Hindi News »Rajasthan »Bari» आपदा राहत को लेकर बच्चों को किया जागरूक

आपदा राहत को लेकर बच्चों को किया जागरूक

छठी बटालियन राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के टीम कमांडर जीडी श्यामसुंदर सैनी के नेतृत्व में आए एनडीआरएफ टीम के 35 सदस्यीय...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 06, 2018, 03:40 AM IST

छठी बटालियन राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के टीम कमांडर जीडी श्यामसुंदर सैनी के नेतृत्व में आए एनडीआरएफ टीम के 35 सदस्यीय दल ने सोमवार को शहर के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में उपस्थित छात्रों और शहर के आपातकालीन समय में जीवन की रक्षा करने, लोगों के जीवन को बचाने के साथ हादसे का शिकार हुए लोगों के जीवन रक्षा को लेकर महत्वपूर्ण तकनीकों की जानकारी दी। साथ में टीम के जवानों ने खुद आपदा राहत का प्रदर्शन करके दिखाया। मामले को लेकर बच्चों ने खुद देश की रक्षा करने का शपथ ली।

स्थानीय राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में आयोजित इस जागरुकता कार्यक्रम के तहत टीम के साथ आए कमांडर जीडी श्याम सुंदर सैनी के साथ टीम के सदस्य जवानों की टीम ने आपदा राहत के कई कार्यक्रम पेश कर बच्चों को प्रेक्टिकल जानकारी दी। साथ में उन्होंने विभिन्न हादसों में प्राथमिक उपचार, सर्प दंश, बाढ़, भूकंप, साइक्लोन, हृदयाघात जैसी महत्वपूर्ण घटनाओं में जीवन रक्षा को लेकर तकनीकी जानकारी दी और प्रशिक्षण सहित डेमो करके दिखाया। टीम अधिकारियों ने बताया कि आपदा के समय कभी भी घबराना नहीं चाहिए बल्कि कुछ सोचने के बाद ऐसे कदम उठाने चाहिए, जिससे के कम से कम परेशानी हो। विशेषकर छात्र जो कि युवा हैं उनको बुजुर्ग, महिलाओं और बच्चों की मदद करने में पहल करनी चाहिए। कभी सहायता पहुंचने का इंतजार नहीं करना चाहिए, इससे कई बाद बहुत देर हो जाती है। इस कार्यक्रम के दौरान तहसीलदार पुरुषोत्तम लाल के साथ स्कूल प्राचार्य महेश कुमार, व्याख्याता पुष्पेंद्र सिंह, विनोद कुमार, राजेश शर्मा सहित शहर के लोग कार्यक्रम में मौजूद रहे।

एनडीआरएफ टीम के 35 सदस्यीय दल ने छात्र-छात्राओं के साथ शहर के लोगों काे दिखाया डेमो

फोटो कैप्शन1रू. आपदा राहत कार्यक्रम की जानकारी देते जवान और मौजूद स्कूली छात्र।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bari

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×