• Hindi News
  • Rajasthan
  • Bari
  • 20,215 युवाओं ने भ्रूण लिंग जांच नहीं कराने की ली शपथ
--Advertisement--

20,215 युवाओं ने भ्रूण लिंग जांच नहीं कराने की ली शपथ

Bari News - राष्ट्रीय बालिका दिवस पर बुधवार को पंचायत समिति परिसर में महिला अधिकारिता विभाग द्वारा हमारी बेटी महोत्सव का...

Dainik Bhaskar

Jan 25, 2018, 02:20 AM IST
20,215 युवाओं ने भ्रूण लिंग जांच नहीं कराने की ली शपथ
राष्ट्रीय बालिका दिवस पर बुधवार को पंचायत समिति परिसर में महिला अधिकारिता विभाग द्वारा हमारी बेटी महोत्सव का आयोजन किया गया। इसमें लगभग 650 बालिकाओं ने भाग लिया। कार्यक्रम के दौरान बालिकाओं के लिए रंगोली, मेहंदी, नाटक, एकल नृत्य, सामूहिक नृत्य सहित समूह तथा एकल गान प्रतियोगिता का आयोजन भी हुआ।

प्रतियोगियों ने कार्यक्रम में सांस्कृतिक प्रस्तुतियों से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया। प्रस्तुति के माध्यम से बालिकाओं ने बताया कि वर्तमान में बेटियां, बेटों से किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं। मुख्य अतिथि कलेक्टर ने अभिभावक एवं माता-पिता से आह्वान किया कि वे अपने घर में बेटी को भी अपने बेटों के समान ही आगे बढ़ने का अवसर दें। महिला अधिकारिता विभाग की सहायक निदेशक सुरभि सिंह ने स्वागत भाषण देते हुए राष्ट्रीय बालिका दिवस पर प्रकाश डाला। उन्होंने जिले में कम हो रहे लिंगानुपात पर भी चिंता जताई। उन्होंने बताया कि आज इस कार्यक्रम का उद्देश्य बेटियों को उनके अधिकारों के प्रति जागरुक करना है ताकि वे एक सशक्त राष्ट्र व सशक्त समाज का निर्माण कर सकें। कार्यक्रम में समाज कल्याण विभाग के सहायक निदेशक मनोज आर्य, जिला शिक्षा अधिकारी मिथलेश शर्मा ने अपने विभागों से संबंधित संचालित योजनाओं की जानकारी दी। विधिक सेवा प्राधिकरण के पूर्णकालिक सचिव मोहित द्विवेदी थे। पीसीपीएनडीटी समन्वयक पंकज शुक्ला ने एक्ट की जानकारी दी। बाल विकास परियोजना अधिकारी दामोदर मीणा, अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी शैलेंद्र सक्सेना, ब्रांड एंबेसडर मधु गर्ग ने भी विचार रखे। इसी प्रकार महाविद्यालय में राष्ट्रीय बालिका दिवस पर बेटियां अनमोल हैं कार्यक्रम हुआ। मुख्य वक्ता डॉ. सीताराम मीणा थे। कार्यक्रम में बेटी बचाने संबंधी शपथ दिलाई गई। अध्यक्षता कर रहे डॉ. आरआरएल शर्मा एवं प्राचार्य डॉ. एपीएस तिवारी ने कन्या भ्रूण हत्या निषेध संबंधी और बेटियों की शिक्षा और संस्कार पर जोर दिया। इस अवसर पर डॉ. राखी शर्मा, प्रियंका त्रिपाठी, कृष्ण कुमार द्विवेदी, दाताराम सिसोदिया, गौरव गर्ग, मनदीप शर्मा, नवीन शर्मा, राहुल शर्मा उपस्थित रहे। संचालन डॉ. अभयवीर सिंह कुशवाह ने किया।।

हाथ बढ़ाकर ली शपथ : राष्ट्रीय बालिका दिवस पर आयोजित हमारी बेटी महोत्सव कार्यक्रम के दौरान उपस्थित महिलाओं व बालिकाओं सहित अन्य सभी लोगों को बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की शपथ दिलाई गई। राजकीय माध्यमिक विद्यालय चौरा खेड़ा में बालिका दिवस कार्यक्रम की शुरुआत सूर्य नमस्कार से हुई। अध्यक्षता संस्था प्रधान बद्रीप्रसाद कुशवाह ने की। सूर्य नमस्कार के दौरान शिक्षक रामेश्वरसिंह ने सूर्य के 13 नामों का श्लोक के माध्यम से उच्चारण किया। संस्थाप्रधान ने मंत्रों का हिंदी अनुवाद कर महत्व बताया। पवनकुमार ने मंच का संचालन किया। महावीर तिवारी, मुकेश काकोलिया, केदारसिंह बघेल, श्याम मुरारी, रामदुलारा गोस्वामी, रोशनलाल, नरेशकुमार, संतोष कुमार, रवींद्र शर्मा, विनीत सविता मौजूद थे। इसी प्रकार बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय जाटौली में राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया गया। जिसमें विश्व हिंदू सेना गोरक्षा वाहिनी धौलपुर के जिला उपाध्यक्ष अशोक बघेल अतिथि के रुप में उपस्थित रहे। स्वास्थ्य केन्द्र जाटौली के डॉ सौरभकांत सक्सेना व विद्यालय के प्रधानाचार्य रविप्रकाश शर्मा एवं अध्यापिका व ग्रामीण मौजूद रहे। अशोक बघेल ने कहा कि बेटियां देश का भविष्य हैं जब बेटे निराश कर देते है तब बेटियां ओलंपिक, दौड़, भारतीय सेना जैसे कार्यों मे अव्वल आकर देश का नाम रोशन करती हैं। इस मौके पर ग्रामीण राजवीर राजपूत, नादरिया शर्मा, राकेश आदि ग्रामीण जन मौजूद रहे। इसी प्रकार गनेशीलाल तिवारी टीटी कॉलेज में राष्ट्रीय वालिका दिवस मनाया गया। जिसमें कॉलेज के निदेशक रमेश चंद तिवारी ने बालिकाओं के जीवन में आ रही समस्या के बारे में वक्तव्य दिया तथा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर विभिन्न छात्राध्यापिकाएं मोहिनी, दिप्ती, रचना ने बालिकाओं के ऊपर गीत प्रस्तुत किया। किरन, नीलम और नेहा तोमर ने कविता प्रस्तुत की एवं शालिनी शर्मा ने अपने विचार रखे। एपी शर्मा ने संचालन किया। राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जयपुर के निर्देशानुसार एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष चंद्रप्रकाश श्रीमाली के मार्गदर्शन अनुसार राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर विधिक साक्षरता शिविर लगाए गए। महिला अधिकारिता विभाग धौलपुर की ओर से पंचायत समिति धौलपुर में हमारी बेटी महोत्सव मनाया गया जिसमें मोहित द्विवेदी ने अपनी सहभागिता निभाई। जिला कारागृृह में कारागृह में बंदियों को द्विवेदी द्वारा केन्द्र सरकार द्वारा चलाया जा रहा बेेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के बारे में विस्तार से बताया।

धौलपुर. बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की शपथ लेतीं महिलाएं।

78 शिक्षण संस्थानों में हुआ बेटियां अनमोल हैं का शंखनाद

धौलपुर| जिले के 78 शिक्षण संस्थानों में बुधवार को बेटियां अनमोल हैं कार्यक्रम हुआ जिसमें 20215 युवाओं ने बेटी बचाने व भ्रूण लिंग परीक्षण नहीं करने की शपथ ली। सीएमएचओ डॉ राजेश मित्तल ने कहा कि परिवार एवं वंश का नाम बढ़ाने का बहाना बनाकर आज बेटियों का कोख में कत्ल किया जा रहा है। दादा परदादा का नाम नही जानने वाले भी वंश बढ़ाने के लिए बेटों की चाहत में बेटियों को कोख में मार रहे है। मोक्ष प्राप्ति के लिये मृृत्यु के बाद बेटे के हाथ से अंतिम संस्कार करवाकर क्या वास्तव में मोक्ष प्राप्त हो सकता है। क्या कोई हत्या कर मोक्ष प्राप्त कर सकता है। साथ ही भ्रूण लिंग जांच न करने की शपथ दिलाई। जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सीताराम मीणा ने कमला कॉलेज में संबोधित करते हुए कहा कि मां बाप रात देरी से आने वाली बेटी की चिंता तो करते है उससे तरह तरह के प्रश्नों की झड़ी लगा देते है, लेकिन रात भर घर से बाहर रहने वाले बेटे से प्रश्न पूछने से भी हिचकिचाते हैं। यदि बेटों पर भी इस प्रकार की बंदिशें माता पिता लगाए तो देश की हर बेटी महफूज रहेगी। बसंत गोयल, प्रियंका त्रिपाठी एवं केके द्विवेदी जिला लेखा प्रबंधक ने कहा कि बेटियों के बिना इस सृष्टि की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। पंकज शुक्ला जिला समन्वयक द्वारा पीसीपीएनडीटी अधिनियम के प्रावधान बताए। बेटियां अनमोल है कार्यक्रम डॉ गौरव मीणा, डॉ प्रतीक मंगल, डॉ पवन गोस्वामी, डॉ सौरभकांत सक्सेना, डॉ रविन्द्र सिंह, श्री सुमित शर्मा, देवानंद, विजय शर्मा, राजेश शर्मा आदि ने संबोधित किए।

सरमथुरा. उपखंड में राष्ट्रीय बालिका दिवस पर बेटियों को जागृत करते हुए बेटियों की महिमा का वर्णन किया गया। कस्बा के वरिष्ठ उपाध्याय संस्कृत विद्यालय में बेटियों को जागृत करते हुए वैद्य हरिचरन शर्मा ने कहा कि बेटियां राष्ट्र का गौरव हैं, बेटियों ने खेलों में देश का प्रतिनिधित्व करते हुए ओलंपिक में भारत को पदक दिलाए हैं, यही नहीं सानिया-सायना भी राष्ट्र का गौरव बनीं, उन्होंने कहा कि यीशू की जननी मरियम भी बेटी थी। बेटी के स्वर्णिम काल को आगे बढ़ाना होगा जिससे बेटी की महिमा का ज्ञान हो सके, शर्मा ने बेटी जन्म पर खुशी मनाने के लिए प्रेरित किया। इस दौरान कन्या भ्रूण हत्या की जानकारी दी गई वही बेटी बचाने की शपथ दिलाई गई। इस मौके पर दीनदयाल शर्मा, मोहन शर्मा, विजय मित्तल सहित शिक्षक मौजूद थे।

आंगई. उपखण्ड के वरौली में बुधवार को राष्ट्रीय बालिका दिवस पर कार्यक्रम हुआ। इस दौरान डाॅ. गौरव मीणा ने बेटियों को जागृत करते हुए कहा कि बेटियो ने देश में जमीन से आसमां तक परचम फहराया है, बेटियों ने जितना कीर्तिमान देश में स्थापित किया है जिसका वर्णन नहीं किया जा सकता। इसी दौरान डाॅ. मीना ने बेटियों पर बेटा से अधिक जिम्मेदारी होने का हवाला देते हुए कहा कि बेटा एक घर रोशन करता है लेकिन बेटियां दो घरों को रोशन करती हैं जिससे बेटा व बेटी में भेदभाव नहीं करना चाहिए। इस मौके पर प्रधानाचार्य मुकेश गर्ग सहित शिक्षक मौजूद थे।

बाड़ी. बाड़ी राउमावि से ताल्लुका विधि सेवा समिति द्वारा बेटी-बचाओ, बेटी-पढ़ाओ की थीम पर एक रैली निकाली गई जिसे अपर जिला सैशन न्यायाधीश दीपक कुमार सोनी व बृजेश कुमार न्यायिक मजिस्ट्रेट ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। रैली से पूर्व बच्चों को संबेाधित कर दीपक कुमार ने कहा कि देश में बच्चियों की लगातार घटती दर चिंता का विषय बनती जा रही है। इसी के साथ बृजेश कुमार ने भी बच्चों को संबोधित कर कहा कि लड़का-लड़की में भेद आज भी होना हमारे सभ्य समाज पर एक तमाचा है। रैली का शुभारंभ राउमावि बाड़ी से हुआ जो कि कस्बे के प्रमुख मार्गों से होती हुई महाराज बाग मेला ग्राउंड में समाप्त हुई। रैली के साथ ब्लाॅक शिक्षा अधिकारी रामकुमार मीना, सतेन्द्र परमार, जितेन्द्र सिंह चौहान, महेश मंगल, सुमंत सिंह, दिनेश कुमार शर्मा, रशीद खां आदि मौजूद रहे।

राजाखेड़ा. राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर कस्बे के बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम हुआ। जिसमें चिकित्सा विभाग के यूसुफ चड्ढा ने सरकार का संदेश बालिकाओं को पढ़कर सुनाया। ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ महेश वर्मा ने बालिका भ्रूण हत्या रोकने की शपथ दिलाई। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ रामअवतार गोयल ने पीसीएनडीटी एक्ट की कार्यप्रणाली से जनता से परिचित कराया। इस मौके पर सुरेखा कुशवाह, रामवीर सिंह, कालीचरण मौर्य, वीरेंद्र धारीवाल, वंदना जैन, कविता जैन, ब्रजेन्द्र जादौन आदि भी उपस्थित रहे। कस्बे के आदर्श विद्या मंदिर में भी डॉटर्स आर प्रेशियस कार्यक्रम हुआ जिसमें आयुर्वेदिक चिकित्सक डॉ अमित गुप्ता ने कहा कि बेटी बचाने के लिए समाज को पुरुष प्रधान व्यवस्था का त्याग करना होगा।

सैंपऊ. स्थानीय राजकीय विद्यालय में बालिका दिवस के अवसर पर समाज एवं छात्र-छात्राओं को बेटियां अनमोल हैं के कार्यक्रम के तहत चिकित्सा विभाग से डॉ नीरज गर्ग ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ हेतु प्रेरित किया गया। उन्होंने विस्तार से बेटियों के संबलन हेतु संचालित विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी। कन्या-भ्रूण हत्या जैसे जघन्य अपराध को रोकने के लिए इससे संबंधित विभिन्न कानूनों की जानकारी प्रदान की। इस अवसर पर स्थानीय विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री शिवदत्त शर्मा ने भी बालक-बालिकाओं को बेटी अनमोल हैं और जहां नारी की पूजा होती है वहां देवता निवास करते हैं। उन्होंने छात्र-छात्राओं को कन्या भ्रूण हत्या ,बाल-विवाह जैसी सामाजिक बुराइयों के बारे में बताया। छात्राओं ने कविता एवं गीतों के माध्यम से बेटियों के महत्व को बताया। वहीं राजकीय माध्यमिक बालिका विद्यालय पचगांव धौलपुर में आयुष चिकित्सक डॉ. आकाश वर्मा द्वारा बेटियां अनमोल है महा जागरूकता अभियान मनाया गया।

सरमथुरा. विद्यालय में बेटियों को जागृत करते चिकित्सक।

X
20,215 युवाओं ने भ्रूण लिंग जांच नहीं कराने की ली शपथ
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..