--Advertisement--

नसबंदी के बाद दर्द से कहराती रही महिला, मौत

कंचनपुर थाना क्षेत्र के फोदपुरा गांव की एक 25 वर्षीय विवाहिता की स्वास्थ्य एवं चिकित्सा विभाग द्वारा चलाए जा रहे...

Danik Bhaskar | Feb 11, 2018, 02:25 AM IST
कंचनपुर थाना क्षेत्र के फोदपुरा गांव की एक 25 वर्षीय विवाहिता की स्वास्थ्य एवं चिकित्सा विभाग द्वारा चलाए जा रहे परिवार कल्याण कार्यक्रम के तहत नसबंदी ऑपरेशन बिगड़ने पर मौत होने का मामला सामने आया है।

घटना को लेकर मृतक महिला के पति रामलखन ने कंचनपुर थाने में स्वास्थ्य एवं चिकित्सा विभाग के लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ तहरीर दी है। जिसको लेकर कंचनपुर पुलिस ने मृतक महिला हरिकेश का बाड़ी सामान्य चिकित्सालय में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया है और शव परिजनों को सौंप मामले की जांच शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार कंचनपुर थाना क्षेत्र के फोदपुरा गांव निवासी 25 वर्षीय विवाहिता हरिकेश प|ी रामलखन ने 8 फरवरी को कंचनपुर थाना क्षेत्र के अब्दलुपुर गांव स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर लगने वाले नसबंदी शिविर में परिवार नियोजन कार्यक्रम के तहत महिला नसबंदी कराई थी। जहां से लौटने पर महिला रातभर तो नशे के इंजेक्शन के चलते बेहोश रही, लेकिन दूसरे दिन 9 फरवरी को उसके दर्द होना शुरू हो गया। जिसको लेकर घर आए पति रामलखन ने जब पीएचसी पर फोन कर महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता चंद्रकांता को जानकारी दी तो उन्होंने बिना आए ही पूरे मामले में लापरवाही बरतते हुए ऑपरेशन के बाद थोड़ा दर्द होने और बाद में अपने आप ठीक हो जाने की बात कह फोन काट दिया। इसके बाद महिला की तबियत बिगड़ती गई। शुक्रवार देर रात्रि को जब उसकी तबीयत ज्यादा बिगड़ी तो पति रामलखन अपने परिजनों के साथ उसे धौलपुर उपचार के लिए लेकर गया।

जहां जिला चिकित्सालय पहुंचने से पूर्व ही महिला की मौत हो गई। चिकित्सकों द्वारा महिला को मृत घोषित किए जाने पर पति रामलखन ने कंचनपुर थाने में लापरवाह स्वास्थ्य कार्यकर्ता एवं अब्दलपुर पीएचसी पर नसबंदी करने आई टीम के खिलाफ कंचनपुर थाने में तहरीर दी। जिसके बाद पुलिस ने मृतक महिला हरिकेश के शव को बाड़ी सामान्य चिकित्सालय पहुंचाया और महिला के पति रामलखन की शिकायत पर मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया है। पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों को सौंपे जाने के बाद पुलिस घटना की जांच में जुटी है।

धौलपुर. महिला के शव का पोस्टमार्टम करवाने के बाद ले जाते परिजन।

सीएमएचओ कुछ बोलने को तैयार नहीं, कहा मुझे जानकारी नहीं, लापरवाहों के खिलाफ होगी कार्रवाई

नसबंदी ऑपरेशन के बाद हुई महिला की मौत के इस घटनाक्रम को लेकर जिले के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कुछ भी बोलने से मना कर रहे हैं। जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.राजेश मित्तल का कहना है कि अभी उन्हें मामले की कोई जानकारी नहीं है। यदि ऐसा हुआ है तो मामले की जांच कराई जाएगी और लापरवाह अधिकारी एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ता के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जांच और कार्यवाही के लिए शिकायत का इंतजार कर रहे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ मृतक महिला के दो छोटे-छोटे बच्चे घर पर बिलख रहे हैं। इस मामले में ग्रामीणों ने भी रोष जताया है।

पति बोला- दो हजार रुपए के लालच में बहला-फुसलाकर घर से लेकर आई थी कार्यकर्ता, परिजनों से पूछा तक नहीं

मृतक महिला के पति रामलखन का यह भी आरोप है कि स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने उसे केवल 2000 रुपए के लालच में बहला-फुसलाकर घर से लेकर गई थी। क्योंकि पति कहीं बाहर काम करता है। महिला ने परिजनों से मामले को लेकर रजामंदी भी नहीं ली थी कि ऑपरेशन कराए या नहीं। कुल मिलाकर जिलेभर में नसबंदी ऑपरेशन के दौरान जहां कई प्रकार की लापरवाहियों के मामले सामने आ रहे हैं। वहीं नसबंदी ऑपरेशन के दौरान हुए संक्रमण के चलते हुई महिला की मौत के मामले पर पूरे चिकित्सा विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। पुलिस का कहना है मामले की जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

कार्यकर्ता ने कहा था: ऐसे ही होता है ठीक हो जाएगा