• Home
  • Rajasthan News
  • Bari News
  • बाड़ी प्रधान पर भ्रष्टाचार का आरोप, 16 सदस्यों ने पेश किया अविश्वास प्रस्ताव
--Advertisement--

बाड़ी प्रधान पर भ्रष्टाचार का आरोप, 16 सदस्यों ने पेश किया अविश्वास प्रस्ताव

बाड़ी पंचायत समिति में कांग्रेस प्रधान पूजा मीणा के खिलाफ पंचायत समिति के 19 में से 16 सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव...

Danik Bhaskar | Mar 06, 2018, 02:20 AM IST
बाड़ी पंचायत समिति में कांग्रेस प्रधान पूजा मीणा के खिलाफ पंचायत समिति के 19 में से 16 सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव पेश किया है। जिला परिषद सीईओ रामवतार मीणा को अविश्वास प्रस्ताव देने पहुंचे बाड़ी पंचायत समिति के सदस्यों ने प्रधान पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है।

उनका यह भी कहना है कि प्रधान पूजा मीणा पंचायत समिति में आती नहीं हैं। उनकी जगह उनके पिता शराब के नशे में पंचायत समिति में आते हैं। जहां वे नरेगा मजदूरों से भुगतान के बदले रिश्वत मांगते हैं। इनका यह भी आरोप है कि प्रधान पूजा मीणा के खिलाफ स्वच्छ भारत मिशन के तहत बनाए गए शौचालयों में भी भ्रष्टाचार का मुकदमा दर्ज हैं। पंचायत समिति सदस्यों की शिकायत पर जिला परिषद के कार्यकारी अधिकारी रामवतार मीणा ने मामले से उच्च अधिकारियों को अवगत करा दिया है, जहां से दिशा-निर्देश मिलने के बाद अगली कार्रवाई की जाएगी।


-गिर्राज सिंह मलिंगा, बाड़ी विधायक


-सुजान सिंह, बाड़ी प्रधान के चाचा

धौलपुर. जिला परिषद सीईओ को अविश्वास प्रस्ताव देते सदस्य।

इन सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव पर किए हस्ताक्षर

वार्ड-1 के हरभजन, 2 से प्रिया, 3 से भरत सिंह, 5 से महेंद्र सिंह, 6 से रीना, 7 से मीना, 9 से मलना, 10 से मनोज, 11 से सीमा, 12 से प्रीति, 13 से अंजू, 14 से नीरज कुमारी, 16 से आसनदेई, 17 से शशि गुर्जर, 18 से ऊषा और 19 से मंजू कुशवाह ने अविश्वास प्रस्ताव पर हस्ताक्षर किए हैं।

प्रधानी आई तो रिश्तों की राजनीति गड़बड़ाई, जेल भी गए

बाड़ी पंचायत समिति प्रधान पूजा मीणा को उसके ननदोई मोतीलाल मीणा के द्वारा पंचायत समिति सदस्य का चुनाव लड़ाया गया था। जिसके पीछे मोतीलाल मीणा का उद्देश्य सलहज पूजा मीणा को आगे करके खुद बाड़ी पंचायत समिति की प्रधानी करना था। योजनानुसार मोतीलाल मीणा का दांव सही बैठा और बाड़ी विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा के द्वारा मोतीलाल मीणा की सलहज पूजा मीणा को कांग्रेस पार्टी से बाड़ी का प्रधान बना दिया गया। प्रधानी के दौरान ही मोतीलाल मीणा और प्रधान पूजा मीणा के पीहर पक्ष के लोगों से अनबन होनी शुरू हो गई। दोनों पक्षों में हनुमान इतनी बढ़ गई कि प्रधान पूजा मीणा के द्वारा अपने पिता चाचा और परिजनों के खिलाफ प्रधानी नहीं करने देने और ससुराल में नहीं रहने देना के आरोप लगाए और उसकी शिकायत जिला कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक को की। कुछ समय बाद प्रधान पूजा मीणा ने पति के बहनोई मोतीलाल मीणा सहित मांगरोल की पूर्व सरपंच कमल पहाड़िया एवं दो अन्य के खिलाफ पुलिस मैं खुद को बंधक बनाकर रखने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया था। मामले में मोतीलाल मीणा गिरफ्तारी होने के बाद जेल भेज दिया गया था। करीब 2 माह पूर्व ही इस मामले में मोतीलाल मीणा को कोर्ट से जमानत मिली है। तबसे मोतीलाल मीणा और उनके समर्थक बाड़ी की प्रधान पूजा मीणा को पद से हटाने को लेकर फिर से जोड़तोड करने में सक्रिय हो गए थे।