• Hindi News
  • Rajasthan
  • Bari
  • श्रीरामकथा में मनाया शिव विवाह और राम जन्मोत्सव
--Advertisement--

श्रीरामकथा में मनाया शिव विवाह और राम जन्मोत्सव

Bari News - धौलपुर| श्री राम भक्त सेवा समिति धौलपुर द्वारा नौ दिवसीय रामकथा के तीसरे दिन व्यासपीठ का पूजन आयोजक मंडल एवं...

Dainik Bhaskar

Feb 08, 2018, 02:35 AM IST
श्रीरामकथा में मनाया शिव विवाह और राम जन्मोत्सव
धौलपुर| श्री राम भक्त सेवा समिति धौलपुर द्वारा नौ दिवसीय रामकथा के तीसरे दिन व्यासपीठ का पूजन आयोजक मंडल एवं यजमानों द्वारा किया गया। जिसमें मुख्य यजमान शिवप्रकाश शर्मा, श्रीभगवान सर्राफ संयोजक, डॉ केके अग्रवाल, रागिनी अग्रवाल, विष्णुदयाल सर्राफ, पुष्पा मंगल बाड़ी, राकेश गर्ग, लक्ष्मी गर्ग जसुपुरा वाले ने सप|ीक पूजा अर्चना एवं आरती की। मुरलीधर महाराज ने नारद जी की आज्ञा से माता पार्वती को शिव को पति रूप में पाने के लिए माता ने वर्षों तक कठोर तप किया। उधर भगवान शिव, माता सति के शरीर त्यागने के बाद शिव के मन वैराग्य का वर्णन करते हुए कहा कि जबसे जाय सति तन त्यागा जब से शिव मन हो गया वैरागा। उन्होंने कहा कि स्नेह प्रेम से होता है काम से स्नेह नहीं होता। भगवान शिव द्वारा कई वर्षों तक सती के शरीर को लेकर ब्रह्माण्ड में घूमते रहे जहां जहां सति का शरीर गिरा वह माता का शक्ति पीठ बना, माला जपने से ईश्वर की प्राप्ति नही हो सकती जब तक मन को सांसारिक आशक्ति से मुक्त नहीं करते। इसके लिए तप और त्याग होना चाहिए। भजन करने से प्रभु का भाव जाग्रत होगा। उन्होंने कहा कि शरीर संसार के लिए है, लेकिन मन हरिचरणों में हो दाम्पत्य सुखी जीवन के लिए प्रभु में लीन होकर भजन करना चाहिए। भगवान शिव ने सप्त ऋषियों को माता पार्वती की परीक्षा लेने भेजा। माता पार्वती ने कहा कि जिनको अपने गुरू महाराज के वचनों पर विश्वास नही होता।

धौलपुर. रामकथा सुनती महिलाएं।

X
श्रीरामकथा में मनाया शिव विवाह और राम जन्मोत्सव
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..