिला एवं बाल विकास विभाग के परियोजना अधिकारी शैलेष कुमार ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को धात्री माता व गर्भवती...

Dainik Bhaskar

Feb 22, 2018, 02:10 AM IST
गर्भवतियों को मातृ वंदना का लाभ दिलाने के निर्देश
महिला एवं बाल विकास विभाग के परियोजना अधिकारी शैलेष कुमार ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को धात्री माता व गर्भवती महिलाओं को प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ दिलाने के निर्देश दिए है। पंचायत समिति सभागार में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के प्रधानमंत्री मातृ वंदना याेजनार्न्तगत तीन दिवसीय प्रशिक्षण के दौरान सीडीपीओ शैलेष कुमार ने गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व जांच कराने व गर्भ धारण के 6 माह पश्चात पीएमएमवीवाई का आवेदन तैयार कराने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने पात्र महिला के गर्भधारण की नियत तिथि व एमसीपी कार्ड में एलएमपी गणना कर मातृत्व का लाभ दिलाने की बात कही। प्रशिक्षण के दौरान परियोजना अधिकारी ने गर्भवती महिला को गर्भधारण पश्चात प्रथम किस्त बतौर एक हजार, 6 माह पश्चात दूसरी किस्त के दो हजार व बच्चे के जन्म उपरांत पंजीकरण कराकर बीसीजी, ओपीवी, डीपीडी व हेपेटाईटिस बी के प्रथम चक्र का टीकाकरण कराकर तीसरी किस्त के तहत दो हजार की राशि का भुगतान सुनिश्चित कराने को निर्देशित किया। इस मौके पर रश्मि मीणा, संजू कुमारी, आशा कुमारी, कुसुमलता आदि थी।

नगर में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का तीन दिवसीय प्रशिक्षण हुआ, सरकारी योजनाएं पहुंचें आमजन तक

नगर. पंचायत समिति सभागार में प्रशिक्षण के दौरान आंगनबाडी कार्यकर्ता

गर्भ निरोधक इंजेक्शन प्रशिक्षण शुरू

डीग| केंद्र सरकार के मिशन परिवार कार्यक्रम के अन्तर्गत राज्य के 14 जिलों मे चल रहे गर्भ निरोधक इंजेक्शन (अंतरा) का जिला स्तरीय दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर खण्ड डीग के सानिध्य मे बुधवार को नगर रोड स्थित विजय पैलेस मे हुआ । जिसमे कुम्हेर खण्ड के चिकित्साधिकारी, नर्सिंगकर्मी सहित करीब 30 प्रतिभागियों ने भाग लिया । शिविर के प्रशिक्षक डॉ. राहुल कौशिक ने बताया कि प्रशिक्षण मे इंजेक्टिव गर्भ निरोधक साधन एवं मौखिक गर्भ निरोधक गोलियों के बारे मे विस्तृत जानकारी दी गई । शिविर मे प्रतिभागियों को व्याख्यान पद्धति, परस्पर चर्चा, समूह चर्चा, राॅयल प्ले एवं दृश्य श्रव्य सामग्री के माध्यम से जानकारियां दी गई । जो उन्हें रुचिकर एवं उपयोगी लगी। डॉ. कौशिक ने बताया कि केन्द्र और राज्य सरकार के कार्यक्रम समुदायों को प्रभावी उपाय के रूप मे साबित होंगे । गर्भ निरोधक के रूप मे गर्भ निरोधक इंजेक्शन (अंतरा) प्रत्येक तीन महीने के अंतराल पर दिया जाता है । इस मौके पर खण्ड मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. जगवीर सिंह, डॉ. तरुण तिवारी आदि मौजूद थे ।

X
गर्भवतियों को मातृ वंदना का लाभ दिलाने के निर्देश
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..