बाड़ी

  • Hindi News
  • Rajasthan News
  • Bari News
  • आयकर विभाग की कार्रवाई पर सवाल: व्यापारियों ने कहा यह लो सबूत, क्यों पड़ रहे हैं हमारे छापे
--Advertisement--

आयकर विभाग की कार्रवाई पर सवाल: व्यापारियों ने कहा यह लो सबूत, क्यों पड़ रहे हैं हमारे छापे

भरतपुर| व्यापारिक फर्मों पर सर्वे को लेकर आयकर विभाग की कार्रवाई सवालों के घेरे में है। चौबुर्जा क्षेत्र में...

Dainik Bhaskar

Mar 09, 2018, 02:20 AM IST
भरतपुर| व्यापारिक फर्मों पर सर्वे को लेकर आयकर विभाग की कार्रवाई सवालों के घेरे में है। चौबुर्जा क्षेत्र में बुधवार को चार व्यापारिक फर्मों पर हुए आयकर सर्वे के बाद व्यापारियों ने डिस्काउंट नहीं दिए जाने की वजह से छापे मारने के आरोप ही लगाए थे। लेकिन, गुरुवार को आयकर विभाग का एक निरीक्षक लक्ष्मण मंदिर स्थित रेडीमेड की दुकान पर फिर डिस्काउंट मांगने लगा।

मात्र 150 रुपए का डिस्काउंट न हीं मिलने पर न केवल निरीक्षक बल्कि उसकी प|ी ने भी दुकान पर आयकर छापा डलवाने की धमकी दे दी। यह पूरी घटना दुकान में लगे सीसीटीवी फुटेज में दर्ज हो गई। इसके आधार पर व्यापारियों ने कहा कि पहले तो केवल आरोप था, अब तो सबूत भी सामने है। हुआ यूं कि आयकर विभाग के वार्ड संख्या एक में कार्यरत आयकर निरीक्षक गौरव भारती गुरुवार को प|ी के साथ लक्ष्मण मंदिर केबी प्लाजा में शगुन लेडीज वियर पर खरीदारी करने गए थे। दुकान मालिक इतेंद्रपाल सिंह ने बताया कि बिल 250 रुपए का बना था। इस पर आयकर निरीक्षक गौरव भारती ने 100 रुपए ही दिए। लेकिन, कर्मचारी हितेश ने मना कर दिया कि हमारे यहां फिक्स रेट की दुकानदारी है। इसलिए 250 रुपए ही दीजिए। बकौल दुकान मालिक, इस पर आयकर निरीक्षक गौरव भारती ने अपना कार्ड दिखाया और कहा कि कल आर्य शोरूम पर जो सर्वे हुआ उसमें मैं भी शामिल था। इस पर भी कर्मचारी प्रभाव में नहीं आया तो निरीक्षक ने कहा कि अब तुम्हारी बारी है। इसके बाद भी कर्मचारी ने छूट देने से इनकार कर दिया। आयकर निरीक्षक की प|ी जाते-जाते कह कर गई ऐसा मत करो भईया, कि आपकी दुकान पर भी रेड पड़े। यह पूरा घटनाक्रम दुकान में लगे सीसीटीवी में रिकार्ड हो गया है। उल्लेखनीय है कि बुधवार को ही आयकर विभाग ने गंगा मंदिर-चौबुर्जा क्षेत्र में वस्त्र व्यवासियों की चार दुकानों पर सर्वे किया था। इस कार्रवाई में निरीक्षक गौरव भारती भी शामिल थे।

व्यापारी नेता बोले, अनावश्यक दबाव बर्दाश्त नहीं : यह प्रकरण अब राजनीतिक तूल पकड़ रहा है। इस मामले की शिकायत व्यापार महासंघ के शहर अध्यक्ष भगवानदास बंसल ने आयकर विभाग के संयुक्त आयुक्त से की है। बंसल ने बताया कि संयुक्त आयुक्त को सीसीटीवी फुटेज भी भेजे गए हैं। अगर कार्रवाई नहीं हुई तो आंदोलन किया जाएगा। क्योंकि व्यापारी किसी के अनावश्यक दबाव में नहीं आएंगे। इस मामले में संयुक्त आयुक्त केसी गुप्ता ने कुछ भी बताने से इनकार कर दिया।

दबाव की राजनीति....कल भी लगाए थे व्यापारियों ने ऐसे ही आरोप : जानकारों का कहना है कि आयकर विभाग की बुधवार को हुई सर्वे की कार्रवाई के बाद व्यापारी और आयकर विभाग के बीच दबाव की राजनीति चल रही है। आयकर विभाग द्वारा गत दिवस गंगा मंदिर-चौबुर्जा क्षेत्र में हुए सर्वे के दौरान भी व्यापारी नेताओं ने आयकर अधिकारियों पर द्वेष भावना से आयकर सर्वे करने का आरोप लगाया था। व्यापार महासंघ के शहर अध्यक्ष भगवानदास बंसल और दो दर्जन से ज्यादा व्यापारी नेताओं की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि कुछ दिन पूर्व एक आयकर अधिकारी की प|ी सामान खरीदने आई थी। व्यापारी से कीमत में छूट मांगी थी। नहीं देने पर द्वेषता से सर्वे की कार्रवाई की गई।

आयकर निरीक्षक ने रेडीमेड की दुकान पर जाकर मांगा डिस्काउंट, नहीं दिया तो प|ी ने भी दी आयकर सर्वे कराने की धमकी

150 नहीं 20 रुपए कम करने को कहा था

आयकर निरीक्षक गौरव भारती ने स्वीकार किया है कि गुरुवार की दोपहर वह प|ी के साथ लक्ष्मण मंदिर स्थित शगुन लेडीज वियर पर खरीदारी के लिए गए थे। यहां से गत दिवस उनकी प|ी ने कुछ कपड़े खरीदे थे। इसमें से 575 के वापस किए और कुछ नया खरीदा। बिल 720 रुपए का था। मैंने दुकानदार से 20 रुपए कम करने को कहा। उसने मना कर दिया। इस पर मैंने अपना परिचय दिया। इसके बाद भी उसने कोई रियायत नहीं दी। वैसे भी मोलभाव करने का ग्राहकों का अधिकार है। इसलिए इसमें कोई गलत बात नहीं है। उन्होंने सर्वे की कार्रवाई करने अथवा प|ी द्वारा धमकाने जैसी बात को निराधार बताया।

X
Click to listen..